राष्ट्रीय प्रेस दिवस विशेष: जटिल चुनौतियों के बाद भी मिशन को पूरा करने के लिए मजबूती के साथ डटा ‘चौथा स्तंभ’

आज एक ऐसे मिशन की बात करेंगे जिसने देश की आजादी से पहले और बाद में भी लोगों में अलख जगाने में बड़ी भूमिका निभाई है. लेकिन इस मिशन की परिस्थितियां हमेशा जटिल रहीं हैं. ‌कह सकते हैं जो चुनौती पहले थी वह आज भी बनी हुई है. कहने को यह देश का ‘चौथा स्तंभ’ है.

लेकिन इस मिशन से जुड़े पत्रकारों और मीडिया कर्मियों में हमेशा से असुरक्षित की भावना महसूस की जाती है. इसका सबसे बड़ा कारण यह है केंद्र हो या राज सरकारें पत्रकारिता और पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर बातें तो बड़ी-बड़ी करती हैं लेकिन इसे अमल में लाया नहीं जाता है. इसके बावजूद इस क्षेत्र से जुड़े लोग अपनी पूरी ईमानदारी के साथ मैदान में डटे हुए हैं. आज राष्ट्रीय प्रेस दिवस है। आज हमारी चर्चा का विषय है पत्रकारिता है. देश में 16 नवंबर का दिन ‘राष्ट्रीय प्रेस दिवस’ के रूप में मनाया जाता है. पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है. भारत में प्रेस की स्वतंत्रता भारतीय संविधान के अनुच्छेद-19 में भारतीयों को दिए गए अभिव्यक्ति की आजादी के मूल अधिकार से सुनिश्चित होती है.

यह भी पढ़ें -  सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद केजरीवाल सरकार का फैसला: कल से अगले आदेश तक दिल्ली के सभी स्कूल रहेंगे बंद

राष्ट्रीय प्रेस को मनाने का मुख्य उद्देश्य प्रेस की आजादी के महत्व के प्रति जागरूकता फैलाना है. भारत में प्रेस ने आजादी की लड़ाई में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर गुलामी के दिन दूर करने का भरसक प्रयत्न किया. साथ ही ये दिन अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को बनाए रखने और उसका सम्मान करने की प्रतिबद्धता की बात करता है. प्रेस की आजादी के महत्व के लिए दुनिया को आगाह करने वाला ये दिन बताता है कि लोकतंत्र के मूल्यों की सुरक्षा और उसे बहाल करने में मीडिया अहम भूमिका निभाता है.

यह भी पढ़ें -  प्रशांत किशोर का राहुल गांधी पर कटाक्ष, कहा- कांग्रेस का नेतृत्व किसी व्यक्ति का दैवीय अधिकार नहीं

बता दें कि प्रथम प्रेस आयोग ने भारत की प्रेस की स्वतंत्रता की रक्षा करने और पत्रकारिता में उच्च आदर्श स्थापित करने के उद्देश्य से एक प्रेस परिषद की कल्पना की गई थी. भारत की 4 जुलाई, 1966 को प्रेस परिषद की स्थापना हुई, जिसने 16 नवंबर, 1966 से अपना औपचारिक कामकाज शुरू किया. तब से हर साल 16 नवंबर को राष्ट्रीय प्रैस दिवस के रूप में मनाया जाता है. आज पत्रकारिता का क्षेत्र व्यापक हो गया है. पत्रकारिता जन-जन तक सूचनात्मक, शिक्षाप्रद, मनोरंजनात्मक संदेश पहुंचाने की कला एवं विधा है. लोकतंत्र के मूल्यों की सुरक्षा और उसे बहाल करने में मीडिया अहम भूमिका निभाता है. इस कारण सरकारों को पत्रकारों की सुरक्षा भी सुनिश्चित करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें -  व्हाट्सऐप ने अक्टूबर महीने में बंद किए 20 लाख से ज्यादा भारतीय यूजर्स के अकाउंट, जानिए वजह

–शंभू नाथ गौतम

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,157FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

पन्तनगर: सीएम धामी ने किया राकेट इंडिया प्रा.लि. के विस्तार परियोजना का शुभारम्भ

0
पन्तनगर| गुरूवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने रॉकेट इण्डिया प्रा.लि. की नवीनतम विस्तार परियोजना का शुभांरभ किया. उन्होने कहा कि कम्पनी के विस्तार...

देहरादून: सीएम धामी ने किया परेड ग्राउण्ड का निरीक्षण, पीएम मोदी के कार्यक्रम की...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार सायं को भी परेड ग्राउण्ड का स्थलीय निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया. मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को...

रूद्रपुर: सीएम धामी ने किया राष्ट्रीय सरल मेले का शुभारम्भ,

0
गुरूवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने रूद्रपुर गांधी मैदान में राष्ट्रीय सरस मेला-2021 का शुभारम्भ किया. मेले में आये हुए 147 स्वयं सहायता...

Corona In Uttarakhand: बीते 24 घंटे में मिले 17 नए संक्रमित, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 17 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. नौ मरीजों को ठीक होने के बाद...

अधीर रंजन चौधरी का सवाल- क्या 4 प्रतिशत पोपुलर वोट के साथ पीएम मोदी...

0
तृणमूल कांग्रेस के यूपीए को लेकर बयान के बाद कांग्रेस और टीएमसी के बीच तकरार बढ़ने लगा है. कांग्रेस के नेताओं ने टीएमसी सुप्रीमो...

चक्रवाती तूफान जवाद के चलते रेलवे ने रद्द की 95 ट्रेनें-दखे लिस्ट

0
भुवनेश्वर| ईस्ट कोस्ट रेलवे ने ओडिशा तट पर चक्रवाती तूफान जवाद की आशंका के मद्देनजर 3 दिनों के लिए 95 ट्रेनों का...

आंवले के ये औषधीय गुण जानकर दंग रह जाएंगे आप

0
आंवला एक बहुत ही साधारण फल है, जो बाजारों में आसानी से मिल जाता है. पुराने समय से ही आंवले का कई तरह से...

नहीं रहे हिट वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ के ‘ललित’ उर्फ ब्रह्मा मिश्रा

0
मुंबई| अमेजन प्राइम वीडियो की हिट वेब सीरीज 'मिर्जापुर' में ललित का किरदार निभाने वाले एक्टर ब्रह्म मिश्रा नहीं रहे. बॉलीवुड अभिनेता दिव्येंदु ने...

प्रशांत किशोर का राहुल गांधी पर कटाक्ष, कहा- कांग्रेस का नेतृत्व किसी व्यक्ति का...

0
राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व किसी व्यक्ति का दैवीय अधिकार नहीं...

उत्तराखंड में कोरोना ने बढ़ाई टेंशन: 13,000 पुलिसकर्मियों के हुए टेस्ट, 50 पुलिसकर्मी संक्रमित

0
उत्तराखंड राज्य में कोरोना टेंशन बढ़ा रहा है. अब तक 13000 पुलिसकर्मियों के एंटीजन टेस्ट के बाद 50 पुलिसकर्मी संक्रमित पाए गए हैं. डीजीपी...