अभिनेत्री कंगना रनौत में भाजपा को दिखने लगा अपना ‘फायरब्रांड’


दुनिया में एक प्रचलित कहावत है, एक हाथ से ले दूसरे हाथ से दे. यानी कुछ हमने किया, अब बारी आपकी है. आज फिर बात होगी भारतीय जनता पार्टी और बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत की. पिछले कुछ दिनों से कंगना रनौत और महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार के साथ उठा ‘तूफान’ अब शांत हो रहा है. यह सभी जानते हैं कि कंगना के उद्धव ठाकरे सरकार को चुनौती देने के पीछे किसका हाथ है.

अभी तक अभिनेत्री रनौत की ताकत के पीछे भाजपा कदम कदम पर साथ खड़ी रही, कंगना भी भाजपा की उम्मीदों पर खरी उतरी है. अब बीजेपी को कंगना की ललकार पसंद आ गई है. पार्टी अब अभिनेत्री को अपना ‘फायरब्रांड नेता’ बनाने की तैयारी में जुट गई है.

इसी को लेकर आरपीआई के मुखिया और भाजपा सरकार में केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने गुरुवार शाम को मुंबई स्थित अभिनेत्री रनौत के घर पर जाकर मुलाकात की.

अठावले ने अभिनेत्री को भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन करने का निमंत्रण दिया है. वैसे सियासी गलियारों में चर्चा है कि केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले को भारतीय जनता पार्टी के दूत के रूप में देखा जा रहा है. आरपीआई अध्यक्ष अठावले का मुंबई में अच्छा जनाधार माना जाता है.

साथ ही उनकी पार्टी आरपीआई केंद्र की भाजपा सरकार में सहयोगी दल भी है. हालांकि अभी तक अभिनेत्री कंगना ने राजनीति में आने के लिए स्थिति स्पष्ट नहीं की है लेकिन जो संकेत मिल रहे हैं उससे कयास लगाए जा रहे हैं कि रनौत जल्द ही भाजपा में शामिल हो सकती हैं.

अभिनेत्री के गृह राज्य हिमाचल प्रदेश में भी भाजपा की सरकार है. हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर एक्ट्रेस कंगना रनौत को भाजपा में लाने के लिए जी जान लगाए हुए हैं.‌

भाजपा में फायर ब्रांड नेताओं का सियासी भविष्य अच्छा रहा है
भारतीय जनता पार्टी में फायर ब्रांड नेताओं का ‘सियासी भविष्य अच्छा रहा है’. अगर हम बात करें 80 के दशक में जब भाजपा का उदय हुआ था तब से ही भाजपा में कई फायर ब्रांड नेता उभर कर आए थे.

‌ लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, नरेंद्र मोदी (जब गुजरात की राजनीति में सक्रिय थे) विनय कटियार, उमा भारती, साध्वी ऋतंभरा आदि ऐसे नेता रहे हैं जिनकी छवि सियासी गलियारे में फायर ब्रांड के रूप में देखी जाती थी.

इनमें से नरेंद्र मोदी ही ऐसे रहे जो प्रधानमंत्री हैं और केंद्र की राजनीति में सक्रिय हैं. पिछले एक दशक में भारतीय जनता पार्टी में फायर ब्रांड नेताओं की कमी होने लगी है.

हालांकि पार्टी के पास आज भी कई कुशल रणनीतिकार और प्रवक्ता मौजूद हैं लेकिन यह सब भाजपा कार्यालय में रणनीति बनाने में लगे रहते हैं. भाजपा को एक ऐसी ‘तेजतर्रार और हिंदू विचारधारा’ वाली नेता चाहिए जो फील्ड (मैदान) में जाकर पार्टी के लिए दहाड़ सके’.

अभी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भोपाल की भारतीय जनता पार्टी की सांसद साध्वी प्रज्ञा पार्टी में फायर ब्रांड नेता के रूप में पहचाने जाते हैं. भाजपा के कई नेता कंगना रनौत को पार्टी में शामिल कराने के लिए प्रयास में जुटे हुए हैं.

इसकी कवायद हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शुरू कर दी है. अभिनेत्री कंगना के पास हिंदू विचारधारा, मैदान में ललकारने वाली आवाज समेत वह सब कुछ है जो भाजपा को जरूरत है.


अभिनेत्री कंगना की मां आशा रनौत भाजपा से जुड़ीं
अभिनेत्री कंगना रनौत की मां आशा रनौत ने अपनी बेटी को सुरक्षा मुहैया करवाने और हर कदम पर साथ देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का आभार जताया है. आशा रनौत कांग्रेसी विचारधारा को छोड़कर भारतीय जनता पार्टी से जुड़ गईं हैं.

भाजपा से जुड़ने के बाद आशा रनौत ने कहा कि उनका परिवार कांग्रेस पार्टी की विचारधारा से जुड़ा रहा है, लेकिन जब कंगना पर परेशानी आई तब भाजपा ने उसका खुलकर साथ दिया.

अभिनेत्री की मां ने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली और हिमाचल प्रदेश में जयराम ठाकुर के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार उनकी मदद के लिए खड़ी हुई.

आशा ने कहा कि बीजेपी ने उनकी बेटी को सुरक्षा मुहैया करवाई. हालांकि आशा रनौत का ये बयान आने के बाद कयास लगाए जाने लगे हैं कि वे बीजेपी का दामन जल्द ही थाम सकती हैं.

दूसरी ओर भाजपा केंद्रीय आलाकमान की ओर से आशा को पार्टी में ज्वाइन करने संबंधित कोई अधिकारिक बयान अभी तक नहीं आया है. दूसरी ओर भाजपा के कई दिग्गज नेता ऐसे हैं जो अभिनेत्री कंगना रनौत को पार्टी में शामिल कराने के लिए प्रयासरत हैं.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

विज्ञापन

Latest Articles

पिथौरागढ़ के नैनी सैनी एयरपोर्ट के लिए मिली 42 सीटर विमान के संचालन को...

0
सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के नैनी सैनी एयरपोर्ट के लिए केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 42 सीटर विमान के संचालन को मंजूरी प्रदान की है।...

देहरादून: सीएस सचिव राधा रतूड़ी ने खेल विभाग की समीक्षा की

0
देहरादून| सीएस सचिव राधा रतूड़ी ने विधानसभा भवन में खेल विभाग के साथ श्री पूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम, मुनि की रेती टिहरी तथा इन्दिरा गांधी...

धामी ने जमाया सिक्का, 100 शक्तिशाली भारतीयों की सूची में मिली जगह

0
देहरादून| उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को सबसे शक्तिशाली भारतीयों की सूची में जगह मिली है. सौ सबसे शक्तिशाली भारतीयों की सूची में...

हिमाचल प्रदेश: सुक्खू सरकार पर मंडराए संकट के बादल फिलहाल छंटे, बनें रहेंगे सीएम

0
हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा की एक सीट पर हुए चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार पर मंडराए संकट के बादल...

हल्द्वानी हिंसा: मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक का बेटा अब्दुल मोईद गिरफ्तार,

0
हल्द्वानी हिंसा का मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक का बेटा अब्दुल मोईद पुलिस की गिरफ्त में आ गया है. पुलिस ने अब्दुल मोईद को दिल्ली से...

टीएमसी की शाहजहां शेख पर बड़ी कार्रवाई, 6 साल के लिए पार्टी से किया...

0
पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में घटी घटना के मुख्य आरोपी शाहजहां शेख को गिरफ्तार कर लिया गया है. शाहजहां शेख को 10 दिन की...

लोकसभा चुनाव 2024: इंडी गठबंधन में शामिल न होने से नाराज ओवैसी, अखिलेश यादव...

0
लखनऊ| आगामी लोकसभा चुनाव में इंडी गठबंधन में शामिल न होने से नाराज असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने प्रदेश की 7 लोकसभा सीटों...

1993 सीरियल बम ब्लास्ट केस: आरोप करीम टुंडा सबूतों के अभाव में बरी, इरफान...

0
1993 सीरियल ब्लास्ट मामले में अजमेर की टाडा कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए आरोपी अब्दुल करीम टुंडा को बरी कर दिया है. टुंडा...

संदेशखाली हिंसा: मुख्य आरोपी शाहजहां शेख को 10 दिन की पुलिस रिमांड, 55 दिनों...

0
पश्चिम बंगाल पुलिस ने प्रवर्तन निदेशालय की टीम पर हमले के मुख्य आरोपी और टीएमसी नेता शाहजहां शेख को बशीरहाट कोर्ट ने पुलिस रिमांड...

हिमाचल प्रदेश के छह बागी कांग्रेस विधायकों पर बड़ा एक्शन, विधायिकी बर्खास्त

0
शिमला| हिमाचल प्रदेश के छह बागी विधायकों पर बड़ा एक्शन हुआ है. विधानसभा से इन सभी छह विधायकों की विधायिकी बर्खास्त कर दी गई...