एनएसए, सीडीएस और सेना प्रमुख की रणनीति के आगे चीन पस्त, एलएसी पर नहीं चल पा रही ‘चालबाजी’

चीन के साथ जारी सीमा विवाद के बीच भारतीय सेना वास्वतिक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर स्थित ऊंची चोटियों पर अपना नियंत्रण कर पीएलए पर रणनीतिक बढ़त बनाए रखना जारी रखी है.

बीते कुछ दिनों में भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख सेक्टर में रणनीतिक रूप से अहम छह नए पहाड़ियों पर अपना नियंत्रण किया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सरकार के शीर्ष सूत्रों ने बताया, ‘भारतीय सेना ने 29 अगस्त से लेकर सितंबर माह के दूसरे सप्ताह तक छह नई चोटियों को अपने अधीन लिया है.

जिन नई चोटियों पर नियंत्रण किया गया है, उनके नाम मगार हिल, गुरुंग हिल, रेकेहेन ला, मोखपाडी और फिंगर 4 के पास की पहाड़ी हैं.’

यह भी पढ़ें -  रिटायर्ड आईएएस अधिकारी परमेश्वरन अय्यर नीति आयोग के नए सीईओ होंगे

सूत्रों का कहना है कि एलएसी पर भारतीय सेना के अभियानों पर एनएसए अजीत डोभाल, चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ (सीडीएस) बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे की करीबी नजर है.

इससे पहले की चीन इन पहाड़ियों पर कोई हरकत करता, सेना ने इन चोटियों को अपने नियंत्रण में ले लिया है.

सूत्रों के मुताबिक इन चोटियों पर नियंत्रण हो जाने से इस इलाके में चीन की सेना पर भारतीय सैनिकों की सामरिक रूप से बढ़त बन गई है.

सूत्रों का कहना है कि चीन की नजर इस इलाके में सामरिक रूप से महत्वपूर्ण चोटियों पर कब्जा रहने की रही है.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी ने केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत से की शिष्टाचार भेंट, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

बीते दिनों में उसने इन ऊंचाइयों को अपने नियंत्रण में लेने का प्रयास भी किया लेकिन भारतीय सैनिकों की मुस्तैदी की वजह से उसकी सभी कोशिशें नाकाम कर दी गईं.

चीन को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पैंगोंग त्सो झील के उत्तरी हिस्से से लेकर दक्षिणी क्षेत्र में कम से कम तीन बार फायरिंग की घटनाएं सामने आई हैं.

सेना की ओर से इन पहाड़ियों पर नियंत्रण कर लेने के बाद चीन ने इस इलाके में अपनी एक अतिरिक्त ब्रिगेड की तैनाती की है.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी का दिल्ली दौरा: केंद्रीय गृह मंत्री से की शिष्टाचार भेंट, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

इसमें करीब 3000 सैनिक शामिल हैं. उसने यह तैनाती रेजांग ला एवं रेचेन ला पहाड़ियों के करीब की है.

सूत्रों का कहना है कि सीमा पर चीन की आक्रामकता को देखते हुए भारतीय सेना राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल, चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ (सीडीएस) बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे की निगरानी में आगे बढ़ा रही है.

गत 15 जून की गलवान घाटी की हिंसा के बाद भारत और चीन के रिश्ते काफी तल्ख हो गए हैं.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,236FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

UP Bed 2022: यूपी बीएड प्रवेश परीक्षा 2022 के लिए एडमिट कार्ड जारी

0
यूपी बीएड प्रवेश परीक्षा 2022 के लिए एडमिट कार्ड आज 25, जून 2022 को जारी कर दिए हैं. यूपी बीएड परीक्षा के लिए उम्मीदवार...

देहरादून: आपदा के दौरान मीडिया की होती है अहम भूमिका, आपदा प्रबंधन में मीडिया...

0
अधिशासी निदेशक डॉ. पीयूष रौतेला ने बताया कि भू-वैज्ञानिक व भौगोलिक परिस्थितियों के साथ ही मौसम सम्बन्धित विषमता उत्तराखण्ड को कई आपदाओं के प्रति...

गुजरात दंगा: याचिका खारिज के एक दिन बाद तीस्ता सीतलवाड़ एटीएस की हिरासत में,...

0
गुजरात एटीएस ने एक्टिविस्ट तीस्ता सीतलवाड़ को हिरासत में लिया है और उन्हें मुंबई के सांताक्रूज पुलिस स्टेशन ले जाया गया. खबर है कि...

Indw Vs SLw-2nd T20: भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने श्रीलंका को 5 विकेट से...

0
दम्बुल्ला|..... भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने तीन मैचों की सीरीज के दूसरे टी20 मैच में मेजबान श्रीलंका को 5 विकेट से हरा दिया. इसके...

महाराष्ट्र में शह-मात जारी: सरकार और शिवसेना बचाने के लिए उद्धव का मंथन, शिंदे...

0
महाराष्ट्र में शिवसेना पूरी तरह से दो फाड़ में हो चुकी है. एकनाथ शिंदे का बगावती गुट अब शिवसेना पर अपना दावा ठोक रहा...

इमरजेंसी के 47 साल: 21 महीनों तक नागरिकों की आजादी कैद में रही, खत्म...

0
लोकतंत्र के लिए 25 जून एक ऐसी तारीख है जो कभी भुलाई नहीं जा सकती है. आज से 47 साल पहले 25-26 जून की...

महाराष्ट्र सियासी संकट: 16 बागी विधायकों को जारी किया गया अयोग्यता नोटिस, 27 जून...

0
महाराष्ट्र का सियासी ड्रामा फिलहाल थमता नजर नहीं आ रहा है. जहां एक तरफ बागी शिंदे लगातार अपना कुनबा बढ़ा रहे हैं तो दूसरी...

उत्तराखंड में भारी बारिश का अंदेशा, इस दिन रहें सावधान

0
देहरादून| उत्तराखंड में मॉनसून की दस्तक के साथ ही भारी बारिश का अंदेशा जताया जा रहा है. मौसम विभाग ने 29 जून को...

शिवसेना- बालासाहेब ठाकरे’ होगा एकनाथ शिंदे गुट का नाम

0
महाराष्ट्र में सियासी उठापटक के पांचवे दिन शिवसेना के कार्यकर्ता जहां सड़कों पर उतरकर अलग-अलग जगहों पर तोड़फोड़ कर रहे हैं, वहीं मुंबई से...

महाराष्ट्र संकट: मुंबई में किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए धारा 144 लागू

0
महाराष्ट्र में शिवसेना की अंदरुनी कलह अब हिंसा में तब्दील हो गई है. कई जगहों पर शिवसेना कार्यकर्ताओं ने बागी नेताओं के ठिकानों पर...
%d bloggers like this: