spot_imgspot_img

गुलाम नबी आज़ाद बोले- कांग्रेस पार्टी 50 साल तक विपक्ष में बैठी रहेंगी, अगर…

कांग्रेस में मची रार खत्म होती हुई नहीं दिख रही है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि कांग्रेस कार्यसमिति और राज्य प्रमुखों, जिला अध्यक्षों, ब्लॉक अध्यक्षों के प्रमुख संगठनात्मक पदों के लिए चुनाव होने चाहिए और इसका विरोध करने वालों को अपने पदों को खोने का डर है.

पार्टी में बदलाव के लिए चुनाव कराने की मांग करने वाले वरिष्‍ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जिन 23 लोगों ने पत्र लिखा था, उनकी मंशा कांग्रेस को सक्रिय करने की थी. उन्होंने कहा कि यदि निर्वाचित निकाय पार्टी का नेतृत्व करते हैं तो उसके लिए संभावनाएं हैं अन्यथा कांग्रेस अगले 50 वर्षों तक विपक्ष में बैठी रहेगी.

उन्होंने कहा,’जब आप चुनाव लड़ते हैं तो कम से कम 51 प्रतिशत आपके साथ होते हैं और आप पार्टी के भीतर केवल 2 से 3 लोगों के खिलाफ चुनाव लड़ते हैं. एक व्यक्ति जिसे 51 प्रतिशत वोट मिलेंगे, अन्य को 10 या 15 प्रतिशत वोट मिलेंगे. जो व्यक्ति जीतता है और अध्यक्ष पद का प्रभार प्राप्त करता है, इसका मतलब है कि 51 प्रतिशत लोग उसके साथ हैं.

यह भी पढ़ें -  Budget Session 2023: बजट सत्र से पहले अपने संबोधन में इन मुद्दों पर बोली राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

चुनाव का लाभ है ये कि जब आप चुनाव लड़ते हैं, तो कम से कम आपकी पार्टी में 51 प्रतिशत लोग आपके पीछे खड़े रहते हैं. अभी, अध्यक्ष बनने वाले व्यक्ति के पास एक प्रतिशत समर्थन भी नहीं हो सकता है. यदि सीडब्ल्यूसी सदस्य चुने जाते हैं, तो उन्हें हटाया नहीं जा सकता. तो समस्या क्या है.’


उन्होंने आगे कहा, ‘जो दूसरे, तीसरे या चौथे स्थान पर रहेंगे वे सोचेंगे कि हमें कड़ी मेहनत करते हुए पार्टी को मजबूत करना होगा और अगली बार जीतना होगा. लेकिन, अभी जो अध्यक्ष चुना गया है उसे पार्टी के 1 प्रतिशत कार्यकर्ताओं का समर्थन भी नहीं है.’ उन्होंने चुनाव की मांग को दोहराते हुए कहा कि इससे पार्टी की नींव मजबूत होगी.

यह भी पढ़ें -  रामचंद्र गुहा ने कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' पर खड़े क‍िए सवाल, कहा-मार्च निकाल कर नहीं बल्कि...

पार्टी में चुनाव नहीं कराए जाने के परिणामों की तरफ ध्यान आकर्षित करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसी ऐसे शख्स को राज्य में पार्टी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त कर रही है जो दिल्ली में आता है और जिसके लिए पार्टी के बड़े नेताओं द्वारा सिफारिश की जाती है.


उन्होंने कहा, ‘हमें यह भी नहीं पता होता है कि ऐसे व्यक्तियों को 1 प्रतिशत या 100 प्रतिशत का समर्थन प्राप्त है. कई ऐसे हैं जिनके पास 1 प्रतिशत समर्थन भी नहीं है. पार्टी नेतृत्व के लिए ऐसा राज्य, जिले, सीडब्ल्यूसी चुनावों में होता है. व्यक्ति को हटाया जा सकता है लेकिन एक निर्वाचित व्यक्ति को नहीं हटाया जा सकता है. इसमें गलत क्या है.’

यह भी पढ़ें -  दिग्गज वकील और पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण का निधन, 97 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

उन्होंने उन नेताओं की कड़ी आलोचना की जो चुनावों का विरोध कर रहे हैं. आजाद ने कहा कि जो लोग वफादारी का दावा कर रहे हैं, वे वास्तव में सस्ती राजनीति कर रहे हैं और यह पार्टी तथा राष्ट्र के हितों के लिए नुकसानदायक हैं. आजाद ने कहा कि अगर मेरी पार्टी अगले 50 वर्षों के लिए विपक्ष में रहना चाहती है, तो पार्टी के भीतर चुनाव की कोई आवश्यकता नहीं है

.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,250FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

Ind Vs Nz: भारतीय गेंदबाजों के आगे निकला न्यूजीलैंड का दम, 66 रन पर...

0
टीम इंडिया ने बुधवार (एक फरवरी, 2023) को न्यूजीलैंड को तीसरे टी-20 में करारी मात दी. टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल और...

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तीनों फॉर्मेट में सबसे कम उम्र में सैकड़ा जड़ने वाले खिलाड़ी...

0
अहमदाबाद| टी20 फॉर्मेट में बल्लेबाजी की आलोचना करने वालों को अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में चल रहे युवा बल्लेबाज शुभमन गिल ने अहमदाबाद...

बजट 2023: शानदार बजट पेश करने के लिए सीएम धामी ने निर्मला सीतारमण को...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय बजट 2023 -24 हेतु केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को बधाई देते हुए कहा है कि पीएम मोदी...

बजट में मोदी सरकार ने देश को दिया बड़ा तोहफा, देश में खुलेंगे 50...

0
बुधवार को सदन में केंद्रीय बजट भाषण के दौरान, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी को घोषणा की कि देश...

वित्तीय वर्ष 2023-24 का बजट पेश, इनकम टैक्स में क्या बदला क्या नही जानिए

0
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्तीय वर्ष 2023-24 का बजट पेश कर दिया।यह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट है।...

वित्तीय वर्ष 2023-24 का बजट पेश जानिए गरीब वर्ग के लिए क्या है खास

0
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्तीय वर्ष 2023-24 का बजट पेश कर दिया। सरकार ने अलग-अलग वर्गों के लिए कई बड़े एलान किए...

जम्मू-कश्मीर: गुलमर्ग स्कीइंग रिजॉर्ट के पास भारी हिमस्खलन, 2 विदेशी टूरिस्ट की मौत

0
जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के गुलमर्ग में लोकप्रिय स्की रिसॉर्ट में बुधवार को आए हिमस्खलन के बाद दो विदेशी स्कीयर मारे गए, जबकि कई...

आम बजट 2023-24 पेश होते ही राजनीतिक हलचल किसी ने की तारीफ तो कोई दिखा...

0
बता दें कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश का आम बजट पेश कर दिया है। इस बार के बजट में महिलाओं,युवाओं और...

मोदी सरकार ने बजट 2023 के लिए दिया ‘सप्तर्षि’ सूत्र, जानें- क्या हैं ‘पीएम...

0
बजट भाषण में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार (एक फरवरी, 2023) को कुछ खास शब्दों का इस्तेमाल किया. उन्होंने इस दौरान पीएम...

उत्तराखंड: कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी के बिगड़े बोल, कहा- इंदिरा-राजीव की हत्या शहादत...

0
देहरादून| उत्तराखंड के बीजेपी सरकार में मंत्री गणेश जोशी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की हत्या को शहादत नहीं बल्कि ‘दुर्घटना’...
%d bloggers like this: