मोदी सरकार की ‘सपनों की बुलेट ट्रेन हुई लेट’, देशवासियों को 5 साल और करना होगा इंतजार


आज हम उस बात की चर्चा करेंगे जिसको वर्ष 2014 में केंद्र की सत्ता पर काबिज होने के बाद मोदी सरकार ने देश को दिखाया था. जनता भी भाजपा सरकार की परियोजना का बेसब्री से इंतजार कर रही थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस परियोजना को लेकर खूब उत्साहित रहते थे. हम बात कर रहे हैं देश में बुलेट (हाई स्पीड ट्रेन की दौड़ाने की ) भाजपा नेता देश में बुलेट चलाने को लेकर चुनाव रैलियों में इसे मुद्दा भी बनाते रहे हैं. इस ट्रेन को लेकर देश में ‘राजनीति’ भी खूब हुई थी. महाराष्ट्र की शिवसेना और कांग्रेस ने मोदी सरकार पर बुलेट ट्रेन चलाए जाने पर कई बार तंज भी कसा था.

केंद्र की भाजपा सरकार की ओर से पहले कहा जा रहा था कि हम देश में हर हाल में ‘साल 2022’ तक बुलेट ट्रेन दौड़ा देंगे. उसके बाद मोदी सरकार ने तकनीकी कारणों के चलते इसे एक साल और वर्ष 2023 में शुरू करने की बात कही थी. लेकिन अब जनता को 5 वर्ष और इंतजार करना होगा अपने ‘सपनों की ट्रेन’ में बैठने के लिए. बुलेट ट्रेन को वर्ष 2028 में चालू होने से ‘मोदी सरकार को जबरदस्त झटका लगा है’.‌ दूसरी ओर वे लोग जो हाई स्पीड ट्रेन में बैठने के लिए उम्मीद लगाए हुए थे वह भी भाजपा सरकार पर सवाल उठा रहे हैं. बता दें कि मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना में अब पांच साल की और देरी होने के ये कारण बताए जा रहे हैं.

जापानी कंपनियों की कम हिस्सेदारी, नीलामी के लिए बोली लगाने वालों के अनुचित रेट की वजह से कैंसल टेंडर, भूमि अधिग्रहण में देरी, कोरोना महामारी, अंडरग्राउंड प्रोजेक्ट जैसी वजहों से पीएम नरेंद्र मोदी के दिल के बेहद करीब माने जाने वाली ये परियोजना अब देर से पूरी हो सकती है। मोदी सरकार भी मान कर चल रही है कि यह हाई स्पीड ट्रेन 2028 से पहले शुरू नहीं की जा सकती है.


कांग्रेस और शिवसेना ने कहा था, भाजपा की यह ट्रेन आम लोगों के लिए नहीं है
भाजपा सरकार के अहमदाबाद से मुंबई हाई स्पीड ट्रेन चलाने पर देश में सियासत भी खूब हुई थी. वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस और शिवसेना समेत कई विपक्षी दलों के नेताओं ने इसे मोदी सरकार की ‘इलेक्शन ट्रेन’ बताया था.‌ यही नहीं पिछले वर्ष नवंबर माह में जब महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा और शिवसेना का गठबंधन टूट गया था तब कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना ने राज्य में सरकार बनाई थी. उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने के बाद शिवसेना ने बुलेट ट्रेन के लिए महाराष्ट्र सीमा में जमीन अधिग्रहण न देने को लेकर मोदी सरकार को धमकी भी दी थी.

शिवसेना ने कहा था कि देश की जनता ने कभी बुलेट ट्रेन चलाने की मांग नहीं की. यह सिर्फ भाजपा सरकार का ही सपना है, आम लोगों का नहीं. शिवसेना ने कहा था पीएम मोदी यह हाई स्पीड ट्रेन से अमीर उद्योगपति के लिए चला रहे हैं. दूसरी ओर कांग्रेस में इस ट्रेन को चलाए जाने पर भाजपा सरकार पर निशाना साधा था. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मलिकार्जुन खड़गे ने कहा कि बुलेट ट्रेन यूपीए सरकार का प्रोजेक्ट था, इसे भाजपा सरकार अपना श्रेय ले रही है.


सितंबर 2017 में पीएम मोदी बुलेट ट्रेन की रखी थी आधारशिला

यहां हम आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने सितंबर वर्ष 2017 में गुजरात के अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन चलाने की आधारशिला रखी थी. उसके बाद पीएम मोदी ने देश की जनता को बड़े जोर-शोर से संबोधित करते हुए कहा था कि आजादी के 70 साल बाद इस प्रोजेक्ट का भूमि पूजन हुआ है, जब 2022 में आजादी के 75 साल पूरे होंगे तब मैं और शिंजो आबे बुलेट ट्रेन में एक साथ बैठेंगे.

(हालांकि खराब स्वास्थ्य के चलते पिछले दिनों जापान के प्रधानमंत्री शिंजो ने इस्तीफा दे दिया है) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जब मैं गुजरात का सीएम था तो लोग कहते थे कि मोदी बुलेट ट्रेन कब लाएंगे, अब यह ट्रेन आ गई है तो लोग कह रहे हैं कि बुलेट ट्रेन क्यों ला रहे हो.

यह भी पढ़ें -  स्‍टार शटलर लक्ष्य सेन पर एफआईआर, उम्र में धोखाधड़ी का आरोप

बुलेट ट्रेन की आधारशिला के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, ‘आज भारत ने बहुत अहम कदम उठाया है, मैं देश के सवा सौ करोड़ देशवासियों को मुंबई-अहमदाबाद रेल कॉरिडोर के भूमि पूजन के अवसर पर शुभकामनाएं देता हूं. यहां हम आपको बता दें कि अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन की गति सीमा 350 किलोमीटर प्रति घंटे रखी गई है. लेकिन अभी देशवासियों को 5 साल और हाई स्पीड ट्रेन में सफर करने के लिए इंतजार करना होगा.


शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,250FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

पाक के नए सेना प्रमुख जनरल मुनीर ने भारत के खिलाफ उगला जहर, जानें...

0
पाकिस्तान के नवनियुक्त सेना प्रमुख (सीओएएस) जनरल असीम मुनीर ने भारत के खिलाफ जहर उगला है. जनरल असीम मुनीर ने शनिवार (3 दिसंबर)...

दिल्ली होटल मालिक आत्महत्या मामले में उत्तराखंड के आईपीएस का नाम, दिल्ली से देहरादून...

0
दिल्ली के एक होटल मालिक की आत्महत्या के मामले में उत्तराखंड के एक आईपीएस का नाम सामने आया है. दिल्ली पुलिस ने इस संबंध...

विपिन रावत प्रकरण में सीएम धामी के आदेश पर चौकी इंचार्ज सस्पेंड

0
देहरादून| विपिन रावत प्रकरण में सीएम पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर देहरादून के एसएसपी ने लापरवाही बरतने वाले चौकी इंचार्ज को सस्पेंड कर...

देहरादून: सीएम धामी ने विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर की ये चार घोषणाएं

0
सीएम धामी ने शनिवार को विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर सुभाष रोड स्थित लॉर्ड वेंकटेश्वर हॉल में समाज कल्याण विभाग द्वारा आयोजित राज्य...

अतिक्रमण के खिलाफ सड़को में उतरे लोग, जाम लगने से पर्यटक हुए परेशान

0
मसूरी कोल्हुखेत के पानीवाला बैंड पर अतिक्रमण हटाओ अभियान के खिलाफ स्थानीय लोगों ने जाम लगा दिया है। बता दे कि सैकड़ों वाहन यहां...

स्‍टार शटलर लक्ष्य सेन पर एफआईआर, उम्र में धोखाधड़ी का आरोप

0
देश के नंबर एक बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्‍य सेन के खिलाफ बेंगलुरु में एफआईआर दर्ज की गई है. उन पर अपनी उम्र में हेराफेरी...

पहली बार भारतीय नौसेना में 341 महिला को अग्निवीर योजना के तहत किया शामिल

0
शनिवार को नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा कि भारतीय नौसेना हिंद महासागर के सभी घटनाक्रमों पर कड़ी नजर रख रही है,...

राजस्थान: गैंगवार से दहला सीकर जिला, दिन दहाड़े गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या

0
राजस्थान का सीकर जिला एक बार फिर से गैंगवार से दहल गया है. शनिवार को प्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट की सीकर में...

एमसीडी चुनाव से पहले बीजेपी ने एक्साइज पॉलिसी पर आप को घेरा, बोले- दिन...

0
दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने डिप्टी सीएम, सीएम अरविंद केजरीवाल के करीबी सहयोगी और नेता नेता मनीष...

बड़ा हादसा: नीलांचल एक्सप्रेस सवार यात्री की गर्दन में घुसी लोहे की रॉड, मौके...

0
आज अलीगढ़ के सोमना और डांबर रेलवे स्टेशन के बीच नीलांचल एक्सप्रेस में दर्दनाक हादसा हुआ। बता दे कि यह घटना सुबह लगभग 8...
%d bloggers like this: