गलवान: दशकों बाद अपने सैनिकों की मौत की खबर सुनकर भड़के चीनी, भारत के खिलाफ यूं निकाल रहे हैं गुस्सा

चीन ने हाल ही में स्वीकार किया था कि पिछले साल जून में लद्दाख की गलवान घाटी में हुए खूनी संघर्ष में उसके चार सैनिक मारे गए थे. हालांकि चीन ने यहां भी मौत का आंकड़ा छुपा लिया. चीनी सरकार के मुखपत्र कहे जाने वाले ग्लोबल टाइम्स ने इसका वीडियो जारी किया था. अपने सैनिकों की मौत की सच्चाई स्वीकार करने के बाद चीन की सोशल मीडिया में भारत के खिलाफ गुस्सा निकाला जा रहा है और वहां पर भारत विरोधी संदेशों की बाढ़ आ गई है.

वीबो के जरिए भारत को बनाया गया निशाना
हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, चीन स्थित भारतीय दूतावास के चीनी सोशल मीडिया अकाउंट पर भारत के खिलाफ जमकर नफरत भरे और घणात्मक मैसेज भेजे जा रहे हैं. चीनी नागरिक भारत के साथ सैन्य गतिरोध के लिए नई दिल्ली को दोषी ठहरा रहे हैं. जैसे ही यह खबर पता चली की गलवान में चीन के सैनिक भी मारे गए हैं तो चीनी लोगों ने हज़ारों की संख्या में अपमानजनक संदेश भेजकर भारतीय दूतावास के ट्विटर जैसे वीबो अकाउंट को निशाना बनाया. कड़े सेंसर वाले वीबो अकाउंट पर कई अपमानजनक संदेश एक्सपेक्टिव्स के साथ दिए गए हैं.

दशकों बाद अपने सैनिकों की मौत की खबर सुनकर चीन के लोग काफी भावात्मक हो गए हैं, लेकिन अपनी सरकार पर गुस्सा निकालने की बजाय वह लगातार भारत और भारतीय दूतावास को निशाना बना रहे हैं. चीन की सरकारी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के सैनिकों के बारे में अपमानजनक टिप्पणी के लिए एक शख्स को नानजिंग शहर से अरेस्ट भी किया गया है.

चीन ने जारी किए कई संपादित वीडियो

शुक्रवार को, पिछले साल जून में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई मारपीट के गलवान घाटी गॉलवान घाटी वाले कई वीडियो दिखाए गए थे, जिन्हें कई वेबसाइटों पर अपलोड किया गया था और उन्हें लाखों बार देखा गया था. इन एडिटेड वीडियो में भारतीय सैनिकों द्वारा चीनी सैनिकों पर हावी होते हुए दिखाया गया है. घरेलू दर्शकों के लिए संदेश स्पष्ट था कि चीनी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों के सामने संयम और वीरता दिखाई. किसी भी वीडियो में दावा नहीं किया गया है कि झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए हैं. पीएलए के चार मृत सैनिकों की तस्वीरें ऑनलाइन प्रसारित हुईं जिसके बाद चीनी नागरिकों की कड़ी प्रतिक्रिया आई.

चीनी सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने यह भी बताया कि क्योंकि 8 महीने बाद पीएलए सैनिकों की जानकारी सार्वजनिक की गई. ग्लोबल टाइम्स के संपादकीय में कहा गया, ‘पिछले साल गलवान घाटी में हिंसा हुई थी, उस समय तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए, हताहतों की तुलना से बचना सीमा की स्थिति को स्थिर रखना ज्यादा जरूरी था. अब सीमा गतिरोध का दौर समाप्त हो गया है, हमें नायकों के कामों को सार्वजनिक करना चाहिए ताकि सभी चीनी लोग शांति के भाव को समझ सकें और उनकी प्रशंसा कर सकें.’

Related Articles

Latest Articles

मुख्यमंत्री घोषणा के अंतर्गत सीएम धामी ने विभिन्न कार्यों हेतु प्रदान की स्वीकृति

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री घोषणा के क्रम में जनपद उधमसिंह नगर के विधानसभा क्षेत्र खटीमा स्थित शहीद स्थल पर शैड के निर्माण...

देहरादून: मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने दिए जाली प्रमाण-पत्रों के मामलों में कड़ी कार्यवाही...

0
देहरादून| मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने जाली प्रमाण-पत्रों के मामलों में कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिए हैं. सीएस ने आम जनता के लिए जन्म-मृत्यु...

अंतरिक्ष से कुछ ऐसा नजर आता है राम सेतु, यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने शेयर...

0
यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने हाल ही में भारत और श्रीलंका को जोड़ने वाली श्रृंखला राम सेतु या एडम ब्रिज की एक उच्च-रिज़ॉल्यूशन तस्वीर शेयर...

जिंबाब्वे दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐलान, शुभमन गिल को सौंपी गई कमान

0
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने जुलाई में जिंबाब्वे के खिलाफ खेली जाने वाली 5 टी 20 मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम का...

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को मिली बड़ी जिम्मेदारी राज्यसभा में नेता सदन बनाए गए...

0
केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा को राज्यसभा में नेता सदन बनाया गया है. सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. चार साल से अधिक समय...

नीट विवाद को लेकर प्रदर्शन कर रहे एनएसयूआई के छात्रों ने की एनटीए को...

0
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के जंतर-मंतर पर छात्र संगठन एनएसयूआई ने नीट परीक्षा में धांधली को लेकर सोमवार को विरोध प्रदर्शन किया. एनएसयूआई के प्रेसिडेंट...

मोदी 3.0 के पहले 15 दिनों में क्या-क्या हुआ! राहुल गांधी ने गिनाया

0
पार्लियामेंट सेशन का आज पहला दिन शुरू हो गया है. विपक्ष कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है. इसी बीच...

जैसे ही धर्मेंद्र प्रधान शपथ लेने के लिए उठे! विपक्ष चिल्लाने लगा नीट-नीट

0
नीट पेपर लीक पर मचे घमासान के बीच लोकसभा सत्र में भी इस मुद्दे की गूंज सुनाई दी. हुआ ये कि सोमवार को 18वीं...

Tamil Nadu Hooch Case: जेपी नड्डा ने खड़गे को लिखा पत्र, कांग्रेस पार्टी की...

0
तमिलनाडु में अवैध शराब से हुई मौतों को लेकर केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को...

सीएम केजरीवाल को सुप्रीमकोर्ट से फिलहाल राहत नहीं, अगली सुनवाई 26 जून को

0
दिल्ली| सोमवार को सीएम अरविंद केजरीवाल की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. हालांकि, कोर्ट से केजरीवाल को फिलहाल कोई राहत नहीं...