इस मंदिर में झूला झूलती हैं देवी दुर्गा, मां की रखवाली में पहरा देते हैं शेर

झुला देवी मंदिर रानीखेत शहर से 7 कि.मी. की दुरी पर स्थित एक लोकप्रिय पवित्र एवम् धार्मिक मंदिर है. यह मंदिर माँ दुर्गा को समर्पित है एवम् इस मंदिर को झुला देवी के रूप में नामित किया गया है. स्थानीय लोगों के अनुसार यह मंदिर 700 वर्ष पुराना है.

रानीखेत में स्थित झूला देवी मंदिर पहाड़ी स्टेशन पर एक आकर्षण का स्थान है. यह भारत के उत्तराखंड राज्य में अल्मोड़ा जिले के चौबटिया गार्डन के निकट रानीखेत से 7 किमी की दूरी पर स्थित है. वर्तमान मंदिर परिसर 1935 में बनाया गया है.

झूला देवी मंदिर के समीप ही भगवान राम को समर्पित मंदिर भी है. झूला देवी मंदिर को झुला देवी मंदिर और घंटियों वाला मंदिर के रूप में भी जाना जाता है.

हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार इस मंदिर का निर्माण क्षेत्र में रहने वाले जंगली जानवरों द्वारा उत्पीड़न से मुक्त कराने के लिए मां दुर्गा की कृपा बनाये रखने के उद्देश्य से किया गया था. मंदिर परिसर में झुला स्थापित होने के कारण देवी को “झूला देवी” नाम से पूजा जाता है.

मां के झूला झूलने के बारे में एक और कथा प्रचलित है. माना जाता है कि एक बार श्रावण मास में माता ने किसी व्यक्ति को स्वप्न में दर्शन देकर झूला झूलने की इच्छा जताई.

यह भी पढ़ें -  आंवले के ये औषधीय गुण जानकर दंग रह जाएंगे आप

ग्रामीणों ने मां के लिए एक झूला तैयार कर उसमें प्रतिमा स्थापित कर दी. उसी दिन से यहां देवी मां “झूला देवी” के नाम से पूजी जाने लगी.

यह कहा जाता है कि मंदिर लगभग 700 वर्ष पुराना है. चैबटिया क्षेत्र जंगली जानवर से भरा घना जंगल था. “तेंदुओं और बाघ” आसपास के लोगों पर हमला करते थे और उनके पालतू पशुओं को ले जाते थे.

लोगों को “तेंदुओं और बाघ” से डर लग रहता था और खतरनाक जंगली जानवर से सुरक्षा के लिए आसपास के लोग ‘माता दुर्गा’ से प्रार्थना करते थे.

यह भी पढ़ें -  Covid 19: भारत में पिछले 24 घंटों में 9,765 नए मामले दर्ज, 477 मरीजो की मौत

ऐसा कहा जाता है कि ‘देवी’ ने एक दिन चरवाहा को सपने में दर्शन दिए और चरवाहा से कहा कि वह एक विशेष स्थान खोदे क्योंकि देवी उस स्थान पर अपने लिए एक मंदिर बनवाना चाहती थी. जैसे ही चरवाहा ने गड्ढा खोद दिया तो चरवाहा को उस गड्ढे से देवी की मूर्ति मिली.

इसके बाद ग्रामीणों ने उस जगह पर एक मंदिर का निर्माण किया और देवी की मूर्ति को स्थापित किया और इस तरह ग्रामीणों को जंगल जानवरों द्वारा उत्पीड़न से मुक्त कर दिया गया और मंदिर की स्थापना के कारण चरवाहा अपने पशुओ को घास चरने के लिए छोड़ जाते थे.

मंदिर परिसर के चारों ओर लटकी हुई अनगिनत घंटियां ‘मा झुला देवी’ की दिव्य व दुख खत्म करने वाली शक्तियो को दर्शाती है.

यह भी पढ़ें -  IND vs NZ 2nd Test: टीम इंडिया की पारी शुरू, मयंक-गिल क्रीज पर

मंदिर में विराजित झूला देवी के बारे में यह माना जाता है कि झूला देवी अपने भक्तों की इच्छाओं को पूरा करती हैं और इच्छाओं को पूरा करने के बाद भक्त यहाँ तांबे की घंटी भेटस्वरुप चढाने आते हैं , घंटियों की मधुर ध्वनि से हर किसी का मन आनंदित हो उठता है.

श्रद्धालुओं का मानना है कि मंदिर में प्रार्थना करने वाले लोगों की मनोकामनाएं मां झूला देवी पूर्ण करती हैं। यहां जाने पर आपको राम मंदिर जाने का मौका भी मिलता है, जो पास में ही स्थित है. यहां झूला देवी मंदिर में नियमित रूप से श्रद्धालुओं का आवागमन लगा रहता है.

मंदिर के प्रति हिंदूओ का अत्यधिक विश्वास है , झुला देवी मंदिर उत्तराखंड में यात्रा के लिए एक लोकप्रिय स्थान है.


Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,158FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

IND vs NZ 2nd Test: टीम इंडिया की पारी शुरू, मयंक-गिल क्रीज पर

0
भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आज दूसरा और आखिरी मुकाबला है. इस सीरीज का पहला मैच ड्रॉ होने के...

फटाफट समाचार (3-12-2021) सुनिए अब तक की ख़ास खबरें

0
देश में 'ओमिक्रोन' की दस्तक से बढे कोरोना के मामले, बीते 24 घंटो में सामने आये 9,216 नए केस उत्तराखंड राज्य में गुरुवार...

उत्तराखंड में बदला मौसम का मिज़ाज, पहाड़ों में बर्फबारी -मैदानों में रिमझिम बारिश

0
देहरादून| उत्तराखंड में मौसम का मिज़ाज बदल गया है. पहाड़ी इलाकों में बर्फीली हवाएं शुरू हो गई हैं. मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक पहाड़ी...

उत्तराखंड: देहरादून में पीएम मोदी की रैली को लेकर चार दिसंबर को बदले रहेंगे...

0
कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उत्तराखंड दौरा है. देहरादून के परेड ग्राउंड में मोदी रैली में हिस्सा लेंगे. इसको देखते हुए पुलिस ने रूट...

नए साल 2022 से एटीएम से कैश निकालना पड़ेगा महंगा, जानिए डिटेल्स

0
अगले महीने यानी साल 2022 से एटीएम से कैश निकालना महंगा पड़ेगा. जी हां..अब कैश निकालना और महंगा होने वाला है. ग्राहक...

दिल्ली में प्रदूषण: सुनवाई से पहले केंद्र सरकार ने सुप्रीमकोर्ट में दाखिल किया हलफनामा

0
दिल्ली में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के तेवर सख्त हैं. कागजी समाधानों से प्रदूषण कम न होता देख कोर्ट अपनी नाराजगी जता चुका...

Covid19: देश में ‘ओमिक्रोन’ की दस्तक से बढे कोरोना के मामले, जानें ताजा स्थिति

0
कोरोना के नए वेरिएंट 'ओमिक्रोन' को लेकर देश में दहशत का माहौल पैदा हो गया है तो वहीं देश में पिछले 24 घंटों में...

गैस त्रासदी के 37 साल: भोपाल की जहरीली रात, हवा में ऐसा जहर फैला...

0
आज से 37 साल पहले देश में ऐसी त्रासदी हुई थी जिसने भारत समेत पूरी दुनिया को झकझोर कर दिया था. इस घटना में...

राशिफल 03-12-2021: आज कर्क राशि की वाहन खरीदारी सम्भव, जानें अन्य का हाल

0
मेष- आज के दिन जीवनसाथी का सानिध्य मिलेगा. रोजी-रोजगार में आप तरक्की करेंगे. स्वास्थ एवं प्रेम की स्थिति ठीक रहेगी. वृष- आज के दिन...

3 दिसम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 3 दिसम्बर को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का मुहूर्त...