spot_imgspot_img

सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी, कॉलेजियम सिस्टम को बेपटरी नहीं करें

कॉलेजियम सिस्टम को बेपटरी मत करिए, हम एक पारदर्शी संस्था हैं, अगर कोई शख्स किसी दूसरे के काम में बाधा डालने वाला हो तो उसके बयानों पर गौर भी नहीं करना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने अपने ही पूर्व जजों के बयान को अस्वीकृत करते हुए कहा कि जजों की नियुक्ति के लिए बनी कॉलेजियम सिस्टम पर कमेंट करना परंपरा बन चुकी है.

दो जजों की बेंच में शामिल जस्टिस एम आर शाह और जस्टिस सी टी रविकुमार ने कहा कि जो सिस्टम चल रहा है उसे बेपटरी ना करें. बता दें कि 2018 में जजों की नियुक्ति के संबंध में जो कॉलेजिम बनी थी उसके बारे में जानकारी हासिल करने के लिए अर्जी लगाई गई थी.

याचिकाकर्ता के वकील प्रशांत भूषण ने तर्क दिया कि 12 दिसंबर, 2018 को कॉलेजियम की बैठक के बारे में किसी भी विवरण का खुलासा नहीं करके सुप्रीम कोर्ट पारदर्शी नहीं था जिसमें उच्च न्यायालय के दो न्यायाधीशों को शीर्ष अदालत में पदोन्नत करने का निर्णय कथित तौर पर लिया गया था.

खंडपीठ जोरदार था कि सिफारिश लिखित रूप में निर्णय नहीं थी.कॉलेजियम किसी व्यस्त व्यक्ति की इच्छा पर काम नहीं करता यह मौखिक बात रही होगी. निर्णय को लिखित रूप में परिवर्तित नहीं किया जाना चाहिए. कॉलेजियम में बहुत सी बातों पर चर्चा की जाती है. हम सबसे पारदर्शी संस्था हैं.

कॉलेजियम प्रणाली और इसकी पारदर्शिता पर पीठ की टिप्पणी केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू की कॉलेजियम प्रणाली की लगातार भर्त्सना के बाद है, जिसे उन्होंने पिछले एक महीने में विभिन्न उदाहरणों में अपारदर्शी, संविधान से अलग और एकमात्र के रूप में वर्णित किया है.

दुनिया में ऐसी व्यवस्था है जहां जज ऐसे लोगों को नियुक्त करते हैं जिन्हें वे जानते हों.अदालत के आदेश के एक दिन बाद, सरकार ने बंबई उच्च न्यायालय में दो नए न्यायाधीशों की नियुक्ति की, लेकिन 25 नवंबर को कॉलेजियम द्वारा दोहराए गए 10 नामों सहित 19 पुरानी सिफारिशों को वापस करने के बाद ही.जस्टिस कौल की बेंच 8 दिसंबर को फिर से नामों को मंजूरी देने में सरकार की ओर से देरी से संबंधित मामले की सुनवाई करेगी.

रिजिजू की टिप्पणियों का भारत के मुख्य न्यायाधीश धनंजय वाई चंद्रचूड़ द्वारा कार्यपालिका और न्यायपालिका द्वारा संवैधानिक राजनीति के लिए अपील करके प्रतिक्रिया दी गई थी. न्यायमूर्ति संजय किशन कौल के नेतृत्व वाली पीठ ने इसे अस्वीकार कर दिया था. 28 नवंबर को एक सुनवाई के दौरान कॉलेजियम पर रिजिजू के सार्वजनिक रुख के बारे में और कहा कि केंद्र भूमि कानून का पालन करने के लिए बाध्य है और न्यायिक नियुक्तियां करने की पूरी प्रणाली को निराश नहीं कर सकता.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,250FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

राशिफल 29-01-2023: आज सूर्य देव करेंगे इनका कल्याण, पढ़ें दैनिक राशिफल

0
मेष- किसी मित्र के सहयोग से कारोबार के अवसर मिल सकते हैं. माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें. माता को स्वास्थ्य विकार हो सकते...

29 जनवरी 2023 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 29 जनवरी 2023 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

पीएम मोदी ने 75 रुपए का स्पेशल सिक्का किया जारी, जानें इसके बारे में

0
शनिवार को एनसीसी के 75 सफल वर्षों के उपलक्ष्य में पीएम मोदी ने 75 रुपए का विशेष सिक्का जारी किया है. बताया जा रहा...

एनसीसी दिवस पर बोले पीएम मोदी, भारत के युवाओं के कारण दुनिया हमारी तरफ...

0
शनिवार को पीएम मोदी करियप्पा परेड ग्राउंड में एनसीसी की वार्षिक रैली में शामिल हुए. इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहे....

बाटला हाउस एनकाउंटर मामले के आरोपी की एम्स में इलाज के दौरान...

0
बाटला हाउस एनकाउंटर मामले में दोषी ठहराए गए आरोपी की मौत की खबर सामने आई है. इंडियन मुजाहिदीन का आतंकी शहजाद अहमद की एम्स...

उत्तराखंड: धामी सरकार ने दिया था खास तोहफा, महिलायों ने जताया सीएम का आभार

0
शनिवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय स्थित मुख्य सेवक सदन में भाजपा प्रदेश महिला मोर्चा द्वारा आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग...

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने जारी की 17 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

0
त्रिपुरा में 16 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है. पार्टी ने...

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव: बीजेपी ने 48 सीटों पर जारी की अपने उम्मीदवारों की पहली...

0
त्रिपुरा में 16 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी ने 60 सीटों में से 48 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की पहली...

उत्तराखण्ड की झांकी के कलाकारों ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से राष्ट्रपति भवन में...

0
शनिवार को नई दिल्ली में उत्तराखण्ड सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग के संयुक्त निदेशक एवं झांकी के टीम लीडर के.एस. चौहान के नेतृत्व में...

टॉलीवुड एक्टर तारक रत्न को पड़ा दिल का दौरा, अस्पताल में चल रहा इलाज

0
नंदामुरी परिवार के सदस्य एक्टर तारक रत्न को दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि तारक...
%d bloggers like this: