गृह मंत्रालय की चौंकाने वाली रिपोर्ट, अक्‍टूबर में फिर कहर ढा सकता है कोरोना- बच्‍चों को लेकर नहीं दिख रही तैयारी

नीति आयोग की ओर से हाल ही में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने को लेकर चेताया गया है. इसी के साथ ही अब गृह मंत्रालय के निर्देशन में गठित नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजास्‍टर मैनेजमेंट के विशेषज्ञों की कमेटी ने भी बेहद चौंकाने वाली रिपोर्ट पेश की है.

उनके अनुसार अक्‍टूबर में देश में कोरोना वायरस संक्रमण चरम पर होगा. तब ही कोरोना की तीसरी लहर भी संभव है. तीसरी लहर के दौरान बच्‍चों पर अधिक खतरा होने की आशंका है.

कोरोना वायरस संक्रमण पर एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर बच्‍चे बड़ी संख्‍या में कोरोना वायरस संक्रमण से संक्रमित होते हैं तो उनके लिए बाल चिकित्‍सा सेवाएं जैसे डॉक्‍टर, मेडिकल स्‍टाफ, वेंटिलेटर और एंबुलेंस जैसी सुविधाएं कहीं नहीं हैं. इस रिपोर्ट को प्रधानमंत्री कार्यालय में भेज दिया गया है.

इसी के साथ ही नीति आयोग के सदस्‍य वीके पॉल की प्रमुखता वाले समूह ने पिछले महीने सरकार को सुझाव दिए थे कि अगर भविष्‍य में कोविड 19 के मामले बढ़ते हैं तो प्रति 100 मामलों में 23 मामलों में अस्‍पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ेगी.

एक और अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार यह अनुमान सितंबर 2020 में दूसरी लहर से पहले समूह द्वारा दिए गए अनुमान से अधिक है, जब इसने गणना की थी कि गंभीर या मध्यम गंभीर लक्षणों वाले लगभग 20 फीसदी मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता होगी.

कोविड-19 की दूसरी लहर के बाद बड़ी संख्या में अस्पताल के बेड को अलग स्‍तर से निर्धारित करने की सिफारिश इस साल अप्रैल-जून में देखे गए पैटर्न पर आधारित है. कथित तौर पर अपने चरम के दौरान 1 जून को जब देश भर में सक्रिय केस लोड 18 लाख था तब 21.74% केस में अधिकतम मामलों वाले 10 राज्यों में अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता पड़ी थी. इनमें से 2.2% लोग आईसीयू में भर्ती थे.

नीति आयोग का कहना है कि और भी बदतर हालात के लिए हम लोगों को तैयार रहना चाहिए. आयोग ने एक दिन में 4 से 5 लाख कोरोना केस का अनुमान लगाया है. इसके साथ ही कहा है कि अगले महीने तक दो लाख आईसीयू बेड तैयार किए जाने चाहिए.

इनमें वेंटिलेटर के साथ 1.2 लाख आईसीयू बेड, 7 लाख बिना आईसीयू अस्पताल के बेड (इनमें से 5 लाख ऑक्सीजन वाले बेड) और 10 लाख कोविड आइसोलेशन केयर बेड होने चाहिए.

Related Articles

Latest Articles

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले सीएम धामी, इन विषयों पर की चर्चा

0
मंगलवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भेंट की. भेंट के दौरान मुख्यमंत्री ने गृह...

स्पीकर चुनाव को लेकर लिया गया फैसला, कांग्रेस ने अपने सभी सांसदों के लिए...

0
संसद सत्र शुरू हो गया है. 26 जून यानी कल लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होंगे. इसके लिए कांग्रेस ने लोकसभा में अपने...

पीएम मोदी से मिले सीएम धामी, तीसरी बार देश का प्रधानमंत्री बनने पर दी...

0
मंगलवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी से भेंट कर उन्हें तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री का दायित्व...

इन राज्यों में हुए सबसे ज्यादा पेपर लीक, दांव पर लगा लाखों उम्मीदवारों का...

0
नीट यूजी कंट्रोवर्सी ने एक बार फिर से पेपर लीक मुद्दे को हवा दे दी है. ये पहला मामला नहीं है जब पेपर लीक...

नए आपराधिक कानूनो को लागू करने लिए उत्तराखंड की तैयारी पूरी: सीएस राधा रतूड़ी

0
देशभर में 1 जुलाई 2024 से लागू होने वाले तीन नए आपराधिक कानूनों हेतु उत्तराखंड की तैयारी पूरी हो चुकी है. उत्तराखंड की मुख्य...

सीएम धामी ने दिल्ली के एम्स पहुंचकर जाना घायल वन कर्मियों का कुशलक्षेम

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पहुंचकर अल्मोड़ा के बिनसर वन्यजीव विहार में वनाग्नि हादसे में गम्भीर...

अबकी बार स्पीकर पद पर तकरार, ओम बिरला बनाम के. सुरेश के बीच जंग

0
लोकसभा स्पीकर पद के लिए अब एक बार फिर एनडीए और विपक्ष के बीच घमासान होने वाला है. एनडीए ने जहां ओम बिरला को...

अभी तिहाड़ जेल से बाहर नहीं आएंगे केजरीवाल, हाईकोर्ट ने जमानत पर लगाई रोक

0
दिल्ली शराब घोटाला केस में अरविंद केजरीवाल को बड़ा झटका लगा है. दिल्ली हाईकोर्ट ने जमानत पर रोक लगा दी है. हाईकोर्ट ने अपने...

काशीपुर-जसपुर मार्ग पर दो डंपरों आपस में भिड़े, चालक की जिंदा जलकर मौत

0
काशीपुर| उधमसिंहनगर ज़िले से बड़े सड़क हादसे की खबर सामने आ रही है. काशीपुर-जसपुर मार्ग पर टोल प्लाजा के पास मंगलवार सुबह दो डंपरों...

दिल्ली: सफदरजंग अस्पताल की पुरानी इमरजेंसी बिल्डिंग में आग, मौके पर फायर ब्रिगेड की...

0
राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल की पुरानी इमरजेंसी बिल्डिंग में आग लगने की खबर है. बताया जा रहा है कि पुरानी इमरजेंसी बिल्डिंग में...