उत्तरायणी: ‘काले कौआ काले, घुघुती माला खाले’ को लेकर ये कहानी सुनी है आपने?

मकर संक्रांति के मौके पर 14 जनवरी से शुरू होने वाला बागेश्वर का मशहूर उत्तरायणी मेला सांस्कृतिक के साथ-साथ ऐतिहासिक धरोहर के रूप में भी मशहूर है. यहां के उत्तरायणी मेले को लेकर एक खास कथा भी प्रचलित है.

उत्तराखंड में काफी लंबे समय तक चंदवंशी राजाओं का राज रहा. चंदवंशी राजा कल्याण सिंह की कोई संतान नहीं थी. उन्हें बताया गया कि बागनाथ के दरबार में मन्‍नत मांगने से उन्हें निश्चित ही संतान की प्राप्त होगी. राजा ने ऐसा ही किया और फिर उन्हें पुत्ररत्न की प्राप्ति हुई, उन्होंने अपने बेटे का नाम निर्भय चन्द्र रखा गया.

पुत्र प्राप्ति से बहुत प्रसन्न रानी ने बच्चे को बहुमूल्य मोती की माला पहनाई. माला पहनकर बेटा बेहद प्रसन्न रहता था. एक बार जब बालक जिद करने लगा तो रानी ने उसे डराने के लिए उसकी माला कौवे को देने की धमकी दे दी. अब बच्चा एक और जिद करने लगा कि कौवे को बुलाओ. रानी ने बच्चे को मनाने के लिए कौवे को बुलाना शुरू कर दिया.

राजा का बेटा होने के नाते बच्चा तरह-तरह के पकवान और मिठाइयों का भरपूर लुत्फ लेता था. पकवान और मिठाइयां खाने के बाद बचा-खुचा खाना कौओं को भी मिल जाता था. इसलिए कौवे बालक के इर्द-गिर्द घूमते रहते थे और इस तरह राजा के बेटे की कौओं से दोस्ती हो गई.

राजा का एक मंत्री था, जिसका नाम घुघुती था. राजा के नि:संतान होने के कारण घुघती राजा के बाद राज्य का स्वामित्व पाने के सपने देखा करता था, लेकिन निर्भय चन्द्र के कारण उसकी इच्छा फलीभूत न हो सकी. इसी कारण वह निर्भय चन्द्र की हत्या की साजिशें रचने लगा और एक बार बालक को चुपचाप से घने जंगल में ले गया.

कौओं ने जब आंगन में अपने दोस्त राजा के बेटे को नहीं देखा तो आकाश में उड़कर इधर-उधर उसे ढूंढ़ने लगे. अचानक उनकी नजर मंत्री पर पड़ी, जो बालक की हत्या की तैयारी कर रहा था. कौओं ने कांव-कांव का शोर करके बालक के गले की माला अपनी चोंच में उठाकर राजमहल के प्रांगण में डाल दी. बच्चे की टूटी माला देखकर सब आशंकित हो गए तो मंत्री को बुलाया गया, लेकिन मंत्री कहीं नहीं मिला.

राजा को किसी तरह साजिश की भनक लग गई और उन्होंने कौओं के पीछे-पीछे सैनिक भेज दिए. वहां जाकर उन्होंने देखा कि हजारों कौओं ने मंत्री घुघुती को चोंच मार-मारकर बुरी तरह घायल कर दिया था और बच्चा कौओं के साथ खेलने में मगन था. निर्भय चंद्र और मंत्री को लेकर सैनिक लौट आए.

उत्तरायणी मेला बागेश्वर
सारे कौवे भी आकर राजदरबार की मीनार पर बैठ गए. मंत्री को मौत की सजा सुनाई गई और उसके शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर कौओं को खिला दिए गए. लेकिन जब इससे कौवों का पेट नहीं भरा तो निर्भय चंद्र की प्राण रक्षा के उपहारस्वरूप विभिन्‍न प्रकार के पकवान बनाकर उन्हें खिलाए गए.

इस घटना से ही हर साल घुघुती माला बनाकर कौओं को खिलाने की परम्परा शुरू हुई. यह संयोग ही था कि उस दिन मकर संक्रांति थी, इसीलिए उत्तरायणी मेले का मकर संक्रांति के दिन शुरू होने का खासा महत्त्व है.

मान्‍यता के अनुसार, संक्रांति की सुबह जल्दी उठकर बच्चों को तिलक लगाकर, उनके गले में घुघुती की माला पहनाकर ‘काले कौआ काले, घुघती माला खाले’ कहने के लिए छत-आंगन या घर के दरवाजे पर खड़ा कर दिया जाता है. यह त्योहार बच्चों का ही त्योहार माना जाता है.

बच्चे इस दिन बहुत खुश रहते हैं. अपनी माला में गछे, गेहूं के आटे में गुड़ मिलाकर घी या तेल में पके खजूरों को घुघुती का प्रतीक मानकर चिल्ला-चिल्ला कर गाते हैं – ‘काले कौआ काले, घुघुती माला खाले.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,184FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

Covid19: देश भर में कोरोना के 2.35 लाख नए मामले-871 लोगों की मौत

0
पिछले 24 घंटे के दौरान देश भर से कोरोना के 2.35 लाख नए केस आए हैं. जबकि इस दौरान 871 लोगों की मौत हुई....

उत्तराखंड के 18 दलबदलू, बीजेपी, कांग्रेस-आप कहीं न कहीं से मिल ही गया टिकट

0
विधायक बनने के लिए दल बदलना आम बात हो गई है. उत्तराखंड चुनाव के माहौल में अब तक 18 नेता ऐसे हैं, जिन्होंने दूसरी...

राशिफल 29-01-2022: आज इस राशि को मिलेगा शुभ समाचार

0
मेष- आज आप अपने मन मुताबिक काम करेंगे. घर या परिवार में कोई शुभ कार्य हो सकता है. चतुर आर्थिक योजनाओं में आज फंसने...

29 जनवरी 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 29 जनवरी 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

खूब हुई सराहना: दुर्घटना के बाद खेत में पड़े एयरक्राफ्ट को बिहार के लोगों...

0
शुक्रवार दोपहर को बिहार के गया में एक ऐसी घटना हुई जिसे देखकर सोशल मीडिया पर लोग लोगों ने बिहारियों की खूब सराहना की....

उत्तराखंड एपीओ भर्ती परीक्षा का प्रारंभिक रिजल्ट घोषित, सूची में देखें अपना नंबर

0
देहरादून। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा 21 नवंबर 2021 को आयोजित उत्तराखंड सहायक अभियोजन अधिकारी परीक्षा 2021 के प्रारंभिक परीक्षा के आधार पर निम्नलिखित...

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए भाजपा के स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी,...

0
देहरादून| उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के लिए भाजपा ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी कर दी है, सूची में सबसे ऊपर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी...

Covid19: उत्तराखंड में मिले 2813 नए मरीज, सात की मौत-एक्टिव केस 30 हजार के...

0
उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2813 नए मामले सामने आए हैं, जबकि सात कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई. दूसरी ओर,...

उत्तराखंड ब्रेकिंग: भाजपा ने की 2 प्रत्याशियों की औपचारिक घोषणा, इनको मिला टिकट

0
देहरादून। उत्तराखंड भाजपा ने अपने दो प्रत्याशियों की घोषणा औपचारिक रूप से कर दी है, भारतीय जनता पार्टी ने डोईवाला विधानसभा से बृज भूषण...

यूपी चुनाव के लिए भाजपा ने अपने 91 प्रत्याशियों की तीसरी लिस्ट की जारी,...

0
यूपी विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार दोपहर अपनी तीसरी लिस्ट भी जारी कर दी है. इस लिस्ट में पार्टी ने...
%d bloggers like this: