जानिए क्या है टूलकिट मामला और देशद्रोह के इल्ज़ाम में गिरफ्तार दिशा रवि कौन हैं

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के विरोध में महीनों से जारी किसान आंदोलन में कई चेहरे सुर्खियों में आ रहे हैं, उनमें से ताज़ा नाम दिशा रवि का है. दिल्ली की एक अदालत ने 21 साल की क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा को पांच दिनों की पुलिस कस्टडी में भेजने का आदेश दिया, तो कई सवाल चर्चा में आ गए कि क्यों दिशा को अरेस्ट किया गया, क्या आरोप हैं और आखिर ग्रेटा थनबर्ग की ‘टूलकिट’ मुहिम से जुड़ी दिशा आखिर हैं कौन? आपको ये भी बताएंगे कि यह टूलकिट मामला क्या है.

बीते शनिवार को बेंगलूरु से दिल्ली पुलिस ने जिस दिशा को गिरफ्तार किया, वो अस्ल में ‘फ्राइडे फॉर फ्यूचर’ (FFF) नाम के अभियान की फाउंडर हैं. दिशा पर आरोप है कि उन्होंने सोशल मीडिया पर ‘टूलकिट’ का न केवल प्रसार किया, बल्कि उसे सोशल मीडिया पर फॉरवर्ड भी किया. जानिए ये पूरा माजरा क्या है.


कौन हैं दिशा रवि?
क्लाइमेट चेंज के मुद्दे पर नेताओं को सही ​फैसले लेने के लिए मजबूर करने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय मुहिम है कि स्कूल के बच्चे हर शुक्रवार को क्लास अटेंड करने के बजाय विरोध प्रदर्शन करते हैं. इस मुहिम के भारतीय संस्करण FFF की फाउंडर दिशा हैं, जो बेंगलूरु बेस्ड एक्टिविस्ट हैं और अपनी ग्रैजुएशन माउंट कार्मल कॉलेज से पूरी कर चुकी हैं.

पर्यावरण संकट को मुख्यधारा में लाने वाले दुनिया के चार अहम अश्वेत एक्टिविस्टों की लिस्ट में ब्रिटिश मैगज़ीन वोग ने दिशा को एक माना था. न्यूज़ पोर्टलों समेत सोशल मीडिया पर दिशा नियमित रूप से कॉलम लिखती हैं और युवा व किशोर एक्टिविस्टों के लिए क्लाइमेट के मुद्दों पर फोरम का संचालन करती हैं.

एक्टिविस्ट क्यों बनीं दिशा?
खबरों की मानें तो दिशा का परिवार बाढ़ का शिकार हो गया था और उनका घर बुरी तरह चपेट में आया था. यहां से दिशा ने इसके कारण तलाशने शुरू तो किए ही, साथ ही उन्होंने आवाज़ उठाई कि इस तरह की त्रासदियों के लिए राजनेताओं की जवाबदेही तय की जाए. दिशा का मानना है कि बाढ़, भारी बारिश से होने वाली तबाही के लिए सीधे तौर पर राजनीति ज़िम्मेदार है क्योंकि वो ‘ढीले कदम’ ही उठाती रही है. दिशा मानती हैं कि पानी को लेकर जो संकट बने हुए हैं और इनसे लाखों नहीं करोड़ों लोग जूझ रहे हैं, उसके लिए राजनीति को अपनी भूमिका ठीक ढंग से निभाना ही होगी.

आखिर गिरफ्तार क्यों की गईं दिशा?

दिशा पर आरोप है कि​ ट्विटर पर ग्रेटा थनबर्ग ने जो ‘टूलकिट’ शेयर की थी, दिशा ने उसे एडिट किया और सोशल मीडिया पर फॉरवर्ड किया. दिल्ली की एक कोर्ट में पुलिस ने कहा कि भारत की सरकार के खिलाफ एक बड़ी साज़िश में कथित खालिस्तानी मूवमेंट की भूमिका को लेकर दिशा से पूछताछ करना ज़रूरी है.

दिशा का मोबाइल फोन ज़ब्त कर लेने की बात भी पुलिस ने कही. पुलिस के मुताबिक ‘टूलकिट’ केस में दिशा महत्वपूर्ण कड़ी हैं क्योंकि दिशा ने इसे एडिट करने और फॉरवर्ड करने की बात कबूल की है. खबरों के मुताबिक दिशा ने कोर्ट में रोते हुए कहा कि किसान आंदोलन को सपोर्ट करने के मकसद से उन्होंने टूलकिट में सिर्फ दो लाइनें बदली थीं.

कैसे हो रही है टूलकिट जांच?
दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया पर प्रचारित व प्रसारित टूलकिट से जुड़ी जानकारियों के लिए गूगल से संपर्क किया है. टूलकिट में दो ईमेल आईडी, एक इंस्टाग्राम अकाउंट और एक URL का ज़िक्र बताया गया है, जिनके बारे में पुलिस ने जानकारी चाही है. टूलकिट क्रिएट करने वालों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने 4 फरवरी को राजद्रोह, आपराधिक साज़िश और नफ़रत फैलाने का केस सेक्शन 124-A, 120-A व 153-A के तहत दर्ज किया था.

पुलिस का दावा है कि लाल किले पर 26 जनवरी के दौरान हुए हिंसक प्रदर्शनों में एकदम वही तरीके अपनाए गए, जैसे टूलकिट में बताए गए थे. आपको बताते हैं कि अस्ल में यह टूलकिट है क्या बला!

टूलकिट को कैसे समझा जाए?
किसान आंदोलन के समर्थन में स्वीडन की पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने सोशल मीडिया पर आंदोलन कैसे करना है, इसकी जानकारी को साझा किया और इसे ही टूलकिट के नाम से समझा जा रहा है. टूलकिट में किसान आंदोलन को बढ़ाने के लिए ज़रूरी कदमों, हैशटैग लगाने, प्रचार करने जैसी जानकारियां दी हैं.

टूलकिट में ये भी बताया जाता है कि आंदोलन के खिलाफ पुलिस एक्शन ले तो क्या किया जाए, कोई और मुश्किल आए तो कॉंटैक्ट या रिसोर्स पर्सन कौन हों और सोशल मीडिया पर पोस्ट के वक्त हिदायतें भी टूलकिट में हैं. यही टूलकिट भारत में जारी किसान आंदोलन के संदर्भ में विवादों में घिर गई है.

यह भी पढ़ें -  उपराष्ट्रपति चुनाव की काउंटिंग शुरू: एनडीए उम्मीदवार धनखड़ की जीत तय, भाजपा खेमे में जश्न शुरू, अल्वा विपक्ष को नहीं कर सकीं एकजुट

साभार-न्यूज़ 18

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,241FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

8 अगस्त 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 8 अगस्त 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

IND vs WI, 5th T20I: टीम इंडिया ने पांचवें टी20 में भी वेस्टइंडीज को...

0
रविवार को फ्लोरिडा में विंडीज के खिलाफ खत्म हुयी पांच टी20 मैचों की सीरीज के आखिरी मुकाबले में टीम इंडिया ने वेस्ट इंडीज को...

सीएम धामी ने पीएम मोदी अध्यक्षता में आयोजित नीति आयोग की बैठक में किया...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आयोजित नीति आयोग की शासी परिषद की 7 वीं बैठक...

देहरादून: मसूरी में रोडवेज बस अनियंत्रित होकर पलटी, यात्रियों ने खिड़कियों से कूदकर बचाई...

0
देहरादून|.... रविवार दोपहर मसूरी लाइब्रेरी मार्ग पर आईटीबीपी गेट के पास एक दर्दनाक हादसा हो गया. यहां एक यात्रियों से भरी रोडवेज बस अनियंत्रित...

CWG 2022: निकहत जरीन ने जड़ा गोल्डन पंच, भारत को दिलाया 17वां गोल्ड

0
वर्ल्ड चैंपियन मुक्केबाज निकहत जरीन ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भी गोल्ड मेडल अपने नाम किया है. 26 वर्षीय निकहत इसी साल मई में वर्ल्ड...

CWG 2022: 16 साल बाद भारतीय महिला हॉकी टीम ने जीता मेडल, शूटआउट में...

0
भारतीय महिला हॉकी टीम ने बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 (Commonwealth Games) में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है. भारत ने ब्रॉन्ज मेडल मुकाबले...

मिस यूनिवर्स हरनाज कौर संधू को कोर्ट ने जारी किया नोटिस, पढ़े पूरा मामला

0
चंडीगढ़ की एक अदालत ने अभिनेत्री उपासना सिंह द्वारा फिल्म प्रमोशन विवाद से जुड़े दायर एक मामले में मिस यूनिवर्स हरनाज कौर संधू को...

एनआईए की बड़ी कार्रवाई, दिल्ली के बाटला हाउस से दबोचा आईएसआईएस का एक्टिव मेंबर

0
स्वतंत्रता दिवस से पहले राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने दिल्ली में तलाशी अभियान चलाया और आईएसआईएस मॉड्यूल मामले की गतिविधियों में कथित रूप से...

CWG 2022: CWG 2022: दक्षिण अफ्रीका को मात देकर फाइनल में पहुंची भारतीय पुरुष...

0
बर्मिंघम|.... भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने शनिवार को बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका को 3-2 के अंतर से मात देकर फाइनल में...

सांप्रदायिक तनाव के बाद मणिपुर के कई जिलों में 5 दिन के लिए इंटरनेट...

0
सांप्रदायिक तनाव के बाद मणिपुर सरकार ने राज्य में कई जिलों में इंटरनेट सेवा 5 दिनों के लिए बंद कर दी है. राज्य सरकार...
%d bloggers like this: