जनसंख्‍या नियंत्रण पर कानून की मांग के बीच केंद्र का सुप्रीमकोर्ट में हलफनामा-‘पति-पत्‍नी तय करेंगे कितने हों बच्‍चे’

नई दिल्‍ली| देश में बढ़ती जनसंख्‍या के बीच इस पर नियंत्रण को लेकर लगातार आवाज उठ रही है और कुछ लोग दो बच्चा नियम समेत कुछ अन्‍य कदमों को उठाने पर जोर दे रहे हैं. यह मामला कोर्ट में भी पहुंचा और शीर्ष अदलत ने जब नोटिस जारी कर इस पर केंद्र सरकार से जवाब मांगा तो सरकार की ओर से कहा गया कि वह देश के लोगों पर जबरन परिवार नियोजन थोपने के पक्ष में नहीं है.

सरकार ने कोर्ट में कहा कि किसी के कितने बच्‍चों हों, यह फैसला खुद पति-पत्‍नी का होगा और सरकार इसे लेकर किसी तरह की जबरदस्‍ती के पक्ष में नहीं है कि लोग निश्चित संख्‍या में ही बच्‍चे पैदा करें.

केंद्र की ओर से कहा गया कि इस तरह की कोई भी बाध्यता हानिकारक होगी और इससे जनसांख्यिकीय विकार पैदा होगा. केंद्र सरकार की ओर से पेश हलफनामे में कहा गया कि देश में परिवार कल्याण कार्यक्रम स्वैच्छिक है और दंपति अपनी इच्छा के अनुसार तय कर सकते हैं कि उनका परिवार कितना बड़ा होगा. इसमें किसी तरह की अनिवार्यता नहीं है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कोर्ट में बताया गया कि ‘लोक स्वास्थ्य’ राज्य के अधिकार का विषय है और लोगों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से बचाने के लिए राज्य सरकारों को स्वास्थ्य क्षेत्र में उचित कदम उठाने चाहिए.

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने शीर्ष अदालत में कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार का काम राज्य सरकारें प्रभावी निगरानी तथा योजनाओं एवं दिशा-निर्देशों के क्रियान्वयन की प्रक्रिया के नियमन एवं नियंत्रण की खातिर विशेष हस्तक्षेप के साथ प्रभावी ढंग से कर सकती हैं.

कोर्ट ने बीजेपी नेता एवं अधिवक्ता अश्विनी कुमार उपाध्याय की जनहित याचिका पर केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर प्रतिक्रिया मांगी थी. बीजेपी नेता की ओर से दायर याचिका में दिल्‍ली हाई कोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें अदालत ने देश में जनसंख्‍या नियंत्रण के लिए दो बच्चों के नियम सहित कुछ अन्‍य कदमों को उठाने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी थी.

हाईकोर्ट में यह याचिका बीजेपी नेता ने ही दायर की थी, जिसमें दलील दी गई थी कि भारत की आबादी चीन से भी अधिक हो गई है और 20 फीसदी भारतीयों के पास आधार नहीं है. कोर्ट ने 3 सितंबर को इसे खारिज करते हुए कहा था कि कानून बनाना संसद और राज्य विधानसभाओं का काम है, अदालत का नहीं.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

सीएम धामी ने कोटद्वार में अग्निवीरो के भर्ती कार्यक्रम में उपस्थित होकर युवाओं का...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी एवं महिला बाल विकास मंत्री रेखा आर्य के...

उत्तराखंड में जन्माष्टमी की छुट्टी में हुआ बदलाव, आदेश जारी

0
देहरादून| उत्तराखंड में कृष्ण जन्माष्टमी की छुट्टी अब 19 अगस्त को घोषित की गई है. पहले यह छुट्टी 18 अगस्त को तय की गई...

हल्द्वानी: 38 साल बाद ‘सियाचिन हीरो’ चंद्रशेखर हरबोला पंचतत्व में विलीन, बेटियों ने दी...

0
हल्द्वानी| लांस नायक चंद्रशेखर हरबोला का अंतिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ आज रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया. शहीद लांसनायक चंद्रशेखर...

सीएम धामी ने लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर दी...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 1984 में सियाचिन में ऑपरेशन मेघदूत के दौरान शहीद हुए लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित...

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक पर 3 कमांडो बर्खास्त

0
भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक के मामले में गृह मंत्रालय ने एक्शन लेते हुए 3 कमांडो को सर्विस...

बढ़ते कोरोना के मामलों को देख डीजीसीए सख्त, एयरलाइन्स को दिए ये निर्देश

0
देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए सख्त हो गया है. डीजीसीए ने एयलाइन्स को निर्देश दिए...

क्या अब 5 साल तक के बच्चों की भी लेनी होगी ट्रेन टिकट! जानिए...

0
कई लोग ट्रेन से यात्रियों के साथ सफर करते हैं. बच्चों के साथ आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे कई सुविधाएं प्रदान करती है,...

यूपी: लखनऊ में अनोखी चोरी, कैडबरी के गोदाम में धावा बोलकर चोर 17 लाख...

0
आपने आज तक चोरी की कितनी ही खबरें और कहानियां पढ़ी और सुनी होंगी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चोरी की एक...

धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों में किया फेरबदल

0
धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों के कार्यों में फेरबदल किया है. शासन की ओर से बुधवार को इसके...

घी संक्रांति 2022: उत्तराखंड में हर्षोल्लास के साथ मनाई जा रही है घी संक्रांति,...

0
उत्तराखंड की संस्कृति और विरासत अपने आप में कई ऐसे पर्वों को भी समेटे हुई है, जिनका यहां की संस्कृति में खास महत्व है....
%d bloggers like this: