नया सफर: यात्राओं का बदलता स्वरूप, देश में पर्यटन स्थलोंं की भी सैर कराएंगी ‘भारत गौरव ट्रेनें’

समय के साथ हमारी ट्रेनों की यात्राओं का स्वरूप भी बदल रहा है. मौजूदा दौर में सुख सुविधाओं और नई डिजाइन के साथ ट्रेनें पटरियों पर दौड़ती दिखाई दे रहीं हैं. अब रेलगाड़ी यात्रियों को अपने गंतव्य स्थान पर छोड़ने के अलावा विशेष सफर पर भी चल पड़ीं हैं. ‌ऐसा सफर जो लोगों के जीवन में यादगार बन जाए. इसी को देखते हुए भारतीय रेल मंत्रालय ने एक और शानदार नई पहल की है.

अब ट्रेन देशवासियों को धार्मिक स्थानों के अलावा पर्यटन स्थलों की भी सैर कराएगी. इसी महीने 7 नवंबर से राजधानी दिल्ली से शुरू हुई ‘रामायण एक्सप्रेस’ तीर्थयत्रियों को धार्मिक स्थलों के दर्शन कराने के लिए दौड़ रही है. मंगलवार को रेल मंत्रालय ने देश के पर्यटन स्थलों पर भी लोगों को घुमाने और टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए तैयारी शुरू कर दी है. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ‘भारत गौरव’ ट्रेनों की शुरुआत करने की घोषणा की. इसके तहत देश में 180 से ज्यादा भारत गौरव ट्रेनें चलाई जाएंगीं. रेल मंत्री ने कहा कि ‘हमने भारत गौरव ट्रेनों के लिए ट्रेनों का आवंटन किया है.

ट्रेनों के ऑपरेशन के लिए आवेदन की प्रोसेस भी शुरू हो गई है. केंद्रीय रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव ने बताया कि ये ट्रेनें भारत की संस्कृति और धरोहर को दर्शाएंगी. हमने आज से उनके लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं. उन्होंने कहा कि ओडिशा, राजस्थान, कर्नाटक और तमिलनाडु जैसे राज्यों की सरकारों ने इन ट्रेनों में रुचि दिखाई है.

ये ट्रेनें टूरिस्ट को कल्चरल हेरिटेज वाली जगहों पर लेकर जाएंगीं. इस ट्रेन के चलने पर विदेश से आने वाले सैलानी भी देश के पर्यटन स्थलों पर आसानी से पहुंच सकेंगे. बता दें कि विदेशों से हर साल भारत को देखने के लिए लाखों पर्यटक आते हैं. इसके साथ देश के भी नागरिक एक राज्य से दूसरे राज्य के टूरिस्ट प्लेस आसानी से देख सकेंगे.

भारत गौरव ट्रेनों का संचालन आईआरसीटीसी और निजी क्षेत्र भी कर सकेंगे

बता दें कि भारत गौरव ट्रेन का संचालन निजी क्षेत्र और आईआरसीटीसी दोनों द्वारा किया जा सकता है और टूर ऑपरेटर द्वारा इन ट्रेनों का किराया तय किया जाएगा. खास बात ये है कि प्राइवेट प्लेयर्स भी इन ट्रेनों को लीज पर ले सकेंगे. ट्रेनों को अपनी पसंद के किसी भी सर्किट पर चला सकेंगे. ट्रेन का रूट, किराया और सर्विस की क्वालिटी भी तय कर सकेंगे. इन ट्रेनों का किराया व्यावहारिक रूप से टूर संचालक तय करेंगे लेकिन रेलवे सुनिश्चित करेगा कि भाड़े में विसंगतियां नहीं हों.

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि आप इसे रेगुलर ट्रेन सर्विसेज की तरह न देखें और ये सामान्य ट्रेन सर्विस नहीं है. भारत गौरव ट्रेनों का मुख्य उद्देश्य भारत में पर्यटन को बढ़ावा देना है और इसके कई तरह के आयाम हैं. सरकार की इस पहल से पर्यटन को प्रोत्साहन मिलेगा. फिलहाल 15 निजी कंपनियों ने गंभीर उत्सुकता दिखाई है. उन्होंने कहा कि देश में ट्रेन की यात्रा से पर्यटन की पर्याप्त संभावनाएं हैं, जिसका रेलवे दोहन करना चाहता है.

भारत गौरव ट्रेनों के भीतर व बाहर विज्ञापन लगाने की अनुमति होगी. प्रत्येक ट्रेन में गार्ड वैन के साथ कुल 14 से 20 कोच होंगे. रेल मंत्री की इस घोषणा के बाद कई निजी क्षेत्रों में भी उत्साह का माहौल बना हुआ है.

–शंभू नाथ गौतम

Related Articles

Latest Articles

पांचवे चरण के मतदान से पहले चुनाव आयोग ने जब्त किए 8889 करोड़ रुपये

0
लोकसभा चुनाव 2024 के पांचवे चरण का चुनाव में 2 दिन बचे हैं. इस बीच चुनाव आयोग इलेक्शन के दौरान वोटरों को लुभाने के...

स्वाति मालीवाल मामला: बिभव कुमार की याचिका कोर्ट से खारिज, जानें आगे क्या होगा

0
स्वाति मालीवाल मारपीट मामले में लगातार अपडेट सामने आ रहे हैं. शनिवार को इस घटनाक्रम में उस वक्त नया मोड़ आया जब दिल्ली पुलिस...

हल्द्वानी-रामनगर मार्ग पर अज्ञात वाहन और कार की जोरदार भिड़ंत, दो की मौत-तीन घायल

0
हल्द्वानी से बड़े हादसे की खबर सामने आ रही है. शुक्रवार देर रात को हल्द्वानी-रामनगर मार्ग पर अज्ञात वाहन और कार की जोरदार भिड़ंत...

भारतीय टीम टी 20 वर्ल्ड कप के लिए तैयार, टूनामेंट जल्द होगी टीम रवाना

0
आईपीएल 2024 सीजन अब अपने अंतिम चरण में है और अगले रविवार को इसका फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। इस मौजूदा सीजन के समाप्त होते...

दिल्ली: स्वाति मालीवाल की मेडिकल रिपोर्ट आई सामने, दाहिने गाल और बाएं पैर पर...

0
दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सांसद स्वाति मालीवाल की मेडिकल रिपोर्ट में उनके बाएं पैर और दाहिने गाल पर चोट के निशान पाए...

हाईकोर्ट शिफ्टिंग को लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशाना, कुमाऊं-गढ़वाल के बीच दंगल...

0
उत्तराखंड के कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता और पूर्व राज्यमंत्री डॉ. गणेश उपाध्याय ने हाल ही में एक बयान में कहा है कि हाईकोर्ट के मुद्दे...

सीएम धामी ने चारधाम यात्रा को लेकर की बैठक, अधिकारियों को जनता से फीडबैक से दिए...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने वर्चुअल माध्यम से चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए चार धाम ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व्यवस्था को और अधिक प्रभावी...

उत्तराखंड में बढ़ती गर्मी के साथ ही बढ़ी बिजली की मांग, मैदानी जिलों में...

0
लगातार बढ़ती गर्मी के साथ-साथ बिजली की मांग ने अब एक रिकॉर्ड 5.5 करोड़ के पार पहुंच गई है। इस मौसम में मैदानी जिलों...

हल्द्वानी: 14 साल बाद 41 पार हुआ पारा, बाजारों में कर्फ्यू जैसे हालात

0
कुमाऊं में इस समय मौसम का अलग-अलग मिजाज देखने को मिल रहा है। पहाड़ी जिलों में हल्की बारिश की फुहारों ने मौसम को सुहावना...

यमनोत्री मार्ग पर कई घोड़ो की मौत, श्रद्धालुओं के साथ साथ बेजुबानों के लिए भी...

0
भडेलीगाड यमुनोत्री वैकल्पिक मार्ग पर एक घोड़े की मौत ने वन विभाग की लचर कार्यप्रणाली को उजागर कर दिया है। इस मार्ग की दुर्दशा...