चीन को और झटका देने के लिए भारत ने उठाया ये बड़ा कदम


लद्दाख सहित वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर जारी गतिरोध के बीच भारत ने चीन को एक और बड़ा झटका देने की तरफ कदम बढ़ा दिया है. देश में चीन की गतिविधियां सीमित करने के लिए सरकार ने बीजिंग के लिए जारी होने वाले वीजा की अतिरिक्त जांच एवं उसके स्थानीय विश्वविद्यालयों के साथ संपर्कों की नए सिरे से समीक्षा करने का आदेश दिया है. विदेश मंत्रालय को कहा गया है कि वह चीन के कारोबारियों, शिक्षाविदों, उद्यमियों और थिंक टैंक्स को वीजा जारी करने से पहले उसकी सुरक्षा मंजूरी की जरूरत होगी.

इस कदम से चीन की गतिविधियां कम होंगी
टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक नाम उजागर न करने की शर्त पर अधिकारियों ने बताया कि इसी तरह के नियम पाकिस्तान के साथ भी लागू हैं. एक अधिकारी ने कहा कि इस फैसले के बाद भारतीय विश्वविद्यालयों का चीनी संस्थानों के साथ होने वाले करार की गतिविधियों में उल्लेखनीय कमी आनी तय है. अधिकारियों का कहना है कि सरकार भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय एवं अन्य संस्थानों के चीन के आधिकारिक भाषा प्रशिक्षण कार्यालय जिसे हनबान नाम से जाना जाता है, उसके साथ हुए 54 सहमति पत्रों की समीक्षा कर रही है.

चीन के संस्थानों के साथ करार खत्म हो सकते हैं
अधिकारियों का कहना है कि मंडारिन भाषा को छोड़कर चीन के संस्थानों के साथ करारों को खत्म किया जा सकता है. अधिकारियों के मुताबिक इन संस्थानों का इस्तेमाल थिंक टैंक्स, नीतियों का निर्माण करने वालों, राजनीतिक दलों, कॉरपोरेट एवं शिक्षाविदों को प्रभावित करने के लिए किया जाता है. हालांकि, इस घटनाक्रम पर विदेश मंत्रालय की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.

गलवान घाटी की घटना के बाद रिश्तों में आई तल्खी
बता दें कि गत 14 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद भारत और चीन के संबंधों में तल्खी आ गई है. लद्दाख सहित पूरे एलएसी पर तनाव का माहौल है. भारत ने इस घटना के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार ठहराया. विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि चीन की तरफ से एलएसी पर एकतरफा बदलाव की कोशिश की गई. पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी से चीन के सैनिकों की वापसी हुई है लेकिन पैंगोंग लेक और फिंगर क्षेत्र से चीनी सैनिक पीछे हटने के लिए तैयार नहीं है.

सैन्य स्तर पर बातचीत से नहीं निकला है हल
इन इलाकों में चीन की मंशा को देखते हुए भारत ने अपने सैनिकों की तादाद बढ़ा दी है. भारत ने स्पष्ट रूप से कहा है कि वह अपनी क्षेत्रीय अखंडता एवं संप्रभुता के साथ कोई समझौता नहीं करेगा. पीएम मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जुलाई में लेह का दौरा कर चीन को स्पष्ट संदेश दिया कि विस्तारवादी मानसिकता का दौर खत्म हो चुका है. विस्तारवादी ताकतें या तो खुद खत्म हो गईं या उन्हें समाप्त होने के लिए बाध्य किया गया. सीमा पर शांति और सौहार्द कायम करने के लिए दोनों देशों के बीच सैन्य कमांडर स्तर पर पांच दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन इस विवाद का अभी हल नहीं निकल सका है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,229FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

महाराष्ट्र: फ्लोर टेस्ट से पहले सीएम एकनाथ शिंदे की बड़ी जीत, भाजपा के राहुल...

0
महाराष्ट्र में नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सहयोग से बनी सरकार के नेतृत्व में स्पीकर का चुनाव...

काशीपुर: पिता-पुत्र ने क्रिकेट बैट से कुत्ते को पीटकर मार डाला, शिकायतकर्ता ने...

0
उत्तराखंड के काशीपुर से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जिसे सुनकर हर कोई हैरान हो जाएगा. दरअसल राज्य के काशीपुर में...

Covid19: उत्तराखंड में बढ़ी कोरोना की रफ्तार, मिले 54 नए मरीज, एक्टिव केस 323

0
देहरादून| उत्तराखंड में 24 घंटे के भीतर कोरोना के 54 नए मरीज मिले हैं, जबकि 27 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे हैं. वहीं, एक्टिव...

चोल राजवंश कहानी लेकर आ रहे है मणिरत्नम, इस दिन रिलीज ‘पोन्नियन सेल्वन’

0
चार साल के ब्रेक के बाद एक्ट्रेस ऐश्वर्या राय बच्चन बड़े परदे पर कमबैक करने जा रहीं और उनकी कमबैक फिल्म मणिरत्नम निर्देशित...

शरद पवार का तंज, कई समारोह का हिस्सा रहा, लेकिन कभी किसी राज्पाल ने...

0
महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की ओर से राज्य के नए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को मिठाई खिलाते हुए वायरल हुई तस्वीरों पर शरद...

मौका-मौका: एसबीआई जल्द करने वाला है क्लर्क के पदों पर बंपर भर्ती, जानिए पूरी...

0
बैंक में सरकारी नौकरी का सपना संजोए बैठे उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया जल्द ही क्लर्क के पदों पर...

उत्तराखंड: पूर्व कैबिनेट मंत्री की करीबी पर शासन ने कसा जांच का शिकंजा, जानिए...

0
उत्तराखंड के पूर्व कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत की परेशानी कम होने का नाम नही ले रही. अब पूर्व कैबिनेट मंत्री की...

महाराष्ट्र विधानसभा के लिए आज का दिन अहम, शिंदे की अग्निपरीक्षा-होना है स्पीकर का...

0
महाराष्ट्र की शिंदे सरकार के लिए आज का दिन अहम में कितना दम है. आज ये भी तय हो जाएगा कि क्या सच में...

राशिफल 03-07-2022: आज सूर्य देव की कृपा से इन राशियों का चमकेगा भाग्य

0
मेष- आत्मविश्वास भरपूर रहेगा. माता का सानिध्य मिलेगा. कारोबार में वृद्धि होगी. परिश्रम अधिक रहेगा. स्वास्थ्य का ध्यान रखें. क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा की मन...

3 जुलाई 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 3 जुलाई 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...
%d bloggers like this: