पीएम नरेंद्र मोदी ने लिए कृषि कानून वापस, बताई ये वजह-पढ़े पांच बड़े पॉइंट

शुक्रवार को पीएम मोदी राष्ट्र के नाम संदेश में बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि मैं क्षमा चाहता हूं कि तीन कृषि कानून को मैं समझा नहीं सका.

इसलिए केंद्र सरकार ने तीनों कानून को वापस लेने का फैसला लिया है. इससे पहले पीएम ने कहा कि देश के कोने-कोने में कोटि-कोटि किसानों ने, अनेक किसान संगठनों ने, इसका स्वागत किया, समर्थन किया.

मैं आज उन सभी का बहुत आभारी हूं. बरसों से ये मांग देश के किसान, देश के कृषि विशेषज्ञ, देश के किसान संगठन लगातार कर रहे थे. पहले भी कई सरकारों ने इस पर मंथन किया था.

इस बार भी संसद में चर्चा हुई, मंथन हुआ और ये कानून लाए गए. अपने पांच दशक के जीवन में किसानों की चुनौतियों को बहुत करीब से देखा है जब देश हमें 2014 में प्रधानसेवक के रूप में सेवा का अवसर दिया तो हमने कृषि विकास, किसान कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी.

यह भी पढ़ें -  नागालैंड में सुरक्षाबलों की फायरिंग में 11 आम लोगों की मौत, एक जवान भी शहीद-सीएम ने दिए जांच के आदेश

देश के छोटे किसानों की चुनौतियों को दूर करने के लिए, हमने बीज, बीमा, बाजार और बचत, इन सभी पर चौतरफा काम किया.

सरकार ने अच्छी क्वालिटी के बीज के साथ ही किसानों को नीम कोटेड यूरिया, सॉयल हेल्थ कार्ड, माइक्रो इरिगेशन जैसी सुविधाओं से भी जोड़ा. किसानों को उनकी मेहनत के बदले उपज की सही कीमत मिले, इसके लिए भी अनेक कदम उठाए गए.

हमारी सरकार किसानों के कल्याण के लिए देश के कृषि जगत के हित में पूरी सत्यनिष्ठा से, नेक नीयत से ये कानून लेकर आई थी. हम अपने प्रयासों के बावजूद कुछ किसानों को समझा नहीं पाए. भले ही किसान का एक वर्ग ही विरोध कर रहा था. यह हमारा लिए महत्वपूर्ण था.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: बदरीनाथ मंदिर और आसपास की पूरी घाटी में हुई भारी बर्फबारी, देखे विडियो

पढ़े पीएम मोदी के संबोधन की पांच बड़ी बातें-

1.किसानों को समझाने का प्रयास किया गया. खुले मन से हम उन्हें समझाते रहे. उनसे बातचीत लगातार होती रही. हमने किसानों की बातों को समझने की पूरी कोशिश की. कानून के जिन प्रावधानों पर उन्हें ऐतराज था सरकार उन्हें बदलन के लिए भी तैयार हो गई.

2.पीएम ने कहा कि यह मामला सुप्रीम कोर्ट के पास भी चला गया. मैं आज देशवासियों से क्षमा मांगते हुए सच्चे मन से यह कहना चाहूंगा कि शायद हमारी तपस्या में कमी रही होगी कि हम किसान भाइयों को समझा नहीं पाए. आज प्रकाश पर्व है, यह समय किसी को दोष देने का नहीं है. मैं यह बताने आया हूं कि हमने तीन कृषि कानूनों को वापस लेने का निर्णय लिया है.

यह भी पढ़ें -  दोनों देशों में होगी बड़ी डील: रूसी राष्ट्रपति पुतिन की आज भारत में कुछ घंटे की यात्रा को लेकर ही चीन-अमेरिका-पाक बौखलाया

3.किसानों की स्थिति सुधारने के लिए हमारी सरकार पूरी ईमानदारी के साथ काम कर रही है. तीन कृषि कानून लाए गए थे. मकसद देश के छोटे किसानों को सहूलियत देने के लिए इसे लाया गया. वर्षों से किसान, कृषि विशेषज्ञ, किसान संगठन इसकी मांग कर रहे थे. पहले की सरकारों ने इस बारे में प्रयास किया.

4.पीएम ने कहा-अपने पांच दशक के जीवन में किसानों की चुनौतियों को बहुत करीब से देखा है जब देश हमें 2014 में प्रधानसेवक के रूप में सेवा का अवसर दिया तो हमने कृषि विकास, किसान कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी.

5.आज देव दीपावली का पावन पर्व है. आज प्रकाश पर्व भी है. मैं देशवासियों को इसकी बधाई देता हूं. डेढ़ साल के बात करतारपुर साहिब कॉरिडोर फिर से खुल गया है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,155FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

पंजाब सीएम चन्नी ने भी की पाकिस्तान के साथ व्यापार खोलने की मांग

0
पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू के साथ अब मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी हाथ मिलाया है. बता दें कि सीएम चन्नी ने...

केजरीवाल का बड़ा ऐलान- “5 जनवरी को दिल्ली सरकार अंबेडकर के जीवन पर आधारित...

0
आज बाबा साहेब डॉ. भीम राव आंडेबकर की 65वीं पुण्यतिथि है. इस उपलक्ष में दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि बाबा साहेब के...

उत्तराखंड: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के जवाब में राहुल गांधी आयेंगे दून, यहाँ...

0
चुनावी रैली को संबोधित करने 4 दिसम्बर को प्रधानमंत्री मोदी के दून आने के बाद कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी 16...

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में हुई जमकर बर्फबारी, खुश नजर आए पर्यटक

0
देवभूमि यानी उत्तराखंड में आज सुबह जबरदस्त बर्फबारी होने से पहाड़ों पर पहुंचे सैलानी खुश नजर आए. इस दौरान उन्होंने बर्फबारी के बीच खूब...

नागालैंड गोलीबारी: सीएम नेफियू रियो ने की राज्य से अफस्पा हटाए जाने की मांग,...

0
कोहिमा|सोमवार को नागालैंड के मोन जिले में सेना की गोलीबारी में मारे गए लोगों के अंतिम संस्कार में शामिल होने के बाद राज्य के...

तेलंगाना आंदोलन के नेता सीएच विट्टल हुए बीजेपी में शामिल

0
तेलंगाना कर्मचारी संघ के पूर्व अध्यक्ष सीएच विट्टल अपने समर्थकों के साथ आज भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होगये. उनके साथ चंदू श्रीनिवास राव,...

टीम इंडिया ने आईसीसी टेस्‍ट रैंकिंग में लगाई बड़ी छलांग, एक...

0
सोमवर को वानखेड़े स्‍टेडियम में खत्‍म हुए टेस्‍ट सीरीज के दूसरे और आखिरी मुकाबले में न्‍यूजीलैंड पर ऐतिहासिक जीत के साथ टीम इंडिया ने...

भारत और रूस के बीच रक्षा सहयोग में खुला एक और नया चैप्टर, दोनों...

0
भारत और रूस ने अपने रक्षा सहयोग को और मजबूत करते हुए हथियार निर्माण पर सोमवार को एक बड़ी डील की. दोनों देशों के...

बड़ी कामयाबी: कोरोना जंग के बीच भारत को मिली एक और उपलब्धि, देश की...

0
देश में ओमिक्रोन के बढ़ते मामलो के बीच भारत ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है. देश की 50 फीसदी से अधिक आबादी का...

उत्तराखंड: बदरीनाथ मंदिर और आसपास की पूरी घाटी में हुई भारी बर्फबारी, देखे विडियो

0
सोमवार को बदरीनाथ मंदिर और आसपास की पूरी घाटी में भारी बर्फबारी हुई है. इससे पूरी घाटी बर्फ की सफेद चादर में लिपटी...