जानिए क्यों लगी होती है मेट्रो और रेलवे स्टेशन पर पीले रंग की उबड़-खाबड़ टाइल्स, ये होती है खास वजह

आप जब रेलवे स्टेशन या मेट्रो स्टेशन जाते हैं तो देखतें हैं कि वहां पीले रंग की उबड़ खाबड़ टाइल्स लगी होती है. ये टाइल्स स्टेशन पर सीधे और कुछ-कुछ दूरी पर गोल आकार में होती हैं.

आप से पूछा जाए कि यह क्यों लगी होती है तो ज्यादातर लोगों का जवाब होगा कि यह आपको स्टेशन पर फिसलने से रोकने के लिये हैं, लेकिन आप का यह जवाब गलत है. आप को बताते हैं कि आखिर मेट्रो और रेलवे स्टेशनों पर यह टाइल्स क्यों लगी होती है.

फिसलने से रोकने नहीं बल्कि सही दिशा दिखाने के लिए लगी होती हैं ये टाइल्स मेट्रो से लेकर रेलवे स्टेशनों पर लगी पीले रंग की यह टाइल्स फिसलने से रोकने के लिए नहीं होती है.

यह भी पढ़ें -  नागालैंड गोलीबारी: सीएम नेफियू रियो ने की राज्य से अफस्पा हटाए जाने की मांग, सेना करेगी गोलीबारी की जांच

पीले रंग की उबड़ खाबड़ गोल और लाइन वाली टाइल्स दृष्टिहीन लोगों को सही दिशा दिखाने के लिए लगी होती है. स्टेशन पर लगी उबड़ खाबड़ टाइल्स की मदद से दृष्टिहीन लोग स्टेशन पर एंट्री कर ट्रेन तक पहुंच पाते हैं.

यहां पीले रंग की लाइन वाली टाइल्स का सीधे चलने का संकेत देती हैं. जबकि इन टाइल्स में गोल वाले प्वाइंट रुकने का संकेत देते हैं. इन टाइल्स की मदद से दृष्टिहीन लोग स्टेशन से रेल और उससे बाहर निकल सकते हैं.

यह भी पढ़ें -  भुवनेश्वर: जर्मनी को मात देकर अर्जेंटीना दूसरी बार बना जूनियर हॉकी विश्व कप चैंपियन

रेलवे और मेट्रो स्टेशन पर लगी पीले रंग की उबड़ खाबड़ टाइल्स को टैक्टाइल पाथ कहा जाता है. यह टाइल्स दृष्टिहीन लोगों के अलावा रेलवे और मेट्रो इंजीनिर्यस को भी एक फायदा देती है. मेट्रो स्टेशन हो या रेलवे स्टेशन यहां पर तमाम तरह की वायर, पाइप और केबल को अंडर ग्राउंड एक से दूसरी जगह पर कनेक्ट किया जाता है.

यह भी पढ़ें -  देश में बढ़ने लगे ओमीक्रोन वेरिएंट के मामले, कुल केस हुए 21

स्टेशन पर लगने वाली इन केबल, पाइप और वायर को टैक्टाइल पाथ के नीचे से ही ले जाया जाता है. इनमें जब भी कोई समस्या आती है तो इंजीनियर्स आसानी से इन टाइल्स को हटाकर केबल, पाइप और वायर को कनेक्ट कर देते हैं. इसके बाद इन टाइल्स को फिर से लगा दिया जाता है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,155FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

पंजाब सीएम चन्नी ने भी की पाकिस्तान के साथ व्यापार खोलने की मांग

0
पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू के साथ अब मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी हाथ मिलाया है. बता दें कि सीएम चन्नी ने...

केजरीवाल का बड़ा ऐलान- “5 जनवरी को दिल्ली सरकार अंबेडकर के जीवन पर आधारित...

0
आज बाबा साहेब डॉ. भीम राव आंडेबकर की 65वीं पुण्यतिथि है. इस उपलक्ष में दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि बाबा साहेब के...

उत्तराखंड: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के जवाब में राहुल गांधी आयेंगे दून, यहाँ...

0
चुनावी रैली को संबोधित करने 4 दिसम्बर को प्रधानमंत्री मोदी के दून आने के बाद कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी 16...

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में हुई जमकर बर्फबारी, खुश नजर आए पर्यटक

0
देवभूमि यानी उत्तराखंड में आज सुबह जबरदस्त बर्फबारी होने से पहाड़ों पर पहुंचे सैलानी खुश नजर आए. इस दौरान उन्होंने बर्फबारी के बीच खूब...

नागालैंड गोलीबारी: सीएम नेफियू रियो ने की राज्य से अफस्पा हटाए जाने की मांग,...

0
कोहिमा|सोमवार को नागालैंड के मोन जिले में सेना की गोलीबारी में मारे गए लोगों के अंतिम संस्कार में शामिल होने के बाद राज्य के...

तेलंगाना आंदोलन के नेता सीएच विट्टल हुए बीजेपी में शामिल

0
तेलंगाना कर्मचारी संघ के पूर्व अध्यक्ष सीएच विट्टल अपने समर्थकों के साथ आज भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होगये. उनके साथ चंदू श्रीनिवास राव,...

टीम इंडिया ने आईसीसी टेस्‍ट रैंकिंग में लगाई बड़ी छलांग, एक...

0
सोमवर को वानखेड़े स्‍टेडियम में खत्‍म हुए टेस्‍ट सीरीज के दूसरे और आखिरी मुकाबले में न्‍यूजीलैंड पर ऐतिहासिक जीत के साथ टीम इंडिया ने...

भारत और रूस के बीच रक्षा सहयोग में खुला एक और नया चैप्टर, दोनों...

0
भारत और रूस ने अपने रक्षा सहयोग को और मजबूत करते हुए हथियार निर्माण पर सोमवार को एक बड़ी डील की. दोनों देशों के...

बड़ी कामयाबी: कोरोना जंग के बीच भारत को मिली एक और उपलब्धि, देश की...

0
देश में ओमिक्रोन के बढ़ते मामलो के बीच भारत ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है. देश की 50 फीसदी से अधिक आबादी का...

उत्तराखंड: बदरीनाथ मंदिर और आसपास की पूरी घाटी में हुई भारी बर्फबारी, देखे विडियो

0
सोमवार को बदरीनाथ मंदिर और आसपास की पूरी घाटी में भारी बर्फबारी हुई है. इससे पूरी घाटी बर्फ की सफेद चादर में लिपटी...