गांधी-शास्त्री जयंती विशेष: बापू के सिद्धांत-अहिंसा, शास्त्री जी के आदर्श और सादगी आज भी दुनिया के लिए प्रेरणास्रोत

आज की तारीख भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लिए ऐतिहासिक है. सत्य, अहिंसा, सिद्धांत, विचार, आदर्श प्रेरणा और सादगी का पूरे विश्व को संदेश और सीख देती है. आज 2 अक्टूबर है। यह तारीख राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री के जन्मदिन को लेकर याद की जाती है. इस मौके पर पूरा देश बापू और शास्त्री जी को नमन कर रहा है.

दोनों का पूरा जीवन विश्व के लिए ‘प्रेरणास्रोत’ बना हुआ है. शांति और अहिंसा के प्रबल समर्थक बापू की आज 152वीं जयंती है. वहीं अपनी सादगी से दुनिया भर में पहचान बनाने वाले लाल बहादुर शास्त्री की भी 118वीं जयंती है. दोनों ने ही अपना पूरा जीवन देश के लिए समर्पित कर दिया. महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता और बापू के नाम से भी संबोधित किया जाता है.

‘बापू हमेशा अहिंसा के रास्ते पर चले और एक लाठी के दम पर अंग्रेजों को भारत छोड़ने पर मजबूर कर दिया’. महात्मा गांधी के विचारों में सबसे ताकतवर था अहिंसा का विचार. जिसे दुनिया के कई देशों में क्रांति और विरोध का हथियार बनाया गया. बता दें कि 15 जून 2007 को संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने प्रस्ताव पारित कर 2 अक्टूबर को ‘अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस’ के तौर पर मनाने का फैसला किया. तब से लगातार गांधी जी के जन्म दिवस को अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है.

यह भी पढ़ें -  केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे उत्तराखंड, सीएम धामी से की मुलाकात

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी सहित तमाम नेताओं ने सुबह राजधानी दिल्ली स्थित राजघाट पहुंच कर महात्मा गांधी को पुष्प अर्पित कर नमन किया. महात्मा गांधी की जयंती पर प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर नमन किया. पीएम मोदी ने लिखा कि ‘देश की हर पीढ़ी को कर्तव्य पथ पर चलने के लिए बापू का जीवन और आदर्श प्रेरित करता रहेगा’. पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी उनकी जयंती पर नमन किया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी को उनकी जयंती पर शत-शत नमन, मूल्यों और सिद्धांतों पर आधारित उनका जीवन देशवासियों के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत बना रहेगा’. गांधी जी के सिद्धांतों को पूरी दुनिया ने अपनाया, उनका जीवन लोगों के लिए किसी प्रेरणा से कम नहीं है.

यह भी पढ़ें -  पात्रा चॉल मामला: संजय राउत 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में

महात्मा गांधी की 152वीं और लाल बहादुर शास्त्री की 118वीं जयंती है आज

महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री का जन्म एक ही दिन हुआ था और 2 अक्टूबर को दोनों की जयंती मनाई जाती है. राष्ट्रपिता मोहनदास करमचंद गांधी का जन्म गुजरात के पोरबंदर में 2 अक्टूबर 1869 को हुआ था. महात्मा गांधी को उनके अहिंसात्मक आंदोलन के लिए जाना जाता है और साथ ही वैश्विक तौर पर इस दिन गांधी जी के प्रति सम्मान व्यक्त करने के लिए इस दिन को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है. गांधी जी ने भारत की स्वतंत्रता के लिए अंग्रेजों के खिलाफ जीवनभर संघर्ष किया. ‘गांधी जी का मानना था कि अहिंसा एक दर्शन है, एक सिद्धांत है और एक अनुभव है, जिसके आधार पर समाज का बेहतर निर्माण करना संभव है’. महात्मा गांधी शांतिप्रिय थे और उन्होंने हमेशा अहिंसा को सबसे पहला धर्म बताया था. गांधी जी ने अंग्रेजों के खिलाफ अहिंसक आंदोलन का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया. देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में 2 अक्टूबर, 1904 को शारदा प्रसाद और रामदुलारी देवी के घर हुआ था.

यह भी पढ़ें -  CWG 2022 Badminton: डबल में भी भारत को गोल्ड

देश की आजादी में लाल बहादुर शास्त्री का खास योगदान रहा. साल 1920 में शास्त्री जी भारत की आजादी की लड़ाई में शामिल हो गए और स्वाधीनता संग्राम के जिन आंदोलनों में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही. इनमें मुख्‍य रूप से 1921 का असहयोग आंदोलन, 1930 का ‘दांडी मार्च’ और 1942 का ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ उल्लेखनीय हैं. शास्त्री ने ही देश को ‘जय जवान, जय किसान’ का नारा दिया था.

बता दें कि लाल बहादुर शास्त्री जी का 10 जनवरी 1966 को रूस के ताशकंद शहर में पाकिस्तान के साथ शांति समझौते पर ‘करार’ के दूसरे दिन 11 जनवरी को निधन हो गया था. उनकी मृत्यु को आज भी रहस्य माना जाता है. वह मरणोपरांत भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित होने वाले पहले व्यक्ति थे.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

Covid19: देश में आज फिर बढ़े कोरोना के मामले, एक्टिव केस 1.28 लाख

0
कोरोना के मामलों में मंगलवार को गिरावट देखने को मिली थी, लेकिन बुधवार को एक बार फिर से कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी...

केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे उत्तराखंड,...

0
मंगलवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में...

यूपी: आजमगढ़ से आईएसआईएस का एक संदिग्‍ध गिरफ्तार, आरएसएस नेता थे निशाने में

0
यूपी एटीएस ने आजमगढ़ से आतंकी संगठन आईएसआईएस के एक संदिग्‍ध को गिरफ्तार किया है. एटीएस का दावा है कि सबाउद्दीन आजमी राष्ट्रीय स्वयं...

राशिफल 10-08-2022: आज इन राशियों को मिलेगा भाग्योदय से लाभ

0
मेष : किसी अनजान के साथ व्यापार करना महंगा पड़ सकता है. विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं. पैसों से जुड़ा लेनदेन करने...

10 अगस्त 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 10 अगस्त 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

Bihar: 10 अगस्त को नीतीश कुमार लेंगे सीएम पद की शपथ

0
पटना| बुधवार 10 अगस्त शाम 2 बजे नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. तेजस्वी यादव होंगे डिप्टी सीएम. मंगलवार को बिहार के राज्यपाल...

यूजीसी-नेट के दूसरे चरण की परीक्षा स्थगित, अब इस दिन से होगी...

0
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) को स्थगित कर दिया गया है और अब यह 20 से 30 सितंबर के बीच...

हर घर तिरंगा’ अभियान: आईटीबीपी की महिला जवानों ने 17,000 फीट की ऊंचाई पर...

0
देश 75वें स्वतंत्रता दिवस के उपल्क्षय में आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. साथ में हर घर तिरंगा कैंपेन भी चलाया जा...

जाने-माने पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रूडी कर्टजन का सड़क दुर्घटना में निधन

0
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रूडी कर्टजन का मंगलवार को यहां के निकट रिवरडेल शहर में एक कार दुर्घटना में निधन हो गया....

बिहार संकट: नीतीश कुमार ने पेश किया नई सरकार बनाने का दावा, राज्यपाल को...

0
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात कर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. नीतीश अपनी पार्टी जेडीयू...
%d bloggers like this: