रेप के आरोपी बाबा नित्यानंद ने लॉन्च की अपनी करेंसी और रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा


रेप के आरोपी भगोड़े बाबा नित्यानंद ने अपना केंद्रीय बैंक और उसकी करेंसी लॉन्च कर दी है. उसने इस बैंक का नाम रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा रखा है. ये बैंक भगोड़े बाबा के अपने घोषित देश कैलासा में होगा. इस भगोड़े बाबा की देश की जांच एजेंसियां तलाश कर रही हैं.

इससे पहले एक ऑनलाइन वीडियो में बाबा नित्यानंद ने ऐलान किया था कि वह आधिकारिक तौर पर 22 अगस्त को रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा की करेंसी लॉन्च करेगा. नित्यानंद ने ये भी बताया था कि इसे लेकर एक देश के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर भी हो चुके हैं.

नित्यानंद ने तीन दिन पहले वायरल वीडियो में कहा था कि उसके केंद्रीय बैंक का कामकाज पूरी तरह कानूनी है. साथ ही बताया था कि उसने रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा की आर्थिक नीति भी तैयार कर ली है. उसने वीडियो में कहा कि 300 पेज के दस्‍तावेज में उसके केंद्रीय बैंक की आर्थिक नीति तैयार कर ली गई है.

साथ ही उसका केंद्रीय बैंक करेंसी और आर्थिक रणनीति के साथ तैयार है. उसने दावा किया है कि करेंसी का देश के भीतर इस्तेमाल और बाहरी दुनिया से इस करेंसी के जरिये लेनदेन पूरी तरह से वैध होगा. इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है.

भगोड़े बाबा ने बताया कि उसके रिजर्व बैंक की मेजबानी करने वाले देश के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर हो गए हैं. बता दें कि रेप के आरोपी बाबा नित्यानंद की एक वीडियो पिछले साल भी वायरल हुई थी, जब उसने अपने देश कैलासा की स्थापना की घोषणा की थी. हाालंकि, इसकी लोकेशन को लेकर संदेह है. कैलासा की वेबसाइट के मुताबिक, यह देश बिना किसी सीमा के दुनिया भर से आए बेदखल हो चुके हिंदुओं का होगा, जिन्होंने अपने देश में प्रमाणिक तौर पर हिंदू धर्म का पालन करने का अधिकार खो दिया है.

नित्‍यानंद पर युवतियों को बंधक बनाने, अपहरण और रेप के आरोप हैं. मूल रूप से तमिलनाडु के ढोंगी बाबा नित्यानंद के अहमदाबाद और बेंगलुरु समेत देश के कई शहरों में आश्रम थे. अहमदाबाद के आश्रम से कई लड़कियां गायब हुईं तो नित्यानंद पर उंगली उठने लगीं. कर्नाटक के एक परिवार ने नित्यानंद पर बेटियों को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने के आरोप लगाए. शिकायत किए जाने पर कार्रवाई शुरू हो गई, लेकिन न तो नित्यानंद का ही कुछ पता चला और न ही दोनों सगी बहनें मिलीं. पुलिस ने अक्‍टूबर 2019 में उसके देश छोड़कर भाग जाने की जानकारी दी.

साभार-न्यूज़ 18

Related Articles

विज्ञापन

Latest Articles

देहरादून: सीएस सचिव राधा रतूड़ी ने खेल विभाग की समीक्षा की

0
देहरादून| सीएस सचिव राधा रतूड़ी ने विधानसभा भवन में खेल विभाग के साथ श्री पूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम, मुनि की रेती टिहरी तथा इन्दिरा गांधी...

धामी ने जमाया सिक्का, 100 शक्तिशाली भारतीयों की सूची में मिली जगह

0
देहरादून| उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को सबसे शक्तिशाली भारतीयों की सूची में जगह मिली है. सौ सबसे शक्तिशाली भारतीयों की सूची में...

हिमाचल प्रदेश: सुक्खू सरकार पर मंडराए संकट के बादल फिलहाल छंटे, बनें रहेंगे सीएम

0
हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा की एक सीट पर हुए चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार पर मंडराए संकट के बादल...

हल्द्वानी हिंसा: मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक का बेटा अब्दुल मोईद गिरफ्तार,

0
हल्द्वानी हिंसा का मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक का बेटा अब्दुल मोईद पुलिस की गिरफ्त में आ गया है. पुलिस ने अब्दुल मोईद को दिल्ली से...

टीएमसी की शाहजहां शेख पर बड़ी कार्रवाई, 6 साल के लिए पार्टी से किया...

0
पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में घटी घटना के मुख्य आरोपी शाहजहां शेख को गिरफ्तार कर लिया गया है. शाहजहां शेख को 10 दिन की...

लोकसभा चुनाव 2024: इंडी गठबंधन में शामिल न होने से नाराज ओवैसी, अखिलेश यादव...

0
लखनऊ| आगामी लोकसभा चुनाव में इंडी गठबंधन में शामिल न होने से नाराज असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने प्रदेश की 7 लोकसभा सीटों...

1993 सीरियल बम ब्लास्ट केस: आरोप करीम टुंडा सबूतों के अभाव में बरी, इरफान...

0
1993 सीरियल ब्लास्ट मामले में अजमेर की टाडा कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए आरोपी अब्दुल करीम टुंडा को बरी कर दिया है. टुंडा...

संदेशखाली हिंसा: मुख्य आरोपी शाहजहां शेख को 10 दिन की पुलिस रिमांड, 55 दिनों...

0
पश्चिम बंगाल पुलिस ने प्रवर्तन निदेशालय की टीम पर हमले के मुख्य आरोपी और टीएमसी नेता शाहजहां शेख को बशीरहाट कोर्ट ने पुलिस रिमांड...

हिमाचल प्रदेश के छह बागी कांग्रेस विधायकों पर बड़ा एक्शन, विधायिकी बर्खास्त

0
शिमला| हिमाचल प्रदेश के छह बागी विधायकों पर बड़ा एक्शन हुआ है. विधानसभा से इन सभी छह विधायकों की विधायिकी बर्खास्त कर दी गई...

केंद्र ने दो और मुस्लिम संगठन पर लगाया प्रतिबंध, कश्मीर आतंकवाद से जुड़ें हैं...

0
जम्मू और कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान में जुटी केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए दो और मुस्लिम संगठनों को बैन कर दिया...