केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर का इस्तीफा

नई दिल्ली| शिरोमणी अकाली दल की नेता और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है. हरसिमरत कौर बादल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. हरसिमरत कौर ने संसद में पेश किये गये कृषि से संबंधित दो विधेयकों के विरोध में गुरुवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया.

कौर ने लिखा कि- “मैंने किसान विरोधी अध्यादेश और कानून के विरोध में केंद्रीय कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है. मुझे गर्व है कि मैं किसानों के साथ उनकी बेटी और बहन की तरह खड़ी हूं.”

इससे पहले शिरोमणी अकाली दल के सांसद और पार्टी अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने लोकसभा में कहा था कि पार्टी नेता और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल संसद में लाये गये कृषि संबंधी विधेयकों के विरोध में केंद्र सरकार से इस्तीफा देंगी.

कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक-2020 और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 पर चर्चा में भाग लेते हुए सुखबीर बादल ने कहा, ‘‘शिरोमणि अकाली दल किसानों की पार्टी है और वह कृषि संबंधी इन विधेयकों का विरोध करती है.’’ विधेयक का पुरजोर विरोध करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब के किसानों ने अन्न के मामले में देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिये महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

अकाली दल नेता ने लोकसभा में कहा, ‘‘ मैं एक घोषणा करना चाहता हूं कि हमारी मंत्री हरसिमरत कौर बादल मंत्रिमंडल से इस्तीफा देंगी.’’ उन्होंने इन आरोपों को खारिज कर दिया कि उनकी पार्टी ने प्रारंभ में इन अध्यादेशों का समर्थन किया था.

सुखबीर बादल ने कहा कि हरसिमरत कौर बादल ने मंत्रिमंडल की बैठक में चिंता प्रकट की थी और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को पत्र लिखकर प्रस्तावित कानून की खामियों को रेखांकित किया था. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि इस पार्टी का इस मुद्दे पर दोहरा मानदंड है और 2019 के लोकसभा चुनाव तथा 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में उसके घोषणा पत्र में एपीएमसी अधिनियम को खत्म करने का उल्लेख था.

निचले सदन में चर्चा के दौरान कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ शिरोमणि अकाली दल ने कभी भी यू-टर्न नहीं लिया.’’ बादल ने कहा, ‘‘हम राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के साथी हैं. हमने सरकार को किसानों की भावना बता दी. हमने इस विषय को हर मंच पर उठाया. हमने प्रयास किया कि किसानों की आशंकाएं दूर हों लेकिन ऐसा नहीं हो पाया.’’

उन्होंने कहा कि पंजाब में लगातार सरकारों ने कृषि आधारभूत ढांचा तैयार करने के लिये कठिन काम किया लेकिन यह अध्यादेश उनकी 50 साल की तपस्या को बर्बाद कर देगा.

गौरतलब है कि केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल मोदी सरकार में अकाली दल की एकमात्र प्रतिनिधि हैं. अकाली दल, भाजपा की सबसे पुरानी सहयोगी पार्टी है. चर्चा के दौरान कांग्रेस के रवनीत सिंह बिट्टू ने शिरोमणि अकाली दल पर चुटकी लेते हुए यह सबूत देने की मांग की कि हरसिमरत कौर बादल ने इन विधेयकों का विरोध किया था.

उन्होंने कहा कि अगर वह विधेयक के विरोध में इस्तीफा नहीं देती हैं तो बादल परिवार के लिये पंजाब में वापसी कठिन हो जायेगी.

यह भी पढ़ें -  अल्मोड़ा, नैनीताल और चंपावत में भारी बारिश का अलर्ट, कल स्कूलों में अवकाश घोषित

Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,248FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

नेशनल हेराल्ड मामले में ईडी जांच में शामिल हुए डीके शिवकुमार

0
कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख डी.के. शिवकुमार शुक्रवार को नेशनल हेराल्ड अखबार मामले की जांच में शामिल होने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मुख्यालय पहुंचे. एजेंसी...

ईडी की छापेमारी पर केजरीवाल बोले, ‘गंदी राजनीति के लिए अधिकारियों का समय किया...

0
शुक्रवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली शराब नीति 2021-22 के सिलसिले में सीबीआई और ईडी की ओर से की जा रही...

एक बार फिर बदला उत्तराखंड का मौसम पूर्वानुमान, अब तीन तक...

0
उत्तराखंड का मौसम पूर्वानुमान एक बार फिर बदल गया है, कल मौसम विभाग द्वारा 7 और 8 अक्टूबर को प्रदेश मे कई जगह रेड...

आखिरी तक पुलिस की नहीं आया गिरफ्त में: बॉबी कटारिया ने गोपनीय और नाटकीय...

0
यूट्यूबर बॉबी कटारिया वाकई बहुत शातिर निकला. उत्तराखंड पुलिस ने इसे पकड़ने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया, लेकिन आखिर तक पुलिस...

नोबल शांति पुरस्कार 2022: बेलारूस के मानवाधिकार कार्यकर्ता समेत दो संस्थाओं को मिला

0
नोबल शांति पुरस्कार 2022 का एलान कर दिया गया है. शांति का नोबल बेलारूस के मानवाधिकार कार्यकर्ता एलेस बियालियात्स्की के अलावा दो संस्थाओं मेमोरियल...

फिर टूटा रुपया, अब तक के सबसे निचले स्तर पर भारतीय मुद्रा

0
भारतीय रुपये की वैल्यू पिछले कुछ समय से बड़ी तेजी से कम हो रही है. रुपया लगातार एक के बाद एक नए निचले स्तर...
Uttarakhand News

उत्तरकाशी एवलॉन्च अपडेट, अब तक 19 शव बरामद, शेष ट्रेनी की खोजबीन जारी

0
उत्तरकाशी| उत्तरकाशी एवलॉन्च में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. एडवांस बेस कैंप/ दुर्घटना स्थल पर अभी तक 19 शव बरामद किये गए हैं. गुरुवार देर...

दिग्गज अभिनेता अरुण बाली का निधन, 79 की उम्र में ली अंतिम सांस

0
दिग्गज अभिनेता अरुण बाली का निधन हो गया है. मुंबई में उन्होंने आखिरी सांस ली. बताया जा रहा है कि वह न्यूरो संबंधी बीमारी...

राशिफल 07-10-2022: आज वृष राशि की आर्थिक स्थिति रहेगी मजबूत, जानिए अन्य का हाल

0
मेष: आज आपकी लोकप्रियता में वृद्धि संभव है. इस अवधि के दौरान व्यावसायिक संदर्भ में कुछ छोटी दूरी की यात्रा हो सकती है. शिक्षा...

07 अक्टूबर 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 07 अक्टूबर 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...
%d bloggers like this: