जानिए भवाली का ताजमहल कहे जाने वाले लल्ली मंदिर का इतिहास

नैनीताल के भवाली में स्थित है एक मंदिर, जो राजपूत राजघराने की धरोहर है. इसे लल्ली मंदिर कहा जाता है. यह बीकानेर के राठौर वंश के राजघराने की राजकुमारी चांद कुंवर उर्फ लल्ली की याद में बनाया गया था, जिनकी मृत्यु महज 16 साल की उम्र में हो गई थी. यह इमारत भवाली के ताजमहल के नाम से भी जानी जाती है.

लल्ली कबर, लल्ली मंदिर, लल्ली छतरी नाम से जाने वाली भवाली की यह धारोहर असल में बीकानेर के राठौर वंश के राजघराने की महाराजकुमारी श्री चन्दकंवरजी बैसा साहिब (पुत्री राणावतीजी महारानी) की याद में बनाई गयी है, जिनका जन्म 1 जुलाई 1899 को जूनागढ़ बीकानेर में हुआ और मृत्यु मात्र सोलह वर्ष की आयु में भवाली सेनेटोरियम में 31 जुलाई 1915 को हुई. यह स्मारक असल में सोलह वर्षीय महाराजकुमारी (लल्ली) की समाधि है. महाराजकुमारी लल्ली जनरल हिज हाईनेस राज राजेश्वर महाराजाधिराज नरेन्द्र महाराजाशिरोमणि सर गंगा सिंह बहादुर, महाराजा ऑफ बीकानेर की पुत्री थी.

यह भी पढ़ें -  Covid19: देश में मिले कोरोना के 2323 नए सक्रमित, देखें कोरोना के नए केसों के मामले में टॉप-5 राज्यों की लिस्ट
भवालीवासियों की प्यारी लल्ली उर्फ राजकुमारी चन्दकंवर बैसा. फोटो- इन्डियन राजपूत वेबसाइट से साभार

महाराजा गंगा सिंह जी की लल्ली की माताजी राणावतीजी महारानी के अलावा दो और शादियाँ थी. लल्ली की माँ महारानी राणावतीजीश्री वल्लभ कुंवरजी साहिब प्रतापगढ़ के महाराजा सर रघुनाथ सिंह बहादुर की बेटी थी. महाराजा गंगा सिंह जी की दूसरी शादी तंवरजी महारानी साहिब बीकानेर राज्य के संवतसर के ठाकुर श्री सुल्तान सिंह की बेटी और तीसरी शादी भटियांजी महारानीश्री अजब कंवरजी साहिब, मारवाड़ के बीकमकोर के ठाकुर श्री बहादुर सिंह की पुत्री से हुई थी.

क्षेत्रीय लोगों में मान्यता थी कि मंदिर का कलश सोने का बना हुआ है. इसी भ्रम के चलते एक बार चोरों नें कलश को काटकर चुरा लिया था. बाद में पुन: एक नया कलश बनाकर इसके उपर स्थापित किया गया. इस स्थान की चौकीदारी शूरसिंह माली नामक एक व्यक्ति किया करते थे जिनका हमारे आमा बूबू से मिलना-जुलना लगा रहता था.

यह भी पढ़ें -  PNB Scam: भगोड़े मेहुल चोकसी पर डोमिनिका सरकार मेहरबान, गैरकानूनी तरीके से प्रवेश का मामला लिया वापस

वो रानीखेत के पास कफड़ा से ताल्लुक रखते थे और उनकी चार पुत्रियाँ और एक पुत्र हुआ करते थे. उनकी पत्नि को हम आमा कहते थे और उनकी आज्ञा लेकर परिसर में यदा-कदा घुस जाया करते थे. उस समय राजघराने से परिसर के रखरखाव के लिये पैसा आया करता था. शूरसिंह माली जी की मृत्यु व राजघराने की उदासीनता के बाद यह परिसर अतिक्रमण का शिकार हो गया.

यह भी पढ़ें -  22 मई 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

भवाली का यह ताजमहल आज भी जस का तस है परंतु यह अब फुलवारियों की बजाय कंक्रीट के जंगलों से घिर गया है. लल्लीमंदिर परिसर में आज अनेकाअनेक मकान बन चुके हैं. राहत की बात यह है कि लल्ली का नाम आज भी उस जगह पर गूंजता है. लल्लीमंदिर को भले ही लोग जानते हों या नहीं लल्ली मंदिर परिसर लोगों के पते में अपना स्थान बना चुका है.

यह भवाली के इतिहास में महत्त्व रखती है. यह सही मायने में भवाली का ताजमहल ही है. आज भी राजस्थान सरकार इस धरोहर के लिए पैसा देती है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,241FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

जापान की राजधानी टोक्यो पहुंचे पीएम मोदी, क्वाड शिखर सम्मेलन में होंगे शामिल

0
टोक्यो|...प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (सोमवार को) जापान की राजधानी टोक्यो पहुंचे. यहां मंगलवार को वह क्वाड शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे. जापान पहुंचने के...

चमोली: जानिए नीति घाटी और रीणी के झूला पुल का इतिहास

0
रैणी गाँव गौरा देवी और चिपको आंदोलन के पहले से ही एक समृद्ध प्रदेश के रुप में जाना जाता था. रैणी गाँव के ऊपर...

राशिफल 23-05-2022: जानें अपनी राशि के अनुसार आज के दिन का हाल

0
मेष-: आज का दिन शुभ साबित होगा. आप अपने लक्ष्यों को पूरा करने में सफल रहेंगे. पदोन्नति के प्रबल आसार दिखाई दे रहे हैं.वृष-:...

23 मई 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 23 मई 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल पिता के साथ बाबा केदारनाथ-बद्रीनाथ धाम पहुंचीं

0
भारतीय बैडमिंटन की प्रसिद्ध खिलाड़ी साइना नेहवाल ने रविवार को पिता हरवीर सिंह नेहवाल के साथ बाबा केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम पहुंचकर पूजा-अर्चना की....

एप्पल के लिए भारत, वियतनाम भविष्य के संभावित उत्पादन केंद्र : रिपोर्ट

0
सैन फ्रांसिस्को|..... टेक के मामले में दिग्गज कंपनी एप्पल ने कथित तौर पर कहा है कि वह चीन के बाहर विनिर्माण का विस्तार करना...

वरुण धवन, कियारा आडवाणी की फिल्म जुग जुग जियो का ट्रेलर रिलीज

0
वरुण धवन, कियारा आडवाणी, अनिल कपूर और नीतू कपूर की फिल्म जुग-जुग जियो का ट्रेलर रिलीज हो गया है. जुग-जुग जियो एक फैमिली ड्रामा...

Ind Vs SA-T20: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टीम इंडिया का ऐलान, किसे मिला और...

0
आईपीएल 2022 समाप्त होने के बाद अगले मीहने से भारतीय खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय मंच पर अपना दमखम दिखाते हुए नजर आएंगे. टीम इंडिया और दक्षिण...

टीएमसी में हुई भाजपा सांसद अर्जुन सिंह की वापसी

0
भाजपा के लोकसभा सांसद अर्जुन सिंह कोलकाता में पार्टी महासचिव अभिषेक बनर्जी की मौजूदगी में तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. 2019 लोकसभा...

सीएम धामी ने किया पूर्व डीजीपी अनिल रतूड़ी द्वारा लिखित उपन्यास ‘भंवर एक प्रेम...

0
सीएम धामी ने शनिवार को सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी सभागार में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखंड के पूर्व पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी द्वारा लिखित...
%d bloggers like this: