पीएम इमरान के तेवर- कोई सेना प्रमुख मुझसे पूछे बिना करगिल वॉर करता तो उसे सबक सिखाता


गुरुवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सेना को लेकर भी तीखा बयान दे डाला. इमरान ने एक इंटरव्यू में स्पष्ट कहा कि अगर कोई सेना प्रमुख उनसे बिना पूछे कारगिल पर हमला करता तो वे बिना देरी के न सिर्फ उससे इस्तीफ़ा लेते बल्कि उस पर कार्रवाई भी की जाती. इमरान ने आगे कहा कि अगर कोई सेना प्रमुख उन पर प्रधानमंत्री पद से हटने के लिए दबाव डालता तो उसे भी इस्तीफ़ा देना पड़ता.

इमरान खान ने आरोप लगाया है कि भारत पाकिस्‍तानी सेना को कमजोर करने के लिए नवाज शरीफ की मदद कर रहा है. इमरान ने कहा कि नवाज शरीफ सेना पर राजनीतिक हस्‍तक्षेप का आरोप लगाकर एक खतरनाक खेल खेल रहे हैं. उन्‍होंने दावा किया कि पाकिस्‍तान के इतिहास में इस समय सेना और सरकार के बीच सबसे अच्‍छे संबंध हैं. इमरान का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब उन्‍होंने राजनीति में हस्‍तक्षेप और भ्रष्‍टाचार को लेकर सेना के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है.

बता दें कि नवाज शरीफ ने एक बयान में कहा है कि लेफ्टिनेंट जनरल जहीर-उल-इस्लाम ने साल 2014 में उनसे प्रधानमंत्री पद से हटने के लिए कहा था. इमरान खान ने इंटरव्यू में कहा, ऐसा होने पर मैं सेना प्रमुख का इस्तीफा ले लेता. इमरान खान ने कहा मैं लोकतांत्रिक तरीके से चुना गया प्रधानमंत्री हूं, मुझसे ऐसा कहने की हिम्मत किसमें हो सकती है. इमरान खान ने कहा कि जब पूर्व सेना प्रमुख परवेज मुशर्रफ श्रीलंका का दौरा कर रहे थे तो नवाज शरीफ ने खुद ही उन्हें हटाने की कोशिश की थी.

पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि नवाज शरीफ सेना पर हमले करके बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं. वह कायर हैं और मुझे पूरा विश्‍वास है कि उन्‍हें भारत का समर्थन हासिल है. उन्‍होंने कहा कि सरकार ने नवाज शरीफ को मानवीय आधार पर जाने के लिए अनुमति दी थी लेकिन अब वह राजनीति कर रहे हैं. हमें पता चला है कि वह कई लोगों से मिल रहे हैं और देश के खिलाफ साजिश कर रहे हैं.

इमरान ने दावा किया कि वह देश के इतिहास में पहले ऐसे नेता हैं जो सेना की नर्सरी में पले-बढ़े नहीं हैं जैसे नवाज शरीफ या जुल्फिकार अली भुट्टो थे. पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि नवाज शरीफ सेना पर हमले करके बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं. वह कायर हैं और मुझे पूरा विश्‍वास है कि उन्‍हें भारत का समर्थन हासिल है.

उन्‍होंने कहा कि सरकार ने नवाज शरीफ को मानवीय आधार पर जाने के लिए अनुमति दी थी लेकिन अब वह राजनीति कर रहे हैं. हमें पता चला है कि वह कई लोगों से मिल रहे हैं और देश के खिलाफ साजिश कर रहे हैं. इमरान ने दावा किया कि वह देश के इतिहास में पहले ऐसे नेता हैं जो सेना की नर्सरी में पले-बढ़े नहीं हैं जैसे नवाज शरीफ या जुल्फिकार अली भुट्टो थे.

पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि नवाज शरीफ सेना पर हमले करके बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं. वह कायर हैं और मुझे पूरा विश्‍वास है कि उन्‍हें भारत का समर्थन हासिल है. उन्‍होंने कहा कि सरकार ने नवाज शरीफ को मानवीय आधार पर जाने के लिए अनुमति दी थी लेकिन अब वह राजनीति कर रहे हैं.

हमें पता चला है कि वह कई लोगों से मिल रहे हैं और देश के खिलाफ साजिश कर रहे हैं. इमरान ने दावा किया कि वह देश के इतिहास में पहले ऐसे नेता हैं जो सेना की नर्सरी में पले-बढ़े नहीं हैं जैसे नवाज शरीफ या जुल्फिकार अली भुट्टो थे.

अपनी सरकार के सेना के साथ संबंधों पर बात करते हुए इमरान ने कहा, पाकिस्तान में हमेशा से सरकार और सेना के बीच कोई ना कोई समस्या रही है. हालांकि, इमरान ने सवाल किया कि अगर अतीत में किसी सेना प्रमुख ने कोई गलती की है तो क्या संस्था को भी हमेशा के लिए खराब मान लिया जाएगा.

क्या जस्टिस मुनीर ने गलत फैसला लिया तो क्या हमेशा के लिए न्यायपालिका को ही दोषपूर्ण करार दे दिया जाएगा. इमरान ने ये भी कहा कि अगर कुछ राजनेता पैसा चोरी करते हैं और विदेशों में जमा करते हैं तो सभी राजनेताओं को भी बुरा नहीं कहा जाना चाहिए. अपनी सरकार के सेना के साथ संबंधों पर बात करते हुए इमरान ने कहा, पाकिस्तान में हमेशा से सरकार और सेना के बीच कोई ना कोई समस्या रही है.

हालांकि, इमरान ने सवाल किया कि अगर अतीत में किसी सेना प्रमुख ने कोई गलती की है तो क्या संस्था को भी हमेशा के लिए खराब मान लिया जाएगा. क्या जस्टिस मुनीर ने गलत फैसला लिया तो क्या हमेशा के लिए न्यायपालिका को ही दोषपूर्ण करार दे दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें -  गोधरा कांड: बिलकिस बानो गैंगरेप केस में उम्रकैद की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, इन नीति के तहत आए बाहर

इमरान ने ये भी कहा कि अगर कुछ राजनेता पैसा चोरी करते हैं और विदेशों में जमा करते हैं तो सभी राजनेताओं को भी बुरा नहीं कहा जाना चाहिए.

अपनी सरकार के सेना के साथ संबंधों पर बात करते हुए इमरान ने कहा, पाकिस्तान में हमेशा से सरकार और सेना के बीच कोई ना कोई समस्या रही है. हालांकि, इमरान ने सवाल किया कि अगर अतीत में किसी सेना प्रमुख ने कोई गलती की है तो क्या संस्था को भी हमेशा के लिए खराब मान लिया जाएगा. क्या जस्टिस मुनीर ने गलत फैसला लिया तो क्या हमेशा के लिए न्यायपालिका को ही दोषपूर्ण करार दे दिया जाएगा. इमरान ने ये भी कहा कि अगर कुछ राजनेता पैसा चोरी करते हैं और विदेशों में जमा करते हैं तो सभी राजनेताओं को भी बुरा नहीं कहा जाना चाहिए.


इमरान खान ने आगे कहा, बात बस इतनी सी है कि अतीत सीखने के लिए होता है. हमने ये सीखा है कि सेना का काम देश चलाना नहीं है. अगर लोकतंत्र देश को नुकसान पहुंचा रहा है तो इसका मतलब ये नहीं है कि इसे सैन्य शासन में तब्दील कर दिया जाए.

देश की सेना पिछले कई सालों में काफी आगे बढ़ चुकी है. इमरान ने दावा किया, मौजूदा समय में सरकार और सेना के संबंध इतिहास के सबसे अच्छे दौर में हैं.

इसकी वजह ये है कि पाकिस्तानी सेना लोकतांत्रिक सरकार के समर्थन में पूरी तरह से खड़ी है. इमरान खान ने आगे कहा, बात बस इतनी सी है कि अतीत सीखने के लिए होता है. हमने ये सीखा है कि सेना का काम देश चलाना नहीं है.

अगर लोकतंत्र देश को नुकसान पहुंचा रहा है तो इसका मतलब ये नहीं है कि इसे सैन्य शासन में तब्दील कर दिया जाए. देश की सेना पिछले कई सालों में काफी आगे बढ़ चुकी है.

इमरान ने दावा किया, मौजूदा समय में सरकार और सेना के संबंध इतिहास के सबसे अच्छे दौर में हैं. इसकी वजह ये है कि पाकिस्तानी सेना लोकतांत्रिक सरकार के समर्थन में पूरी तरह से खड़ी है.

इमरान खान ने आगे कहा, बात बस इतनी सी है कि अतीत सीखने के लिए होता है. हमने ये सीखा है कि सेना का काम देश चलाना नहीं है. अगर लोकतंत्र देश को नुकसान पहुंचा रहा है तो इसका मतलब ये नहीं है कि इसे सैन्य शासन में तब्दील कर दिया जाए. देश की सेना पिछले कई सालों में काफी आगे बढ़ चुकी है.

यह भी पढ़ें -  चौथी पुण्यतिथि आज: लोकप्रिय नेता और पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को याद कर देश ने दी श्रद्धांजलि

इमरान ने दावा किया, मौजूदा समय में सरकार और सेना के संबंध इतिहास के सबसे अच्छे दौर में हैं. इसकी वजह ये है कि पाकिस्तानी सेना लोकतांत्रिक सरकार के समर्थन में पूरी तरह से खड़ी है.

इमरान ने कहा कि नवाज शरीफ कभी लोकतांत्रिक थे ही नहीं. नवाज शरीफ को पहले जनरल जिलानी ने आगे बढ़ाया और उसके बाद जनरल जिया ने.

इमरान ने कहा, वैश्विक स्तर की पाकिस्तानी एजेंसियों ने हमेशा नवाज पर अविश्वास जताया. नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल (एन) ने सिविलियन इंस्टिट्यूशन्स को नियंत्रित किया. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट पर हमला किया, सेना के साथ उनकी दिक्कत ये थी कि वो उनके नियंत्रण में नहीं थी.

विपक्षी दल संस्थाओं पर एनआरओ लाने के लिए दबाव डाल रहे थे. इमरान ने कहा कि नवाज शरीफ कभी लोकतांत्रिक थे ही नहीं. नवाज शरीफ को पहले जनरल जिलानी ने आगे बढ़ाया और उसके बाद जनरल जिया ने.

इमरान ने कहा, वैश्विक स्तर की पाकिस्तानी एजेंसियों ने हमेशा नवाज पर अविश्वास जताया. नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल (एन) ने सिविलियन इंस्टिट्यूशन्स को नियंत्रित किया. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट पर हमला किया, सेना के साथ उनकी दिक्कत ये थी कि वो उनके नियंत्रण में नहीं थी. विपक्षी दल संस्थाओं पर एनआरओ लाने के लिए दबाव डाल रहे थे.

इमरान ने कहा कि नवाज शरीफ कभी लोकतांत्रिक थे ही नहीं. नवाज शरीफ को पहले जनरल जिलानी ने आगे बढ़ाया और उसके बाद जनरल जिया ने. इमरान ने कहा, वैश्विक स्तर की पाकिस्तानी एजेंसियों ने हमेशा नवाज पर अविश्वास जताया.

नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल (एन) ने सिविलियन इंस्टिट्यूशन्स को नियंत्रित किया. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट पर हमला किया, सेना के साथ उनकी दिक्कत ये थी कि वो उनके नियंत्रण में नहीं थी. विपक्षी दल संस्थाओं पर एनआरओ लाने के लिए दबाव डाल रहे थे.

इमरान खान ने कहा, मुझमें और जनरल मुशर्रफ में अंतर क्या है? जनरल मुशर्रफ ने अपनी सत्ता बचाए रखने के लिए एनआरओ दे दिया.

अगर आज की तारीख में कोई मुझसे पूछे कि मैं अपनी कुर्सी छोड़ना चाहता हूं या एनआरओ देने के लिए तैयार हूं तो मैं कहूंगा कि मैं सत्ता छोड़ने के लिए तैयार हूं लेकिन मैं उन्हें एनआरओ नहीं दूंगा. इमरान खान ने कहा, अगर आप ऐसे चोरों के दबाव में आ जाते हैं और समझौते कर लेते हैं तो देश बर्बाद हो जाता है.

उन्होंने साफ़ कहा कि मैं विपक्षी दलों की मांग पर इस्तीफा नहीं दूंगा क्योंकि वह 17 मिलियन लोगों की ओर से चुने गए हैं. उन्होंने कहा, मैंने पांचों नेशनल एसेंबली सीट के चुनाव जीते हैं तो मैं ऐसे चोरों की डिमांड पर इस्तीफा क्यों दूंगा. इमरान खान ने कहा, मुझमें और जनरल मुशर्रफ में अंतर क्या है? जनरल मुशर्रफ ने अपनी सत्ता बचाए रखने के लिए एनआरओ दे दिया.

अगर आज की तारीख में कोई मुझसे पूछे कि मैं अपनी कुर्सी छोड़ना चाहता हूं या एनआरओ देने के लिए तैयार हूं तो मैं कहूंगा कि मैं सत्ता छोड़ने के लिए तैयार हूं लेकिन मैं उन्हें एनआरओ नहीं दूंगा. इमरान खान ने कहा, अगर आप ऐसे चोरों के दबाव में आ जाते हैं और समझौते कर लेते हैं तो देश बर्बाद हो जाता है.

उन्होंने साफ़ कहा कि मैं विपक्षी दलों की मांग पर इस्तीफा नहीं दूंगा क्योंकि वह 17 मिलियन लोगों की ओर से चुने गए हैं. उन्होंने कहा, मैंने पांचों नेशनल एसेंबली सीट के चुनाव जीते हैं तो मैं ऐसे चोरों की डिमांड पर इस्तीफा क्यों दूंगा.

इमरान खान ने कहा, मुझमें और जनरल मुशर्रफ में अंतर क्या है? जनरल मुशर्रफ ने अपनी सत्ता बचाए रखने के लिए एनआरओ दे दिया.

यह भी पढ़ें -  हिमाचल प्रदेश: कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष पवन काजल भाजपा में शामिल

अगर आज की तारीख में कोई मुझसे पूछे कि मैं अपनी कुर्सी छोड़ना चाहता हूं या एनआरओ देने के लिए तैयार हूं तो मैं कहूंगा कि मैं सत्ता छोड़ने के लिए तैयार हूं लेकिन मैं उन्हें एनआरओ नहीं दूंगा.

इमरान खान ने कहा, अगर आप ऐसे चोरों के दबाव में आ जाते हैं और समझौते कर लेते हैं तो देश बर्बाद हो जाता है. उन्होंने साफ़ कहा कि मैं विपक्षी दलों की मांग पर इस्तीफा नहीं दूंगा क्योंकि वह 17 मिलियन लोगों की ओर से चुने गए हैं. उन्होंने कहा, मैंने पांचों नेशनल एसेंबली सीट के चुनाव जीते हैं तो मैं ऐसे चोरों की डिमांड पर इस्तीफा क्यों दूंगा.


समा टीवी के ऐंकर मलिक से इमरान खान ने कहा कि अगर विपक्ष के सदस्य इस्तीफा देते हैं तो उनकी सरकार खाली सीटों पर चुनाव करवाएगी. हालांकि, इमरान खान ने कहा विपक्ष के पास शांतिपूर्ण तरीके से विरोध-प्रदर्शन करने का अधिकार है.

लेकिन अगर वे कानून तोड़ते हैं तो वे एक-एक को जेल भेज देंगे. पिछले कुछ दिनों से रिटायर्ड जनरल और इमरान खान के स्पेशल असिस्टेंट असीम बाजवा की संपत्ति को लेकर भी विवाद छिड़ा हुआ है.

इमरान खान ने इस बारे में पूछे जाने पर कहा, बाजवा के खिलाफ आरोप लगाए गए थे और उसने विस्तृत डॉक्युमेंट्स के साथ जवाब दिए. अगर कोई इसे लेकर सवाल खड़े करता है तो हम इसकी जांच कराएंगे.

समा टीवी के ऐंकर मलिक से इमरान खान ने कहा कि अगर विपक्ष के सदस्य इस्तीफा देते हैं तो उनकी सरकार खाली सीटों पर चुनाव करवाएगी.

हालांकि, इमरान खान ने कहा विपक्ष के पास शांतिपूर्ण तरीके से विरोध-प्रदर्शन करने का अधिकार है. लेकिन अगर वे कानून तोड़ते हैं तो वे एक-एक को जेल भेज देंगे.

पिछले कुछ दिनों से रिटायर्ड जनरल और इमरान खान के स्पेशल असिस्टेंट असीम बाजवा की संपत्ति को लेकर भी विवाद छिड़ा हुआ है. इमरान खान ने इस बारे में पूछे जाने पर कहा, बाजवा के खिलाफ आरोप लगाए गए थे और उसने विस्तृत डॉक्युमेंट्स के साथ जवाब दिए. अगर कोई इसे लेकर सवाल खड़े करता है तो हम इसकी जांच कराएंगे.

समा टीवी के ऐंकर मलिक से इमरान खान ने कहा कि अगर विपक्ष के सदस्य इस्तीफा देते हैं तो उनकी सरकार खाली सीटों पर चुनाव करवाएगी. हालांकि, इमरान खान ने कहा विपक्ष के पास शांतिपूर्ण तरीके से विरोध-प्रदर्शन करने का अधिकार है.

लेकिन अगर वे कानून तोड़ते हैं तो वे एक-एक को जेल भेज देंगे. पिछले कुछ दिनों से रिटायर्ड जनरल और इमरान खान के स्पेशल असिस्टेंट असीम बाजवा की संपत्ति को लेकर भी विवाद छिड़ा हुआ है.

इमरान खान ने इस बारे में पूछे जाने पर कहा, बाजवा के खिलाफ आरोप लगाए गए थे और उसने विस्तृत डॉक्युमेंट्स के साथ जवाब दिए. अगर कोई इसे लेकर सवाल खड़े करता है तो हम इसकी जांच कराएंगे.

साभार-न्यूज़ 18

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

राशिफल 18-08-2022: आज इन राशियों के पूरे होंगे सभी काम

0
मेष: आज के दिन संतान की तरफ से कोई शुभ समाचार मिल सकता है. सामाजिक कार्यों में सहयोग दें. आर्थिक स्थिति बेहतर होगी. वृष:...

18 अगस्त 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 18 अगस्त 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

मुख्य सचिव ने की उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा

0
देहरादून| बुधवार को मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सचिवालय में उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा की....

सीएम धामी ने कोटद्वार में अग्निवीरो के भर्ती कार्यक्रम में उपस्थित होकर युवाओं का...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी एवं महिला बाल विकास मंत्री रेखा आर्य के...

उत्तराखंड में जन्माष्टमी की छुट्टी में हुआ बदलाव, आदेश जारी

0
देहरादून| उत्तराखंड में कृष्ण जन्माष्टमी की छुट्टी अब 19 अगस्त को घोषित की गई है. पहले यह छुट्टी 18 अगस्त को तय की गई...

हल्द्वानी: 38 साल बाद ‘सियाचिन हीरो’ चंद्रशेखर हरबोला पंचतत्व में विलीन, बेटियों ने दी...

0
हल्द्वानी| लांस नायक चंद्रशेखर हरबोला का अंतिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ आज रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया. शहीद लांसनायक चंद्रशेखर...

सीएम धामी ने लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर दी...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 1984 में सियाचिन में ऑपरेशन मेघदूत के दौरान शहीद हुए लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित...

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक पर 3 कमांडो बर्खास्त

0
भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक के मामले में गृह मंत्रालय ने एक्शन लेते हुए 3 कमांडो को सर्विस...

बढ़ते कोरोना के मामलों को देख डीजीसीए सख्त, एयरलाइन्स को दिए ये निर्देश

0
देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए सख्त हो गया है. डीजीसीए ने एयलाइन्स को निर्देश दिए...

क्या अब 5 साल तक के बच्चों की भी लेनी होगी ट्रेन टिकट! जानिए...

0
कई लोग ट्रेन से यात्रियों के साथ सफर करते हैं. बच्चों के साथ आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे कई सुविधाएं प्रदान करती है,...
%d bloggers like this: