Covid vaccination in India: Co-WIN पर रजिस्टर किए बिना नहीं लगेगी कोरोना वैक्सीन, जानें पूरा प्रॉसेस

भारत में कल से यानी 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन अभियान (Covid vaccination in India) शुरू किया जाएगा. इस अभियान के साथ ही पीएम मोदी CoWIN ऐप ( (Covid Vaccine Intelligence Work) भी लॉन्च करेंगे. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने इस ऐप से जुड़ी कई जानकारियां दी हैं.

डॉक्टर हर्षवर्धन ने घोषणा की कि कोविन ऐप का सेल्फ रजिस्ट्रेशन मॉड्यूल जल्द ही जारी किया जाएगा. साथ ही वैक्सीनेशन प्रक्रिया के लिए ऐप पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा.


ट्विटर पर जानकारी देते हुए डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि Covid-19 वैक्सीन लगवाने के लिए कोविन प्लेटफॉर्म पर रजिस्टर्ड होना अनिवार्य है. उन्होंने कहा कि QR कोड आधारित वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट सिर्फ उन्हीं लोगों को दिया जाएगा जिन्होंने कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन कराया होगा. अब सवाल उठता है कि अगर आपको कोरोना की वैक्सीन लगवानी है तो आप कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन कब और कैसे करा सकेंगे?

क्या अभी खुद कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन?

कोविन ऐप अभी फंक्शन में नहीं आया है. अगर गूगल से आपने इससे मिलता जुलता कोई ऐप डाउनलोड किया है तो यह ऐप फिलहाल काम नहीं करने वाला है. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी इसे लेकर आगाह किया है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सेल्फ रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया अभी शुरू होनी है इसलिए लोगों को धोखाधड़ी करने वाले ऐप्स से सावधान रहना चाहिए.

उन्होंने आशंका जताई कि कोविन नाम से ही कई फर्जी ऐप भी दिख सकते हैं इसलिए लोगों को इस मामले में बहुत सतर्क रहना चाहिए. मौजूदा CoWin ऐप बैक एंड सॉफ्टवेयर के तौर पर काम कर रहा है जिसे हेल्थवर्क्स के पहले चरण के वैक्सीनेशन के लिए इस्तेमाल किया जाना है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, मार्च के महीने से आम लोगों को ऐप पर रजिस्ट्रेशन की सुविधा मिलेगी.

यह भी पढ़ें -  बिहार: नीतीश सरकार के 31 नए चेहरे, देखिए कैबिनेट की पूरी लिस्ट

क्या अभी खुद कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन?

कोविन ऐप अभी फंक्शन में नहीं आया है. अगर गूगल से आपने इससे मिलता जुलता कोई ऐप डाउनलोड किया है तो यह ऐप फिलहाल काम नहीं करने वाला है. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी इसे लेकर आगाह किया है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सेल्फ रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया अभी शुरू होनी है इसलिए लोगों को धोखाधड़ी करने वाले ऐप्स से सावधान रहना चाहिए.

उन्होंने आशंका जताई कि कोविन नाम से ही कई फर्जी ऐप भी दिख सकते हैं इसलिए लोगों को इस मामले में बहुत सतर्क रहना चाहिए. मौजूदा CoWin ऐप बैक एंड सॉफ्टवेयर के तौर पर काम कर रहा है जिसे हेल्थवर्क्स के पहले चरण के वैक्सीनेशन के लिए इस्तेमाल किया जाना है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, मार्च के महीने से आम लोगों को ऐप पर रजिस्ट्रेशन की सुविधा मिलेगी.

क्या अभी खुद कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन?

कोविन ऐप अभी फंक्शन में नहीं आया है. अगर गूगल से आपने इससे मिलता जुलता कोई ऐप डाउनलोड किया है तो यह ऐप फिलहाल काम नहीं करने वाला है. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी इसे लेकर आगाह किया है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सेल्फ रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया अभी शुरू होनी है इसलिए लोगों को धोखाधड़ी करने वाले ऐप्स से सावधान रहना चाहिए.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में जन्माष्टमी की छुट्टी में हुआ बदलाव, आदेश जारी

उन्होंने आशंका जताई कि कोविन नाम से ही कई फर्जी ऐप भी दिख सकते हैं इसलिए लोगों को इस मामले में बहुत सतर्क रहना चाहिए. मौजूदा CoWin ऐप बैक एंड सॉफ्टवेयर के तौर पर काम कर रहा है जिसे हेल्थवर्क्स के पहले चरण के वैक्सीनेशन के लिए इस्तेमाल किया जाना है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, मार्च के महीने से आम लोगों को ऐप पर रजिस्ट्रेशन की सुविधा मिलेगी.

कोविन ऐप e-VIN प्लेटफॉर्म का ही एक रूप है जिसके जरिए वैक्सीन स्टॉक की वास्तविक समय की जानकारी, उसके स्टोरेज, तापमान और COVID-19 वैक्सीन लेने वालों की ट्रैकिंग की जा सकेगी. स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि इस ऐप के तहत 80 लाख लाभार्थियों का पहले से ही रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है.

फिलहाल इस ऐप के जरिए कोई भी रजिस्ट्रेशन नहीं कर सकता है, केवल अधिकारियों को ही इस ऐप का एक्सेस दिया गया है. आम लोगों के इसके तहत रजिस्टर होने के लिए चार मॉड्यूल बनाए गए हैं.
क्या हैं चार मॉड्यूल?

पहला बैक एंड मॉड्यूल है जिसके आधार पर ऐप फिलहाल काम कर रहा है. दूसरा एडमिनिस्ट्रेटर मॉड्यूल है इसके तहत बताया जाएगा कि एक समय पर कितने लोगों को वैक्सीन दी जा सकती है. इसमें एडमिन वैक्सीन का सेशन भी निर्धारित कर सकता है.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 16-08-2022: आज बजरंग बली करेंगे इन राशियों का कल्याण

रजिस्ट्रेशन मॉड्यूल के तहत कोई भी खुद के वैक्सीनेशन के लिए रजिस्टर कर सकता है. यह मॉड्यूल वैक्सीन का डेटा रिकॉर्ड मेंटेन करने के लिए है. यहां वैक्सीनेशन का डेटा वेरिफाई किया जाएगा और यह भी बताया जाएगा कि अगली खुराक कब दी जाएगी. ब्लॉक स्तर पर भी ऐसे मॉड्यूल के तहत रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है.

क्या होगी प्रक्रिया?

कोविड वैक्‍सीन लगवाने के लिए आपको एक फोटो आईडी प्रूफ के साथ ऑनलाइन रजिस्‍टर कराना होगा. सरकार वैक्‍सीन की उपलब्‍धता और प्रॉयरिटी लिस्‍ट में आपकी पोजिशन के आधार पर वैक्सीनेशन का शेड्यूल बनाएगी. इसके बाद, आपको SMS भेजकर बताया जाएगा कि आपको वैक्सीन कब और कहां लगाई जाएगी.

निर्धारित किए गए वक्त पर आपको वैक्‍सीनेशन सेंटर जाना होगा. वैक्सीनेशन सेंटर पर रजिस्ट्रेशन के वक्त दिया गया फोटो आईडी भी अपने साथ ले जाना होगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 जनवरी को दुनिया का सबसे बड़ा COVID-19 टीकाकरण अभियान का शुभारंभ करेंगे. देश भर की 3000 सेशन साइट्स इस लॉन्चिंग के दौरान वर्चुअल तरीके से जुड़ेंगी.

उद्घाटन के समय हर सेशन साइट पर लगभग 100 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. वैक्सीनेशन ड्राइव के पहले चरण में लगभग 3 करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन दी जाएगी.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

मुख्य सचिव ने की उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा

0
देहरादून| बुधवार को मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सचिवालय में उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा की....

सीएम धामी ने कोटद्वार में अग्निवीरो के भर्ती कार्यक्रम में उपस्थित होकर युवाओं का...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी एवं महिला बाल विकास मंत्री रेखा आर्य के...

उत्तराखंड में जन्माष्टमी की छुट्टी में हुआ बदलाव, आदेश जारी

0
देहरादून| उत्तराखंड में कृष्ण जन्माष्टमी की छुट्टी अब 19 अगस्त को घोषित की गई है. पहले यह छुट्टी 18 अगस्त को तय की गई...

हल्द्वानी: 38 साल बाद ‘सियाचिन हीरो’ चंद्रशेखर हरबोला पंचतत्व में विलीन, बेटियों ने दी...

0
हल्द्वानी| लांस नायक चंद्रशेखर हरबोला का अंतिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ आज रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया. शहीद लांसनायक चंद्रशेखर...

सीएम धामी ने लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर दी...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 1984 में सियाचिन में ऑपरेशन मेघदूत के दौरान शहीद हुए लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित...

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक पर 3 कमांडो बर्खास्त

0
भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक के मामले में गृह मंत्रालय ने एक्शन लेते हुए 3 कमांडो को सर्विस...

बढ़ते कोरोना के मामलों को देख डीजीसीए सख्त, एयरलाइन्स को दिए ये निर्देश

0
देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए सख्त हो गया है. डीजीसीए ने एयलाइन्स को निर्देश दिए...

क्या अब 5 साल तक के बच्चों की भी लेनी होगी ट्रेन टिकट! जानिए...

0
कई लोग ट्रेन से यात्रियों के साथ सफर करते हैं. बच्चों के साथ आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे कई सुविधाएं प्रदान करती है,...

यूपी: लखनऊ में अनोखी चोरी, कैडबरी के गोदाम में धावा बोलकर चोर 17 लाख...

0
आपने आज तक चोरी की कितनी ही खबरें और कहानियां पढ़ी और सुनी होंगी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चोरी की एक...

धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों में किया फेरबदल

0
धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों के कार्यों में फेरबदल किया है. शासन की ओर से बुधवार को इसके...
%d bloggers like this: