spot_img

स्वतंत्रता दिवस 2023: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, भारत ने चुनौतियों को अवसरों में बदला है

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 77वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर सोमवार को राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि यह दिन हम सब के लिए गौरवपूर्ण और पावन है. उन्होंने कहा, ‘चारों ओर उत्सव का वातावरण देखकर मुझे बहुत प्रसन्नता हो रही है.’

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा, ‘स्वतंत्रता दिवस हमें यह याद दिलाता है कि हम केवल एक व्यक्ति ही नहीं हैं, बल्कि हम एक ऐसे महान जन-समुदाय का हिस्सा हैं जो अपनी तरह का सबसे बड़ा और जीवंत समुदाय है. यह विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के नागरिकों का समुदाय है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘जाति, पंथ, भाषा और क्षेत्र के अलावा, हमारी अपने परिवार और कार्य-क्षेत्र से जुड़ी पहचान भी होती है. लेकिन हमारी एक पहचान ऐसी है जो इन सबसे ऊपर है, और हमारी वह पहचान है, भारत का नागरिक होना. ‘हम सभी, समान रूप से, इस महान देश के नागरिक हैं. हम सब को समान अवसर और अधिकार उपलब्ध हैं तथा हमारे कर्तव्य भी समान हैं.’

उन्होंने कहा, ‘गांधीजी तथा अन्य महानायकों ने भारत की आत्मा को फिर से जगाया और हमारी महान सभ्यता के मूल्यों का जन-जन में संचार किया. सरोजिनी नायडू, अम्मू स्वामीनाथन, रमा देवी, अरुणा आसफ़ अली और सुचेता कृपलानी जैसी अनेक महिला विभूतियों ने अपने बाद की सभी पीढ़ियों की महिलाओं के लिए आत्म-विश्वास के साथ, देश तथा समाज की सेवा करने के प्रेरक आदर्श प्रस्तुत किए हैं.’

आज महिलाएं विकास और देश सेवा के हर क्षेत्र में बढ़-चढ़कर योगदान दे रही हैं तथा राष्ट्र का गौरव बढ़ा रही हैं. आज हमारी महिलाओं ने ऐसे अनेक क्षेत्रों में अपना विशेष स्थान बना लिया है जिनमें कुछ दशकों पहले उनकी भागीदारी की कल्पना भी नहीं की जा सकती थी. मैं सभी देशवासियों से आग्रह करती हूँ कि वे महिला सशक्तीकरण को प्राथमिकता दें. मैं चाहूंगी कि हमारी बहनें और बेटियाँ साहस के साथ, हर तरह की चुनौतियों का सामना करें और जीवन में आगे बढ़ें.

भारत, पूरी दुनिया में, विकास के लक्ष्यों और मानवीय सहयोग को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. चूंकि G20 समूह दुनिया की दो-तिहाई जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करता है, इसलिए यह हमारे लिए वैश्विक प्राथमिकताओं को सही दिशा में ले जाने का एक अद्वितीय अवसर है.

देश ने चुनौतियों को अवसरों में बदला है और प्रभावशाली जीडीपी ग्रोथ भी दर्ज की है. मुश्किल दौर में भारत की अर्थव्यवस्था न केवल समर्थ सिद्ध हुई है बल्कि दूसरों के लिए आशा का स्रोत भी बनी है. वंचितों को वरीयता प्रदान करना हमारी नीतियों और कार्यों के केंद्र में रहता है. परिणामस्वरूप पिछले दशक में बड़ी संख्या में लोगों को गरीबी से बाहर निकालना संभव हो पाया है.

यह भी पढ़ें -  Asia Cup 2023 Ind Vs SL: भारत की बेटियों ने दिखाया दम, एशियन गेम्स के महिला क्रिकेट में जीता गोल्ड






Related Articles

विज्ञापन

Latest Articles

तमिलनाडु में बीजेपी को झटका! एआईएडीएमके ने किया एनडीए से गठबंधन तोड़ने का...

0
तमिलनाडु में बीजेपी को झटका लगा है. ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (AIADMK) ने सोमवार (25 सितंबर) को बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय...

एसीएस राधा रतूड़ी ने कुमाऊँ मण्डल में डेंगू निंयत्रण, अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाओं की...

0
देहरादून| एसीएस राधा रतूड़ी ने कुमाऊँ मण्डल में डेंगू निंयत्रण, अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति लेते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को महत्वपूर्ण निर्देश दिए एसीएस...

क्यों किया जाता है पितृ पक्ष में कुशा का उपयोग, क्या है इसका धार्मिक...

0
पितरों की आत्मा की शांति के लिए पितृ पक्ष में पिंडदान, तर्पण और श्राद्ध किया जाता है. पितृ पक्ष की शुरुआत 29 सितंबर 2023,...

Asia Cup 2023 Ind Vs SL: भारत की बेटियों ने दिखाया दम, एशियन गेम्स...

0
भारत ने फाइनल में श्रीलंका को हराकर एशियन गेम्स के महिला क्रिकेट का गोल्ड मेडल जीत लिया. ये पहला मौका है, जब भारतीय टीम...

एसीएस राधा रतूड़ी ने की सीएम घोषणाओं की प्रगति की समीक्षा

0
अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने लोक निर्माण विभाग को 30 नवम्बर तक सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त करने तथा शहरी विकास विभाग को शहरी...

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी ने विभागों ने रिक्त पदों का विवरण मांगा, बोले- खाली पद...

0
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी विभागों में रिक्त पदों पर यथाशीघ्र नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए हैं। सोमवार को सभी विभागों के...

उत्तराखंड: मसूरी में पाबंदी के बाद पास हुए 1042 नक्शे, सर्वे रिपोर्ट आते ही बढ़ेगी...

0
मसूरी में नोटिफाइड और अन-नोटिफाइड एस्टेट का सर्वे पूरा होने से पूर्व उन आवासीय और व्यावसायिक निर्माणों को लेकर चिंता बढ़ गई हैं जो...

उत्तराखंड: एमबीबीएस छात्र पढ़ेंगे मध्य प्रदेश की हिंदी मीडियम किताबें, इसी साल से शुरू हो...

0
उत्तराखंड में एमबीबीएस के छात्रों की हिंदी मीडियम पढ़ाई जल्द ही शुरू हो जाएगी, लेकिन छात्र एक साल तक मध्य प्रदेश में चल रहे...

उत्तराखंड: आयुष्मान क्लेम में प्रदेश का बेहतर काम,अस्पतालों को सात दिन में किया भुगतान

0
उत्तराखंड को आयुष्मान योजना में क्लेम भुगतान में बेहतर काम करने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया जाएगा।...

ओवैसी की राहुल को चुनौती, हैदराबाद से चुनाव लड़कर दिखाएं

0
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) चीफ और हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस सासंद राहुल गांधी को अपने खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ने की चुनौती...