आखिर बीजेपी पुडुचेरी में सरकार बनाना क्यों नही चाह रही! पांच पॉइंट में समझे गेम प्लान

पुडुचेरी| सोमवार को हुए फ्लोर टेस्ट में नारायणसामी की सरकार फेल हो गई और पुडुचेरी में कांग्रेस-डीएमके गठबंधन की सरकार गिर गई. सरकार गिरने के बाद राज्यपाल ने यहां राष्ट्रपति लगाने की सिफारिश कर दी है.

ऐसा माना जा रहा था कि बीजेपी यहां अब अपनी सरकार बनाने का दावा पेश करे, लेकिन पुडुचेरी के बीजेपी अध्यक्ष ने इन अटकलों को खारिज कर दिया. पुडुचेरी के बीजेपी अध्यक्ष वी सामीनाथन ने कहा कि बीजेपी वहां सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करेगी, क्योंकि पार्टी शॉर्ट-कट पर भरोसा नहीं करती.

सामीनाथन ने ये भी कहा कि उनकी पार्टी के सहयोगी एनआर भी यहां सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करेगी. सामीनाथन ने कहा कि उनका या उनकी पार्टी का नारायणसामी की सरकार को गिराने में कोई हाथ नहीं है. जो कुछ भी हुआ है वो नारायणसामी की गलत नीतियों के कारण हुआ है, उनकी ही पार्टी के लोगों ने नाराज होकर उनका साथ छोड़ा, ऐसे में हम क्या कर सकते हैं.

आइए 5 पॉइंट्स में जानते हैं पुडुचेरी में क्या है बीजेपी का गेमप्लान:-

  1. बीजेपी सत्ता में आने के बाद से कांग्रेस-मुक्त भारत होने के अपने इरादे घोषित कर चुकी है. पार्टी कांग्रेस और उसके नेतृत्व को यथासंभव बदहाल स्थिति में दिखाने के मिशन पर है. एक बीजेपी नेता कहते हैं, ‘मध्य प्रदेश, गोवा, मणिपुर और अरुणाचल में विपक्षी पार्टी कांग्रेस की हार ने उसकी छवि एक ऐसी पार्टी की बन गई है, जो न तो शासन कर सकती है और न ही अपने लोगों को एकजुट करके रख पाती है. इस पार्टी की विचारधारा भी अब देश के लिए प्रासंगिक नहीं है.’
यह भी पढ़ें -  जानें 2023 के लिए बाबा वेंगा की चौंकाने वाली भविष्यवाणियां

बीजेपी नेता आगे कहते हैं, ‘पुडुचेरी में जो कुछ हुआ, वो बस कांग्रेस के लिए एक एड ऑन था. बीजेपी वहां सरकार बनाने का दावा पेश नहीं कर रही है, लेकिन यह सिर्फ उस बात को स्पष्ट करती है कि बीजेपी कांग्रेस मुक्त राष्ट्र का निर्माण कर रही है.’

  1. इस बीजेपी नेता के अनुसार, ‘चुनावों के परिणाम जो भी हो, ये बीजेपी के लिए फायदेमंद ही साबित होगा, क्योंकि कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले पांच विधायकों में से तीन पहले ही बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. अन्य लोगों से भी उम्मीद की जाती है कि वे निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़े. बीजेपी नेता ने कहा,’ उन्होंने कहा, ‘इससे ​​राज्य में कांग्रेस कमजोर होगी और शायद अपने सहयोगी डीएमके को भी मजबूत कर सकती है.’
  2. बीजेपी नेताओं ने कहा कि पार्टी लंबे समय से असंतुष्ट कांग्रेस विधायकों के संपर्क में थी. क्योंकि आंतरिक असंतोष से नारायणसामी सरकार कमजोर हो गई थी, कांग्रेस का नेतृत्व पुडुचेरी में हस्तक्षेप करने में विफल रहा. असंतुष्ट विधायक किसी भी समय सरकार को गिरा सकते थे. एक भाजपा नेता ने दावा किया, ‘हालांकि, यह कदम चुनाव के एक दिन पहले किया गया था, ताकि विद्रोही अपने समर्थकों को उत्साहित कर सकें.’ बीजेपी नेता ने कहा, ‘जब चुनाव से ठीक पहले विद्रोह होता है, तो इस पर रोक लगाना आसान होता है.
  3. बीजेपी नेताओं के मुताबिक, ‘किरण बेदी के उपराज्यपाल रहते, कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने के लिए उठाया गया कोई भी कदम आखिरकार बीजेपी की छवि के लिए अच्छी बात नहीं थी. उपराज्यपाल और मुख्यमंत्री नारायणसामी के बीच लंबे समय से चली आ रही लड़ाई के कारण बीजेपी और केंद्र सरकार दोनों की छवि को चोट पहुंच सकती थी. बीजेपी के एक पदाधिकारी कहते हैं, ‘बेदी को पद से हटाकर, हमने क्षति को नियंत्रित किया है. अगर बेदी पद पर बनी रहतीं, तो पार्टी और केंद्र सरकार को दोषी ठहराया जाता.’
  4. बीजेपी के पदाधिकारी के मुताबिक, पुडुचेरी में जो हुआ, वो सिर्फ किरण बेदी को हटाने के लिए नहीं था. बल्कि ये बीजेपी की योजना का हिस्सा था. तमिलिसाई सुंदरराजन को एल-जी बनाने से न केवल पार्टी को आलोचना से बचने में मदद मिली, बल्कि इस पद पर एक तमिलियन होने से भी बीजेपी को अपनी विचारधारा को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है.
यह भी पढ़ें -  सीएमआई आंकड़ों के मुताबिक उत्तराखंड में कम हुई बेरोजगारी दर

हालांकि, बीजेपी नेताओं ने माना कि नई सरकार को एक साथ लाने के प्रयास नारायणसामी के लिए सहानुभूति पैदा कर सकते हैं. राज्य में नई सरकार के लिए एन आर कांग्रेस की मांग पर पार्टी ने अभी कोई फैसला नहीं लिया है.

साभार-न्यूज़ 18

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,251FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

सीएमआई आंकड़ों के मुताबिक उत्तराखंड में कम हुई बेरोजगारी दर

0
देश में छत्तीसगढ़ के बाद उत्तराखंड में नवंबर माह में सबसे कम बेरोजगारी दर देखने को मिली। बता दे कि सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन...

उत्तराखंड: रेल का सफर करने वाले यात्रियों के लिए जरूरी सूचना, 3 महीने के...

0
देहरादून| मौसम बदलते ही मैदानी इलाकों में कोहरे का असर दिखने लगा है. सुबह की शुरुआत हल्की धुंध के साथ हो रही है. घने...

बड़ी ख़बर: रामनगर में 26 साल के युवक की हत्या, पुलिस चौकी के पीछे...

0
उत्तराखंड के रामनगर से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। जहां युवक की हत्या से सनसनी फैल गई है। बता दे कि...

गूगल की सर्जिकल स्ट्राइक, हजारों यूट्यूब चैनल किए बंद

0
वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब पर आप भी वीडियो देखना पसंद करते हैं तो आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि गूगल ने...

हरिद्वार में पिटबुल डाग का आतंक, नौ साल के बच्‍चे पर किया जानलेवा हमला

0
एक बार फिर ख़तरनाक पिटबुल डाग के आतंक का मामला सामने आया है। यह घटना हरिद्वार के कनखल की मिश्रा गार्डन कालोनी की है...

ताजमहल निर्माण पर याचिका की सुनवाई से सुप्रीमकोर्ट का इंकार, कहा-किसी इमारत की...

0
ताजमहल के निर्माण के बारे में अब तक गलत जानकारी दिए जाने का दावा करने वाली याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने मना...

JNU मामले पर बोले हरियाणा के गृहमंत्री, ऐसी सोच देश के लिए है घातक

0
जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी कैंपस की इमारतों पर लिखे गए ब्राह्मण विरोधी नारों को देखते ही देश में आक्रोश का मौहोल है। इतना ही नहीं...

क्या एग्जिट पोल सनसनी हैं या वाकई होते हैं विश्वसनीय, क्या होती है इसकी...

0
हिमाचल प्रदेश और गुजरात में 05 दिसंबर को शाम 06 बजे के बाद जब चुनाव आयोग मतदान खत्म करने की घोषणा के साथ वोटिंग...

बड़ी ख़बर: चमोली में वाहन दुर्घटना, दो की मौत, तीन घायल

0
उत्‍तराखंड में चमोली जिले के गोपेश्वर घिंघराण मोटर मार्ग पर रविवार देर रात एक बड़ा हादसा हो गया। बताया जा रहा है कि यह...

देहरादून: पूर्व सीएम हरीश रावत का बड़ा बयान, ‘पाक कमजोर स्थिति में-पीओके वापस लेने...

0
देहरादून| उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि मौजूदा समय में पाकिस्तान कमजोर स्थिति में है तो ऐसे में हम पीओके (PoK)...
%d bloggers like this: