एटीआई नैनीताल ने कोरोना के बीच दिखाई राह, कोरोना महामारी के बीच अकादमी में चल रहे प्रशिक्षण


नैनीताल| एक ओर जहां वैश्विक कोरोना महामारी के बीच देश में सभी तरह की शैक्षिक तथा प्रशिक्षण से संबंधित गतिविधियां थमी हुई हैं, वहीं इस बीच डॉ. आरएस टोलिया उत्तराखंड प्रशासन अकादमी नैनीताल से अच्छी खबर आई है. निदेशक डॉ. राजीव रौतेला की पहल पर अकादमी में प्रशिक्षण पुनः आरंभ हो गए हैं.

कोरोना महामारी के बीच एक तरफ जहां देश में शैक्षिक गतिविधियों का संचालन पूरी तरह से वर्चुअल माध्यम से हो रहा है वहीं उत्तराखंड प्रशासन अकादमी ने शिक्षा के क्षेत्र में आए इस ठहराव को दूर करने की साहसिक पहल की है.

अकादमी के निदेशक डॉ. राजीव रौतेला की पहल पर डायरेक्ट ट्रेनिंग स्किल्स (डीटीएस) और इंडियन फाॅरेस्ट सर्विसेज (आईएफएस) के कोर्स सफलतापूर्वक संपन्न हो गए हैं, जिसमें प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आए अधिकारियों ने प्रतिभाग किया. इस कोर्स में खास बात यह रही कि अकादमी में कोरोना महामारी से बचाव को लेकर खास इंतजाम किए गए और भारत सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा जारी सुरक्षा संबंधी उपायों का पालन करते हुए यह कोर्स सफलतापूर्वक संपन्न कराया गया.

अकादमी के निदेशक डॉ. राजीव रौतेला का कहना है कि कोरोना महामारी से पूरी दुनिया जंग लड़ रही है. कोरोना की वजह से विभिन्न क्षेत्रों में जो ठहराव आ गया है, अब उसे सुरक्षा उपायों के साथ तोड़ने की जरूरत है. बहुत समय तक यह ठहराव बना रहा तो आने वाले सालों में समाज में इसके नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेंगे. हमें आगे बढ़ना होगा और कोरोना के साथ जीना सीखना होगा. सुरक्षा संबंधी मानकों का पालन किया जाए तो यह असंभव भी नहीं है.

डॉ. राजीव रौतेला ने बताया कि इन्हीं विचारों से प्रेरित होकर हमने उत्तराखंड प्रशासन अकादमी नैनीताल में डायरेक्ट ट्रेनिंग स्किल्स (डीटीएस) और इंडियन फाॅरेस्ट सर्विसेज (आईएफएस)/इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज तथा पीसीएस के व्यवसायिक कोर्स को संचालित करने का निर्णय लिया. आईएफएस कोर्स 22 अगस्त को समापन हो गया है जबकि आईएएस तथा पीसीएस के कोर्स का समापन 29 अगस्त को होगा.

कोरोना महामारी के बीच इस तरह के कोर्स जहां राज्य के विभिन्न जनपदों से प्रतिभागियों को आना था, का आयोजन करना एक चुनौतीपूर्वक कार्य था, लेकिन अकादमी के अधिकारियों तथा यहां के स्टाफ की जीवंतता के कारण यह कार्य सफलतापूर्वक अपने मुकाम तक पहुंच सका.

डॉ. राजीव रौतेला ने बताया कि इन कोर्स में प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागियों को पहले ही सुरक्षा उपायों से अवगत कराया जा चुका था. सभी प्रतिभागियों के लिए कोरोना टेस्ट करवाना अनिवार्य किया गया था और कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही इस कोर्स में प्रतिभाग करने की अनुमति दी गई थी. प्रतिभागियों के अकादमी में पहुंचते ही उनकी काउंसलिंग की गई तथा जरूरी दिशा-निर्देश दिए गए. प्रतिभागियों के अकादमी में प्रवास के दौरान कोरोना से बचाव को लेकर सभी जरूरी उपाय किए गए. पूरे कैंपस तथा हाॅस्टल को प्रत्येक दिन सैनीटाइज करवाया गया. प्रतिभागियों की हर दिन दो बार स्क्रीनिंग की गई.

कक्षा कक्षों, हास्टल तथा कैंपस में सोशियल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करवाया गया. जागरूकता के लिए अकादमी के कैंपस में विभिन्न स्थानों पर साइन बोर्ड लगवाए गए. कोर्स के दौरान अकादमी में डाक्टर की तैनाती की गई ताकि किसी आपात स्थिति से निपटा जा सके. डॉ. रौतेला ने बताया कि भारत सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा अन्य कार्यक्रम भी निरंतर संचालित किए जाएंगे. डॉ. राजीव रौतेला ने डायरेक्ट ट्रेनिंग स्किल्स (डीटीएस) के कोर्स समन्वयक डॉ. दीपक पालीवाल और इंडियन फाॅरेस्ट सर्विसेज (आईएफएस) कोर्स के समन्वयक नवनीत पांडे को कोर्स की सफलता के लिए बधाई दी.

Related Articles

Latest Articles

मलेशिया मास्टर्स खिताब जीतने से चूकी सिंधु फाइनल में नहीं लांघ पाईं ‘चीनी दीवार’

0
भारत की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधु का 2 साल से खिताबी सूखा बदस्तूर जारी है. सिंधु रविवार को मलेशिया मास्टर्स बैडमिंटन टूर्नामेंट में...

हल्द्वानी: लावारिस सांड की एक बाइक से टक्कर, हादसे में युवक की मौत

0
हल्द्वानी| हल्द्वानी से दुखद घटना की खबर सामने आ रही है. यहां एक लावारिस सांड की एक बाइक से टक्कर हो गई. इस हादसे...

क्या है ‘रेमल’ का मतलब! आखिर कौन तय करता है तूफान का नाम

0
चक्रवार्ती तूफान ‘रेमल’ रविवार (26 मई) की रात पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तट से टकरा सकता है. मौसम विभाग ने कहा है कि...

‘रेमल’ चक्रवात भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील, रविवार रात बंगाल-बांग्लादेश के तटों से टकराएगा

0
चक्रवाती तूफान रेमल रविवार की रात पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के समुद्र तटों पर दस्तक दे सकता है. बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती...

दिल्‍ली: बेबी केयर हॉस्पिटल में आग लगने से 6 किलकारियां हमेशा के लिए खामोश

0
देश की राजधानी दिल्‍ली के विवेक विहार में एक बेबी केयर हॉस्पिटल में आग लगने से 6 किलकारियां हमेशा के लिए खामोश हो गईं....

लोकसभा चुनाव 2024: छठे चरण में 58 सीटों पर मतदान संपन्न, 59.06 फीसदी मतदान...

0
शनिवार को लोकसभा चुनाव के छठे चरण में सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश की 58 सीटों पर मतदान हो चुका है. आठ राज्यों...

रविवार को भगवान सूर्य देवता को जल चढ़ाने के होते हैं कई फायदे, जानिए...

0
हिंदू धर्म में सूर्य को जल देने की परंपरा बहुत पुरानी है जिसे आज भी निभाते हैं. श्रद्धालु हर रोज सूर्य देवता को अर्घ्य...

राशिफल 26-05-2024: आज सूर्यदेव की कृपा चमकेगा इन राशियों का भाग्य

0
मेष-:मेष राशि वाले सोचते कुछ हैं, होता कुछ है. रविवार को मेष राशि वालों का जीवनसाथी की लापरवाही से बड़ा नुकसान हो सकता है....

26 मई 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 26 मई 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

चारधाम यात्रा के लिए 6 सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति का गठन, आदेश जारी

0
चारधाम यात्रा में अव्यवस्थाओं को लेकर आ रही तस्वीरों के बीच अब सरकार नए कदम उठाकर यात्रा के बेहतर संचालन के लिए फैसले ले...