जानिए क्यों लगी होती है मेट्रो और रेलवे स्टेशन पर पीले रंग की उबड़-खाबड़ टाइल्स, ये होती है खास वजह

आप जब रेलवे स्टेशन या मेट्रो स्टेशन जाते हैं तो देखतें हैं कि वहां पीले रंग की उबड़ खाबड़ टाइल्स लगी होती है. ये टाइल्स स्टेशन पर सीधे और कुछ-कुछ दूरी पर गोल आकार में होती हैं.

आप से पूछा जाए कि यह क्यों लगी होती है तो ज्यादातर लोगों का जवाब होगा कि यह आपको स्टेशन पर फिसलने से रोकने के लिये हैं, लेकिन आप का यह जवाब गलत है. आप को बताते हैं कि आखिर मेट्रो और रेलवे स्टेशनों पर यह टाइल्स क्यों लगी होती है.

फिसलने से रोकने नहीं बल्कि सही दिशा दिखाने के लिए लगी होती हैं ये टाइल्स मेट्रो से लेकर रेलवे स्टेशनों पर लगी पीले रंग की यह टाइल्स फिसलने से रोकने के लिए नहीं होती है.

यह भी पढ़ें -  गोधरा कांड: बिलकिस बानो गैंगरेप केस में उम्रकैद की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, इन नीति के तहत आए बाहर

पीले रंग की उबड़ खाबड़ गोल और लाइन वाली टाइल्स दृष्टिहीन लोगों को सही दिशा दिखाने के लिए लगी होती है. स्टेशन पर लगी उबड़ खाबड़ टाइल्स की मदद से दृष्टिहीन लोग स्टेशन पर एंट्री कर ट्रेन तक पहुंच पाते हैं.

यहां पीले रंग की लाइन वाली टाइल्स का सीधे चलने का संकेत देती हैं. जबकि इन टाइल्स में गोल वाले प्वाइंट रुकने का संकेत देते हैं. इन टाइल्स की मदद से दृष्टिहीन लोग स्टेशन से रेल और उससे बाहर निकल सकते हैं.

यह भी पढ़ें -  बिहार: नीतीश सरकार के 31 नए चेहरे, देखिए कैबिनेट की पूरी लिस्ट

रेलवे और मेट्रो स्टेशन पर लगी पीले रंग की उबड़ खाबड़ टाइल्स को टैक्टाइल पाथ कहा जाता है. यह टाइल्स दृष्टिहीन लोगों के अलावा रेलवे और मेट्रो इंजीनिर्यस को भी एक फायदा देती है. मेट्रो स्टेशन हो या रेलवे स्टेशन यहां पर तमाम तरह की वायर, पाइप और केबल को अंडर ग्राउंड एक से दूसरी जगह पर कनेक्ट किया जाता है.

यह भी पढ़ें -  काली मिर्च के ये 11 फायदे जानकर आप रह जाएंगे हैरान

स्टेशन पर लगने वाली इन केबल, पाइप और वायर को टैक्टाइल पाथ के नीचे से ही ले जाया जाता है. इनमें जब भी कोई समस्या आती है तो इंजीनियर्स आसानी से इन टाइल्स को हटाकर केबल, पाइप और वायर को कनेक्ट कर देते हैं. इसके बाद इन टाइल्स को फिर से लगा दिया जाता है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

हल्द्वानी: 38 साल बाद ‘सियाचिन हीरो’ चंद्रशेखर हरबोला पंचतत्व में विलीन, बेटियों ने दी...

0
हल्द्वानी| लांस नायक चंद्रशेखर हरबोला का अंतिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ आज रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया. शहीद लांसनायक चंद्रशेखर...

सीएम धामी ने लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर दी...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 1984 में सियाचिन में ऑपरेशन मेघदूत के दौरान शहीद हुए लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित...

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक पर 3 कमांडो बर्खास्त

0
भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक के मामले में गृह मंत्रालय ने एक्शन लेते हुए 3 कमांडो को सर्विस...

बढ़ते कोरोना के मामलों को देख डीजीसीए सख्त, एयरलाइन्स को दिए ये निर्देश

0
देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए सख्त हो गया है. डीजीसीए ने एयलाइन्स को निर्देश दिए...

क्या अब 5 साल तक के बच्चों की भी लेनी होगी ट्रेन टिकट! जानिए...

0
कई लोग ट्रेन से यात्रियों के साथ सफर करते हैं. बच्चों के साथ आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे कई सुविधाएं प्रदान करती है,...

यूपी: लखनऊ में अनोखी चोरी, कैडबरी के गोदाम में धावा बोलकर चोर 17 लाख...

0
आपने आज तक चोरी की कितनी ही खबरें और कहानियां पढ़ी और सुनी होंगी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चोरी की एक...

धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों में किया फेरबदल

0
धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों के कार्यों में फेरबदल किया है. शासन की ओर से बुधवार को इसके...

घी संक्रांति 2022: उत्तराखंड में हर्षोल्लास के साथ मनाई जा रही है घी संक्रांति,...

0
उत्तराखंड की संस्कृति और विरासत अपने आप में कई ऐसे पर्वों को भी समेटे हुई है, जिनका यहां की संस्कृति में खास महत्व है....

हिमाचल प्रदेश: कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष पवन काजल भाजपा में...

0
शिमला| बुधवार को हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष पवन काजल भाजपा में शामिल हो गए हैं. उनके अलावा, कांग्रेस के नालागढ़ से...

बीजेपी ने अपने संसदीय बोर्ड में किया बड़ा बदलाव, नितिन गडकरी- शिवराज सिंह चौहान...

0
2024 आम चुनाव के मद्देनजर बीजेपी ने अपने संसदीय बोर्ड में बड़ा बदलाव किया है. नए संसदीय बोर्ड के ऐलान की खास बात यह...
%d bloggers like this: