पिथौरागढ़: पहाड़ी रास्तों पर 15 घंटे कंधे पर उठाकर घायल महिला को अस्पताल ले गए आईटीबीपी जवान

भारत-चीन के सीमावर्ती इलाकों में तैनात भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (ITBP) के हिमवीर अपने हिम्मत और साहस के लिए जाने जाते हैं. लेकिन कई बार ऐसा मामला देखने को मिलता है कि जिस सीमावर्ती इलाकों में इनकी तैनाती होती है, उस इलाके में रहने वालों के लिए यह जवान किसी वरदान से कम नहीं होते.

उत्तराखंड के पहाड़ों पर ऐसा ही एक मामला देखने को मिला है. आईटीबीपी के जवानों ने एक घायल महिला को 40 किलोमीटर अपने कंधों पर उठाकर रेस्क्यू किया, 15 घंटे चलकर उसे सड़क मार्ग तक पहुंचाया. ग्रामीणों ने इसके लिए सीमाओं के इन प्रहरियों का दिल खोलकर शुक्रिया अदा किया.

मिली जानकारी के मुताबिक पिथौरागढ़ जिले की अग्रिम चौकी के नजदीक सीमांत लास्पा गांव में एक स्थानीय महिला पहाड़ से गिरकर घायल हो गई थी. आईटीबीपी के जवानों ने घायल महिला को लगभग 40 किलोमीटर फिसलन, उफनते नालों, भूस्खलन और खतरों से भरे मार्ग पर पैदल चलकर मोटर मार्ग तक पहुंचाया. जहां से उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया.

बीते 20 अगस्त को यह महिला अपने घर से कुछ दूर अचानक एक पहाड़ी से नीचे गिर गई थी. इस हादसे में उसका पैर टूट गया और उसकी स्थिति बहुत गंभीर हो गई थी. खराब मौसम होने की वजह से हेलीकॉप्टर देहरादून से बरेली तक ही आ सका. आईटीबीपी के जवानों ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय मिलम से पीड़ित महिला को मुनस्यारी मोटर मार्ग तक पहुंचाने की कोशिशें शुरू कर दीं.

जवानों ने घायल महिला को स्ट्रेचर की मदद से अपने कंधों पर 22 अगस्त को देर रात तक मुंसियारी मोटर मार्ग तक पहुंचाया. जहां से उसे जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है. इलाज के बाद महिला की स्थिति अब स्थिर है.

इस अभियान में आईटीबीपी के 25 जवानों ने लगातार पहाड़ी ढलानों और उबड़-खाबड़ रास्तों पर चलते हुए घायल महिला को स्ट्रेचर के सहारे सुरक्षित सड़क मार्ग तक पहुंचाया. बरसात के चलते मोटर मार्ग कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त होने से वाहनों के चलने योग्य सड़क मार्ग तक पहुंचाने में जवानों को दिन भर से ज्यादा का समय लग गया.

पहले यह जवान अपनी चौकी से 22 किलोमीटर दूर पैदल चलकर लास्पा गांव पहुंचे और फिर स्ट्रेचर में महिला को उठाकर देर शाम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुनस्यारी पहुंचे जहां उसका इलाज संभव हो सका.

Related Articles

Latest Articles

तुंगनाथ में श्रद्धा और अभिषेक ने भरतनाट्यम कर बनाया रिकॉर्ड, अगला लक्ष्य पंचकेदार

0
तुंगनाथ जो कि दुनिया के सबसे ऊंचे शिव मंदिर में दो युवा कलाकारों, श्रद्धा बछेती और अभिषेक यादव ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर...

वट सावित्री व्रत 2024: कब है वट सावित्री व्रत! जानिए पूजा विधि-मुहूर्त

0
वट सावित्री व्रत, जिसे सावित्री अमावस्या या वट पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है, इस साल ये व्रत 6 जून 2024 को...

गंगा दशहरा 2024: इस साल कब है गंगा दशहरा! जानिए पूजा विधि-शुभ मुहूर्त

0
गंगा दशहरा हिंदुओं का एक प्रमुख त्योहार है जिसका हिंदू धर्म में बड़ा धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व है. गंगा दशहरा ज्येष्ठ माह के शुक्ल...

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ कैंची धाम में, चंदन लगाकर किया स्वागत

0
गुरुवार को उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कैंची धाम पहुंचकर बाबा नीब करौरी महाराज के दर्शन किए और पूजा अर्चना की। इस अवसर पर स्थानीय...

T20 WC 2024: टीम इंडिया- पाक मैच में आतंकी हमले का खतरा, बढ़ाई गई...

0
न्यूयॉर्क|…. टी20 वर्ल्ड कप के बहुतप्रतीक्षित भारत-पाकिस्तान मुकाबले में आतंकी हमले का खतरा मंडरा रहा है. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने न्यूयॉर्क में होने...

लोकसभा चुनाव: अंतिम चरण के चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन, पीएम मोदी समेट...

0
लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन है. आज शाम 6 बजे अंतिम चरण के चुनाव प्रचार...

दिल्ली: अब मौसम विभाग ने मंगेशपुर के तापमान को लेकर दी ये सफाई

0
देश की राजधानी दिल्‍ली के मौसम के इतिहास में बुधवार को जो कुछ हुआ वो इससे पहले कभी भी नहीं हुआ था. मौसम विभाग...

30 मई 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 30 मई 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

राशिफल 30-05-2024: आज इन राशियों का चमकेगा भाग्य, पढ़ें मेष से मीन तक का...

0
मेष-: कार्यक्षेत्र में आज आपको कुछ अप्रत्याशित चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन उन्हें हतोत्साहित न होने दें. इसके बजाय, एक रचनात्मक...

डीआरडीओ ने किया रुद्राएम-2 मिसाइल का सफल फ्लाइट टेस्ट, जानें इसकी सटीकता और ताकत

0
रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने बुधवार की सबसे शानदार मिसाइल रुद्राएम-2 मिसाइल को सू-30 एमकेआई फाइटर जेट से सफल परीक्षण किया गया....