संपादकीय लेख लिख भारत को डरा रहा ‘ड्रैगन’- ‘भारत के पास युद्ध जीतने का कोई मौका नहीं’

भारतीय और चीनी रक्षा मंत्रियों के बीच शुक्रवार की बैठक को एक सकारात्मक कदम करार देते हुए चीनी मीडिया ने शनिवार को कहा कि सीमा युद्ध की स्थिति में भारत के पास जीतने का कोई मौका नहीं होगा. सत्तारूढ़ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के साथ निकटता से जुड़े ग्लोबल टाइम्स ने शनिवार को संपादकीय में कहा, ‘हम भारतीय पक्ष को याद दिला रहे हैं कि चीन की राष्ट्रीय ताकत, जिसमें उसकी सैन्य ताकत भी शामिल है, भारत की तुलना में अधिक मजबूत है. हालांकि चीन और भारत दोनों महान शक्तियां हैं, मगर जब युद्धक क्षमता की बात आती है, तो भारतीय पक्ष हार जाएगा. यदि एक सीमा युद्ध शुरू होता है, तो भारत के पास जीतने का कोई मौका नहीं होगा.’

संपादकीय में कहा गया है, ‘हमें उम्मीद है कि रक्षा मंत्रियों की बैठक दोनों देशों के नेताओं की बैठक की सर्वसम्मति पर वापस आने के लिए एक महत्वपूर्ण मोड़ होगी. प्रत्येक पक्ष सीमा पर तनाव को कम करने के लिए अपना उचित प्रयास करेगा.’ चीन का मुखपत्र कहलाने वाले ग्लोबल टाइम्स ने शुक्रवार को मॉस्को में रक्षा मंत्रियों की बैठक का समर्थन किया है. हालांकि, वह इस तथ्य की ओर इशारा करता है कि सीमा पर भारतीय नीतियों को राष्ट्रवाद और जनमत (पब्लिक ओपिनियन) द्वारा निर्धारित किया जा रहा है.


ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि भारतीय जनमत बहुत गहराई से और व्यापक रूप से सीमा के मुद्दों में शामिल है. भारतीय सैनिकों का स्पष्ट रूप से घरेलू राष्ट्रवाद द्वारा अपहरण कर लिया गया है. इसलिए, चीन और भारत के बीच सीमा विवाद के संयुक्त नियंत्रण के अलावा, भारत को सार्वजनिक राय और राष्ट्रवाद का प्रबंधन भी करना चाहिए. यह उनके देश और अपने लोगों के लिए सबसे अच्छा विकल्प है. अब समस्या यह है कि भारत ने सीमा मुद्दे पर एक आक्रामक रेखा खींची है, जो सीमा पर शांति और स्थिरता को बनाए रखने की चीन की इच्छा को एक कमजोरी के रूप में दशार्ती है.

चीनी अखबार ने अमेरिका की ओर से भारत के प्रति समर्थन जताए जाने पर भी खीझ प्रकट की. इसने कहा, ‘नई दिल्ली के कुछ लोगों का यह भी मानना है कि अमेरिका के चीन के प्रति दमन और भारत के प्रति समर्थन ने भारत की सामरिक ताकत को बढ़ा दिया है.’ चीनी अखबार ने इसे एक गलत अनुमान करार दिया है. चीनी स्टेट काउंसलर और रक्षा मंत्री वेई फेंघे और भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को मॉस्को में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक के दौरान मुलाकात की. हाल के महीनों में सीमाओं पर तनाव बढ़ने के बाद से दोनों देशों के बीच यह सर्वोच्च स्तर की सैन्य बैठक थी. दोनों सेनाएं वर्तमान में पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी तट और रेकिन पर्वत र्दे पर आमने-सामने है और जमीन पर स्थिति काफी तनावपूर्ण है.

ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि तथ्य यह है कि दो रक्षा मंत्री आमने-सामने बैठे हैं, यह अपने आप में एक सकारात्मक संकेत है और दोनों देशों के लिए अपने सीमा विवादों का प्रबंधन करने और जमीन पर स्थिति को नरम करने के लिए आवश्यक माहौल प्रदान करता है. चीनी अखबार के संपादकीय में कहा गया है, ‘चीनी स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वेई फेंघे और भारतीय विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर भी 10 सितंबर को मिलने की योजना बना रहे हैं.’ ग्लोबल टाइम्स ने वेई और सिंह के बीच बैठक को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा है कि चीन और भारत का यह मुद्दा एक बैठक में हल नहीं किया जा सकता है, लेकिन दो रक्षा मंत्रियों की भूमिका सीमा पर चल रहे गतिरोध को कम करने में महत्वपूर्ण होगी.

ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि चीन और भारत दोनों बड़ी शक्तियां हैं, जो सीमावर्ती क्षेत्रों में सैन्य संघर्ष के के लिए राष्ट्रीय बलों को जुटाने की क्षमता रखते हैं, लेकिन इस समय दोनों पक्षों को शांति बरतने और प्रमुख मुद्दों को स्पष्ट करने की आवश्यकता है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,236FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

NEET UG Admit Card 2022: एनटीए जल्द जारी कर सकता है एडमिट कार्ड, आप...

0
नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट अंडरग्रेजुएट (NEET UG) के लिए जल्द ही एडमिट कार्ड जारी करने की उम्मीद है....

सिद्धू मूसेवाला का आखिरी गाना ‘सतलुज-यमुना लिंक’ यूट्यूब से हटा, वीडियो को 27 मिलियन...

0
पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद रिलीज किया गया उनका सबसे आखिरी गाना ‘सतलुज-यमुना लिंक (SYL)’ को अब वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब...

देहरादून: सीएम धामी ने सुनी पीएम मोदी की मन की बात

0
रविवार को सीएम धामी ने मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना. मन की बात कार्यक्रम को सुनने...

रणजी ट्रॉफी फाइनल: मध्य प्रदेश ने पहली बार जीता खिताब, 41 बार की चैंपियन...

0
रणजी ट्रॉफी का फाइनल मुकाबला बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया. मुंबई के कप्तान पृथ्वी शॉ ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी...

रामपुर में लोकसभा उपचुनाव: हार के बाद आजम खान ने बेहद अलग अंदाज में...

0
यूपी के रामपुर में लोकसभा उपचुनाव में मिली हार पर जब समाजवादी पार्टी नेता आजम खान से प्रतिक्रिया ली गई तो उन्होंने बेहद अलग...

उपचुनाव परिणाम अपडेट: रामपुर में सपा का किला ध्वस्त, आजमगढ़ में भाजपा जीत की...

0
देश में 7 विधानसभा और 3 लोकसभा उपचुनाव के परिणाम लगभग आ चुके हैं. इन सभी स्थानों पर 23 जून को वोट डाले गए...

संगरूर लोकसभा उपचुनाव: आप को बड़ा झटका, शिरोमणि अकाली दल के प्रत्याशी की जीत

0
संगरूर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव का नतीजा सामने आ गया है. शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के अध्यक्ष सिमरनजीत सिंह मान ने संगरूर लोकसभा...

योगी सरकार ने यूपी के 11 आईएएस अधिकारियों के किए तबादले, देखें लिस्ट

0
उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने आईपीएस के बाद 11 वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के ट्रांसफर कर दिए हैं. शनिवार शाम को इसके शासनादेश भी...

महाराष्ट्र सियासी संकट: केंद्र ने शिंदे गुट के 15 विधायकों की दी वाई प्लस...

0
महाराष्ट्र में हुए विधान परिषद चुनाव के बाद से महाराष्ट्र की राजनीति में आई अस्थिरता थमने का नाम नहीं ले रही है. शिवसेना के...

दांतों का साथी: आज दुनिया को मिली थी ‘टूथब्रश’ की सौगात, 524 साल पहले...

0
आज 26 जून, दिन संडे है. छह दिनों से जारी महाराष्ट्र संकट पर मुंबई से लेकर राजधानी दिल्ली तक सियासी माहौल गरमाया हुआ है....
%d bloggers like this: