नैनीताल हाईकोर्ट के आदेश पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्रियों को चुकाना होगा बिजली-पानी का बकाया बिल


नैनीताल| उत्तराखंड सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्रियों को नोटिस जारी कर कहा है कि वो बिजली-पानी का बिल जमा करें. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्रियों- विजय बहुगुणा, बी.सी खंडूरी, रमेश पोखरियाल निशंक और महाराष्ट्र के वर्तमान राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से बकाया बिल जमा कराने को कहा गया है.

साथ ही प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री स्वर्गीय एन.डी तिवारी की पत्नी को भी यह पैसा जमा करने को कहा गया है. हाईकोर्ट के आदेश का अनुपालन करते हुए सरकार ने यह नोटिस जारी किया है. सोमवार 14 सितंबर को इस मामले पर हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है.

हालांकि राज्य के मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने हाईकोर्ट से गुहार लगाई है कि इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दाखिल की गई है, लिहाजा सर्वोच्च अदालत के फैसले तक इसकी सुनवाई टाल दी जाए.

दरअसल हाईकोर्ट ने पूर्व में राज्य सरकार को अवमानना का नोटिस जारी कर पूछा था कि क्यों अब तक उसके आदेश का पालन नहीं किया गया है.

इस पर मुख्य सचिव ने जवाब दाखिल कर कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा, बी.सी खंडूरी, भगत सिंह कोश्यारी और रमेश पोखरियाल निशंक ने आवास का किराया जो सरकार ने तय किया वो जमा कर दिया है.

जवाब में यह भी कहा गया है कि पूर्व सीएम कोश्यारी के नाम 11 लाख, विजय बहुगुणा पर चार लाख, बी.सी खंडूरी पर 3.89 लाख, निशंक के नाम 10.60 लाख, स्व. नारायण दत्त तिवारी पर 21.75 लाख रुपए पानी का बिल अभी लंबित है.

हाईकोर्ट को दिए जवाब में कहा गया है कि बिजली, पेट्रोल, टेलीफोन समेत अन्य भुगतान के लिए सभी मुख्यमंत्रियों को लिखा गया है कि वो बकाया पैसा जमा करें.

मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने कहा कि सरकार ने हाईकोर्ट द्वारा नौ जून, 2020 के आदेश के खिलाफ आठ सितंबर को सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दाखिल की है जो सुप्रीम कोर्ट की डायरी में दर्ज है.

बता दें कि तीन मई, 2019 को उत्तराखंड हाईकोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्रियों के बकाया मामले में आदेश जारी कर छह महीने के भीतर सुविधाओं का बकाया देने आदेश दिया था.

साथ ही सरकार से कहा था कि इनके अन्य भत्तों का भी ब्यौरा तैयार कर उनसे वसूली की जाए.

हाईकोर्ट ने अपने आदेश में सरकार को निर्देश दिया था कि अगर यह पैसा जमा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है.

हालांकि बाद में राज्य सरकार एक एक्ट लेकर आई थी जिसको हाईकोर्ट ने असंवैधानिक करार दे दिया था. जिसके बाद इस मामले में अवमानना याचिका दाखिल की है जिस पर कोर्ट ने मुख्य सचिव को जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है.

Related Articles

Latest Articles

सीएस राधा रतूड़ी ने राफ्टर्स के लिए मार्केट बनाने और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन सिस्टम पर...

0
राफ्टिंग व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने खारास्रोत पार्किंग तृतीय एवं गंगा नदी में पुट इन पॉइंट ब्रह्मपुरी का...

टेक्नॉलजी की मदद से चारधाम यात्रा का सुव्यवस्थित प्रबन्धन तथा स्थायी समाधान: सीएस रतूड़ी

0
चारधाम यात्रा के साथ ही प्रदेश के सभी धार्मिक स्थलों पर आने वाले श्रद्धालुओं हेतु एक फूलप्रूफ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की स्थायी व्यवस्था विकसित करने...

उत्तराखंड में कही सता रही गर्मी, कही बारिश से तबाही का मंजर

0
सोमवार को कपकोट के दोपहर के बाद विभिन्न क्षेत्रों में लगभग एक घंटे तक तेज बारिश हुई। इस दौरान भगेड़ी गधेरा उफान पर आ...

दिल्ली: तीस हजारी कोर्ट में बिभव कुमार को किया गया पेश, आ सकता है...

0
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नज़दीकी सहयोगी बिभव कुमार को दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को तीस हजारी कोर्ट में पेश किया। दरअसल, बिभव...

इंटरव्यू में विपक्ष पर भड़के पीएम मोदी, ‘पिछले 24 साल से गालियां खा-खाकर गाली...

0
लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के बीच पीएम मोदी ने एक न्यूज एजेंसी को इंटरव्यू दिया. जिसमें उन्होंने हर सवाल का जवाब बेबकी से...

अल्मोड़ा: गहरी खाई में गिरी कार, पति, पत्नी-पुत्री की मौत-बेटा घायल

0
अल्मोड़ा| अल्मोड़ा जिले से बड़े हादसे की खबर सामने आ रही है. स्याल्दे विकासखंड में भिकियासैंण-देघाट सड़क पर चौनिया बैंड के पास एक कार...

चारधाम यात्रा: हेली बुकिंग को लेकर IRCTC अधिकारी बता सोशल मीडिया पर जाल...

0
पुलिस द्वारा फर्जी वेबसाइटों पर कड़ी कार्रवाई करने के बाद, साइबर ठगों ने नया तरीका अपनाया है। अब ये ठग खुद को आईआरसीटीसी का...

आतिशी की बढ़ी मुसीबत, राउज एवेन्यू कोर्ट ने किया तलब-जानिए कारण

0
अरविंद केजरीवाल सरकार में मंत्री आतिशी की मुसीबत बढ़ गई है. आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी को मानहानि केस में कोर्ट ने समन...

गुरमीत राम रहीम को हाईकोर्ट ने हत्याकांड मामले में किया बरी, 22 साल पहले...

0
पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने रणजीत सिंह हत्याकांड मामले में बाबा राम रहीम को बड़ी राहत देते हुए उसे दोषमुक्त कर दिया है।...

रेमल चक्रवात से कुछ राज्यों के किसानों को होगा बड़ा फायदा, वैज्ञानिकों ने बताई...

0
बंगाल की खाड़ी में उठा रहा रेमल चक्रवात पश्चिम बंगाल समेत नॉर्थ ईस्ट के हिस्सों में अपना प्रभाव दिखा रहा है। इस चक्रवाती तूफान...