यूपी विधानसभा चुनाव 2022: AIMIM ने प्रत्याशियों के लिए जारी किया आवेदन पत्र, टिकट के लिए वफादारी का ‘कॉन्ट्रैक्ट’ जरूरी

लखनऊ| यूपी में साल 2022 में विधानसभा चुनाव होने वाले है. जिस को लेकर सभी पार्टियां अलर्ट मोड में आ गयी हैं. एक तरफ बीजेपी (BJP) में दिल्ली से लेकर लखनऊ तक बैठकों का दौरा जारी है तो वहीं समाजवादी पार्टी के मुखिया ने सभी छोटे दलों के साथ गठबंधन के रास्ते खोल दिए हैं.

इसके तहत यह माना जा रहा है कि बसपा के बागी नेता जल्द ही सपा का दामन थाम सकते हैं, लेकिन इस बीच ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने चुनाव में उतरने की तैयारी पूरी कर ली है. इसके लिए बकायदे ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने अपनी तरफ से विधायक कैंडिडेट के लिए आवेदन पत्र भी जारी कर दिया है. आवेदन पत्र के साथ वफादारी का कॉन्ट्रैक्ट भी शामिल किया गया है, जिसको लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है.

यह भी पढ़ें -  गुलाम नबी आजाद ने अपनी नई पार्टी के नाम का किया ऐलान, 'डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी' होगा नाम

वफादारी के कॉन्ट्रैक्ट में इस बात का जिक्र किया गया है कि आवेदनकर्ता टिकट न मिलने की स्थिती में भी पार्टी के लिए ईमानादरी से काम करते हुए चुनाव में पार्टी के लिए प्रचार करेगा. हांलाकि, इस बीच आवेदनकर्ताओं को 10,000 की आवेदन फीस भी अदा करनी होगी, जिसे आवेदन शुल्क माना जा रहा है. चुनाव लड़ने के इच्छुक नेताओं से आवेदनपत्र भरवाकर एक लिस्ट तैयार की जा रही है.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी का सख्त फैसला: उत्तराखंड में होटल, रिजॉर्ट और होमस्टे में अब नहीं हो पाएंगे अवैध कार्य, हर महीने होगी जांच

पार्टी सूत्र बताते हैं कि असदुद्दीन ओवैसी ही टिकट पर अंतिम फैसला करेंगे. इसके लिए ओवैसी का जल्द ही यूपी दौरा प्रस्तावित है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली बताते हैं कि हमने यूपी की 100 मुस्लिम बाहुल्य सीटों पर चुनाव लड़ने का मन मनाया है और इस बात को लेकर भी चर्चा हो चुकी है कि गठबंधन किससे किया जाए? हांलाकि, अभी तक इसपर कोई अंतिम फैसला नहीं हुआ है, लेकिन हमारे लिए सपा और बसपा दोनों के दरवाजे खुले हुए हैं.

बता दें कि इससे पहले ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन 2017 के चुनाव में भी अपना हाथ आजमा चुकी है, लेकिन बुरी तरह असफल रही. ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने 2017 के विधानसभा चुनाव में 38 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे थे, जिसमें एक भी सीट पर सफलता हासिल नहीं हुई.

यह भी पढ़ें -  अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर भी खड़ा हुआ संकट

पार्टी को पूरे उत्तर प्रदेश में 2,05,232 वोट मिले जो कि कुल पड़े वोट का महज 0.2 प्रतिशत ही था. लेकिन पिछले साल हुए बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली कुछ सीटों से उत्तर प्रदेश में उत्साह बढ़ा हुआ है. अब देखना ये होगा की पार्टी यूपी में मुस्लिम वोटों में सेंधमारी करने में कितनी सफल हो पाती है.

साभार-न्यूज़ 18

Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,243FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने ‘समूह ग’ की 23 परीक्षाओं के लिए अतिरिक्त परीक्षा...

0
उत्तराखंड में बेरोजगार युवाओं के लिए अच्छी खबर है. उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की ओर से सोमवार को 'समूह ग' 23 परीक्षाओं के लिए...

सीएम धामी ने दिए मानसखण्ड कॉरिडोर के काम में तेजी लाने के निर्देश

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में लोक निर्माण विभाग, एनएच और बीआरओ के प्रदेश में निर्माणाधीन और प्रस्तावित कार्यों की समीक्षा की. मुख्यमंत्री...

सीएम धामी का सख्त फैसला: उत्तराखंड में होटल, रिजॉर्ट और होमस्टे में अब नहीं...

0
उत्तराखंड की बेटी अंकिता भंडारी की हत्या के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एक्टिव मोड में है. वहीं दूसरी ओर अंकिता भंडारी मर्डर केस...

मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी, 13 लोगों की मौत-कई घायल

0
सोमवार को मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी हुई, जिसमें कई छात्र घायल हुए. वहीं जिस शख्स ने फायरिंग की उसने खुद...

नंदा गौरा योजना की 80 हजार लाभार्थी बालिकाओं को सीएम धामी ने हस्तांतरित की...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्य सेवक सदन, मुख्यमंत्री आवास, देहरादून में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में...

अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर भी खड़ा हुआ संकट

0
फिलहाल जैसे राजस्थान में सियासी माहौल बयां कर रहे हैं उससे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने का भी संकट...

राजस्थान कांग्रेस में घमासान, अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले गहलोत-पायलट के गुट ने...

0
राजनीति के मैदान में भी उलटफेर होना आम हो चला है. अब पार्टी के विधायक या सांसद क्या अच्छा है, क्या बुरा, स्वयं फैसला...

गुलाम नबी आजाद ने अपनी नई पार्टी के नाम का किया ऐलान, ...

0
जम्मू| हाल ही में कांग्रेस को अलविदा कहने वाले दिग्गज नेता गुलाम नबी आजाद ने अपनी पार्टी के नाम की घोषणा की. उन्होंने अपनी...

देहरादून: सीएम धामी ने की प्रदेश की कानून व्यवस्था की समीक्षा, मुख्य सचिव एवं...

0
रविवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में कानून व्यवस्था, अतिक्रमण, आपदा आदि से सम्बन्धित विभिन्न विषयों पर शासन के उच्चाधिकारियों के साथ...

राशिफल 26-09-2022: शारदीय नवरात्रि के पहले दिन कैसा रहेगा सभी राशियों का दिन,...

0
मेष-:आज का दिन आपके लिए धन के लेनदेन के लिए कुछ परेशानी भरा रहेगा. आज आप अपनी दिनचर्या में कुछ अन्य कामों को भी...
%d bloggers like this: