UIDAI: इस वित्तवर्ष के शुरुआती चार महीनों में बाल आधार पहल के तहत 79 लाख से अधिक बच्चों का किया पंजीकरण

इस साल आधार के संरक्षक भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआईए) ने एक नया कृतिमान रचा है. सोमवार को एक आधिकारिक बयान बताया गया कि यूआईडीएआईए ने इस साल अप्रैल से जुलाई महीने के दौरान पांच साल से कम उम्र के 79 लाख से अधिक बच्चों का पंजीकरण किया है.

बयान के मुताबिक यह पंजीकरण पांच साल तक के बच्चों का बाल आधार बनवाने और अभिभावकों व बच्चों को कई लाभ प्राप्त करने में मदद की नई पहल के तहत हुआ है.

यूआईडीएआईए के आधिकारिक बयान के मुताबिक, ‘‘भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने इस वित्तवर्ष के शुरुआती चार महीनों (अप्रैल से जुलाई के बीच) में पांच साल तक के 79 लाख से अधिक बच्चों का पंजीकरण किया है.’’ बयान में कहा गया कि 31 मार्च 2022 तक पांच साल उम्र तक के 2.64 करोड़ बच्चों के पास बाल आधार था, जो बढ़कर जुलाई के अंत में 3.43 करोड़ हो गया.

यूआईडीएआई ने बताया, ‘‘हिमाचल प्रदेश और हरियाणा जैसे राज्यों में पहले ही पांच साल उम्र तक के 70 प्रतिशत से अधिक बच्चों का पंजीकरण हो चुका है. वहीं जम्मू-कश्मीर, मिजोरम, दिल्ली, आंध्र प्रदेश और लक्षद्वीप जैसे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इस दिशा में बहुत बेहतर काम हुआ है.’’ बयान के मुताबिक देश में करीब 94 प्रतिशत लोगों का आधार बन चुका है जबकि वयस्को में यह दर 100 प्रतिशत है.

आधार जारी करने में बायोमेट्रिक (उंगलियों के निशान और आइरिस) डाटा संग्रह एक प्रमुख विशेषता है क्योंकि इसकी विशिष्टता स्थापित करने के लिए इसकी आवश्यकता होती है. हालांकि, 0-5 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों के आधार पंजीकरण के लिए ये बायोमेट्रिक्स एकत्र नहीं किए जाते हैं.

हालांकि, बाल आधार को सामान्य आधार से अलग करने के लिए इसे नीले रंग में जारी किया जाता है, इस टिप्पणी के साथ कि यह तब तक वैध है जब तक कि बच्चा पांच वर्ष की आयु प्राप्त नहीं कर लेता. बता दें कि पांच वर्ष की आयु प्राप्त करने पर, बच्चे को अनिवार्य बायोमेट्रिक अपडेट प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आधार सेवा केंद्र पर अपना बायोमेट्रिक्स पेश करना आवश्यक है.

गौरतलब है कि आधार कार्ड देश के नागरिको के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है . इसका उपयोग कई प्रकार के कार्यों में किया जाता है. अब केंद्र और राज्य की कई सरकारी योजनाओं व सेवाओं का लाभ लेने के लिए इसकी जरूरत पड़ती है. इसके साथ बैंकों में भी इसके बिना कोई काम नहीं होता है.

यह भी पढ़ें -  राजस्थान कांग्रेस में घमासान, अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले गहलोत-पायलट के गुट ने फिर बढ़ाई हाईकमान की टेंशन, भाजपा भी सक्रिय

अब सरकार ने बच्चो के लिए बाल आधार कार्ड बनवाने का आदेश दिया है . देश के लोगों को इस योजना के तहत पांच साल या उससे कम उम्र में बच्चों का बाल आधार कार्ड बनवाना होगा . इस योजना के जरिये बच्चों को भी सरकार की योजनाओं और सेवाओं का लाभ दिया जाएगा . इसके जरिये बच्चों का स्कूलो में एडमिशन करवाने में भी आसानी होगी.

बाल आधार के मुख्य तथ्य
बाल आधार बन जाने के बाद उसे दो बार अपडेट कराना अनिवार्य होता है. यह अपडेट पांच साल और 15 साल की उम्र के बाद कराया जाता है.
बाल आधार में माता पिता के दस्तावेज इसलिए लगाए जाते हैं क्योंकि छोटे शिशुओं का बायोमेट्रिक विकसित नहीं हो पाते हैं. इसलिए बच्चों के बायोमेट्रिक और आइरिस स्कैन इसमें शामिल नहीं किया जाता. लिहाजा बाल आधार बनाने कि लिए माता या पिता के दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है.
स्कूल में दाखिले के लिए बाल आधार का इस्तेमाल किया जा सकता है.
अगर आपको बाल आधार से जुड़ी कोई भी जानकारी चाहिए हो तो आप हेल्पलाइन नंबर 1947 पर कॉल कर सकते है.

यह भी पढ़ें -  मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी, 13 लोगों की मौत-कई घायल








Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,243FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

राशिफल 27-09-2022: आज वृश्चिक को कारोबार में मिलेंगे लाभ के अवसर, जानिए अन्य...

0
मेष-: मन परेशान हो सकता है. मानसिक शान्ति बनाये रखने के लिए प्रयास करें. परिवार के स्वास्थ्य का ध्यान रखें. पिता का साथ...

27 सितम्बर 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 27 सितम्बर 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

शारदीय नवरात्रि का दूसरा दिन: ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, जानें विधि और...

0
26 सितम्बर 2022 से चैत्र नवरात्रि की शुरुआत हो गई है. नवरात्रि के दौरान मां के 9 रूपों की पूजा- अर्चना की जाती है....

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने ‘समूह ग’ की 23 परीक्षाओं के लिए अतिरिक्त परीक्षा...

0
उत्तराखंड में बेरोजगार युवाओं के लिए अच्छी खबर है. उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की ओर से सोमवार को 'समूह ग' 23 परीक्षाओं के लिए...

सीएम धामी ने दिए मानसखण्ड कॉरिडोर के काम में तेजी लाने के निर्देश

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में लोक निर्माण विभाग, एनएच और बीआरओ के प्रदेश में निर्माणाधीन और प्रस्तावित कार्यों की समीक्षा की. मुख्यमंत्री...

सीएम धामी का सख्त फैसला: उत्तराखंड में होटल, रिजॉर्ट और होमस्टे में अब नहीं...

0
उत्तराखंड की बेटी अंकिता भंडारी की हत्या के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एक्टिव मोड में है. वहीं दूसरी ओर अंकिता भंडारी मर्डर केस...

मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी, 13 लोगों की मौत-कई घायल

0
सोमवार को मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी हुई, जिसमें कई छात्र घायल हुए. वहीं जिस शख्स ने फायरिंग की उसने खुद...

नंदा गौरा योजना की 80 हजार लाभार्थी बालिकाओं को सीएम धामी ने हस्तांतरित की...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्य सेवक सदन, मुख्यमंत्री आवास, देहरादून में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में...

अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर भी खड़ा हुआ संकट

0
फिलहाल जैसे राजस्थान में सियासी माहौल बयां कर रहे हैं उससे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने का भी संकट...

राजस्थान कांग्रेस में घमासान, अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले गहलोत-पायलट के गुट ने...

0
राजनीति के मैदान में भी उलटफेर होना आम हो चला है. अब पार्टी के विधायक या सांसद क्या अच्छा है, क्या बुरा, स्वयं फैसला...
%d bloggers like this: