अनंत चतुर्दशी विशेष: भगवान विष्णु और बप्पा की विदाई की साक्षी अनंत चतुर्दशी पर भक्तों की उमड़ती अपार श्रद्धा

आज पूरे देश भर में अनंत चतुर्दशी का पर्व धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है.यह एक ऐसा पर्व है जिसमें श्रद्धालु दो आराध्यों की पूजा-अर्चना करते हैं. आइए आपको बताते हैं यह दो आराध्य कौन से हैं. पहले भगवान विष्णु की भक्त उपासना करते हैं. दूसरे गणेश की विदाई यानी विसर्जन का दिन भी अनंत चतुर्दशी को किया जाता है. पहले बात करेंगे गणपत बप्पा की. सही मायने में भगवान गणेश का विसर्जन भक्तों के लिए सबसे बड़ी कठोर विदाई का समय रहता है.

इसका कारण है कि भगवान बप्पा को भक्त 10 दिन तक अपने घरों में विराजमान करते हैं उसके बाद विदाई दी जाती है. यहां आपको बता दें कि भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से चतुर्दशी तिथि तक गणेश की उपासना के लिए गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जाता है. इसे नौ दिन गणेश नवरात्रि भी कहा जाता है. ऐसी मान्यताएं हैं कि प्रतिमा का विसर्जन करने से भगवान फिर से कैलाश पर्वत पहुंच जाते हैं.

गणेश चतुर्थ पर स्थापना से ज्यादा विसर्जन की महिमा होती है. इस दिन अनंत शुभ फल प्राप्त किए जा सकते हैं. कुछ विशेष उपाय करके इस दिन जीवन कि मुश्किल से मुश्किल समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है. आज महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, राजस्थान आदि राज्यों में भगवान गणेश की विदाई करने के लिए श्रद्धालुओं को भावुक देखा जा सकता है. अब बात करेंगे भगवान विष्णु के बारे में.


सौभाग्य एवं रक्षा और सुख के लिए भगवान विष्णु की जाती है उपासना
अनंत चतुर्दशी के दिन पूरे देश भर में श्रद्धालु भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना करते हैं. इस दिन महिलाएं सौभाग्य की रक्षा एवं सुख और ऐश्वर्य की प्राप्ति के लिए व्रत रखती हैं.इस दिन मोक्ष की प्राप्ति के लिए भगवान विष्णु की भी पूजा की जाती है. इसके लिए अनंत चतुर्दशी का व्रत रखा जाता है. बंधन का प्रतीक सूत्र हाथ में बांधा जाता है और व्रत के पारायण के समय इसको खोल दिया जाता है. इस दिन गजेंद्र मोक्ष का पाठ करने से जीवन की तमाम विपत्तियों से मुक्ति मिलती है. इस दिन व्रत करने वाली महिला को सुबह व्रत के लिए संकल्प लेना चाहिए व भगवान विष्णु की पूजा करना चाहिए.

विष्णु के सामने 14 ग्रंथियुक्त अनंत सूत्र को रखकर भगवान विष्णु के साथ ही उसकी भी पूजा करनी चाहिए.ऐसी धार्मिक मान्यता है कि अनंत चतुर्दशी का संबंध महाभारत काल से है. कथा अनुसार, कौरवों से जुआ हारने के बाद पांडव वन-वन भटक रहे थे तब श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर से कहा, हे धर्मराज जुआ खेलने के कारण देवी लक्ष्मी आप से रुष्ट हो गई हैं, उन्हें प्रसन्न करने के लिए आपको अपने भाइयों के साथ अनंत चतुर्दशी का व्रत रखना चाहिए. हिंदू शास्त्रों में अनंत चतुर्दशी देशभर में पूरे श्रद्धा के साथ मनाई जाती है.


अनंत चतुर्दशी पर ‘अनंत सूत्र’ बांधने की देश में रही है परंपरा
अनंत चतुर्दशी पर देशभर में अनंत सूत्र बांधने की परंपरा सदियों से चली आ रही है. बता दें कि अनंत सूत्र को लेकर ये मान्यता है कि इस सूत्र में भगवान विष्णु का वास होता है. अनंत चतुर्दशी पर अनंत सूत्र को भगवान विष्णु की पूजा करने के बाद इसे बांह में बांधा जाता है. अनंत सूत्र को पहने से पहले ये जान लेना चाहिए कि अनंत सूत्र में 14 गांठें होनी चाहिए.क्योंकि 14 गांठों को 14 लोकों से जोड़कर देखा जाता है.

यह भी पढ़ें -  UP: सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी हुआ गिरफ्तार

मान्यता है कि भौतिक जगत में 14 लोक बनाए जिनमें भूर्लोक, भुवर्लोक, स्वर्लोक, महर्लोक, जनलोक, तपोलोक, ब्रह्मलोक, अतल, वितल, सतल, रसातल, तलातल, महातल और पाताल लोक शामिल है, अनंत सूत्र में लगने वाली प्रत्येक गांठ एक लोक का प्रतिनिधित्व करती है. आज के दिन अनंत कथा सुनने अनंत धारण करने के साथ मीठा पकवान भगवान विष्णु को अर्पित कर प्रसाद स्वरूप परिजनों सहित ग्रहण करना पूर्ण फलदाई माना जाता है.
शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार


Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,237FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

गुजरात दंगों पर अमित शाह, ‘मैंने मोदी जी को नजदीक से इस दर्द को...

0
शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने साल 2002 में हुए गुजरात दंगों को लेकर समाचार एजेंसी एएनआई को विस्तृत इंटरव्यू दिया और...

CBSE Result 2022: कब तक आयेंगे 10वीं-12वीं के परिणाम? छात्र कर रहे ये मांग

0
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी की सीबीएसई ने कक्षा दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं पूरी कर ली. अब छात्रों को परीक्षा के परिणाम...

Covid19: देश में कोरोना का खतरा बरकरार, एक दिन में मिले 15,940 नए मामले-एक्टिव...

0
देश में कोरोना का खतरा बरकरार है. पिछले 24 घंटे के अंदर 15,940 नए मामले सामने आए और 20 लोगों की मौत दर्ज की...

प्रशासनिक फेरबदल: योगी सरकार ने प्रदेश के 15 आईपीएस अफसरों के किए ट्रांसफर, देखें...

0
यूपी में प्रशासनिक फेरबदल जारी है. कानून व्यवस्था को मजबूत करने के लिए मुख्‍यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ सरकार ने 15 आईपीएस अध‍िकार‍ियों का तबादला कर...

केजरीवाल सरकार के इस फैसले से दिल्ली के व्यापारी और ट्रांसपोर्टर्स नाखुश, जानिए क्या...

0
दिल्ली सरकार ने राजधानी दिल्ली में मध्यम और भारी माल वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने का फैसला लिया है. दिल्ली सरकार के फैसले...

नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में फायरिंग, दो की मौत-कई घायल

0
ओस्लो|...... नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में फायरिंग की खबर सामने आई है. इस फायरिंग में अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है....

पाक का एक और झूठ उजागर! 26/11 हमले के मास्टरमाइंड साजिद मीर को सुनाई...

0
इस्लामाबाद|.... भारत के मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों में से एक और 26/11 मुंबई हमलों में मुख्य हैंडलर साजिद मजीद मीर को पाकिस्तान की अदालत...

अब WhatsApp नही गूगल से ऐसे शेयर करें अपनी Live लोकेशन, यहाँ देखे स्टेप्स

0
इन्टरनेट के कारण बहुत सी चीज़े आसान हो गयी है. इन्टरनेट पर बहुत सी काम की चीज़े उपलब्ध हैं. ऐसा ही एक है लाइव...

राशिफल 25-06-2022: आज इन राशियों पर रहेगी हनुमान जी और शनि देव की विशेष...

0
मेष- मन प्रसन्न रहेगा. घर-परिवार में धार्मिक कार्य हो सकते हैं. भवन की मरम्मत एवं साज-सज्जा के कार्यों पर खर्च बढ़ेंगे. कुटुम्ब की किसी...

25 जून 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 25 जून 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...
%d bloggers like this: