पाकिस्‍तान ने भारत में अस्थिरता फैलाने के लिए अपनाया नया पैतरा, पंजाब- जम्‍मू में तस्करी व निगरानी के लिए कर रहा ड्रोन का इस्तेमाल

भारत-पाकिस्‍तान तनावपूर्ण संबंधों के बीच पाकिस्‍तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के ‘क्षेत्र में शांति’ को लेकर दिए गए बयान ने जहां कई लोगों को चौंकाया, वहीं भारत के खिलाफ पाकिस्‍तान की साजिशें भी कोई छिपी बात नहीं रह गई है. सीमा क्षेत्रों में सुरक्षा बलों की मुस्‍तैदी के बीच भारत में अस्थिरता फैलाने के लिए पाकिस्‍तान ने अब अलग ही पैंतरा अपनाया है.

भारत से लगने वाली सीमा पर निगरानी और हथियारों, विस्फोटकों व नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए पाकिस्‍तान अब ड्रोन का इस्‍तेमाल कर रहा है. पाकिस्‍तान से लगने वाली सीमा पर वर्ष 2019 में 167 बार ड्रोन देखे गए थे, जबकि 2020 में इस मोर्चे पर 77 बार ड्रोन देखे गए.

सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक राकेश अस्थाना के मुताबिक, ड्रोन के जरिये हथियार, गोला-बारूद, विस्फोटक और नशीले पदार्थ गिराने की घटनाएं हुई हैं, खासकर पंजाब और जम्मू सेक्टर में.

बुधवार को बेंगलुरु में आयोजित एरो इंडिया 2021 प्रदर्शनी में औद्योगिक संस्था एफआईसीसीआई द्वारा आयोजित संगोष्ठी में उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान सीमा पर निगरानी करने और हथियारों, विस्फोटकों और नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए बेहद प्रभावी तरीके से ड्रोन का इस्‍तेमाल कर रहा है.

यहां उल्लेखनीय है कि पाकिस्‍तान कश्‍मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए भी ड्रोन का इस्‍तेमाल करता रहा है. अंतरराष्‍ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर सेना व सीमा सुरक्षा बलों की मुस्‍तैदी के कारण घुसपैठ जैसी घटनाओं में कमी के बीच पाकिस्‍तान अब यहां आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए ड्रोन का इस्‍तेमाल कर रहा है. इनके जरिये वह कश्‍मीर में हथियार, विस्‍फोटक पदार्थ के साथ-साथ ड्रग्‍स की भी सप्‍लाई करता है.

कश्‍मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए वह सुरंगों का भी इस्‍तेमाल कर रहा है. हाल ही में सुरक्षा बलों ने कई ऐसी सुरंगों का पता लगाया है, जो नियंत्रण रेखा (LoC) तक जाती है. सुरक्षा बलों ने सीमा पार से आतंकियों को मदद के लिए भेजी जाने वाली कई ड्रोन्‍स को भी मार गिराया है. इन सबकके बीच अब बीएसएफ महानिदेशक ने एक बार फिर इसकी तस्‍दीक की है कि पाकिस्‍तान किस तरह भारत में अस्थिरता फैलाने के लिए डोन्‍स का इस्‍तेमाल कर रहा है.

इस पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख के उस बयानय ने लोगों को चौंका दिया, जिसमें उन्‍होंने पाकिस्‍तान को एक शांतिप्रिय देश बताते हुए कहा कि यह सभी दिशाओं में शांति के लिए हाथ बढ़ाने का समय है. रावलपिंडी में पाकिस्तान वायु सेना अकादमी में एक समारोह के दौरान दिए गए उनके बयान को भारत के साथ बाचतीच की पेशकश के रूप में भी देखा जा रहा है.

भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे तनावपूर्ण रिश्तों के बीच पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने एक ऐसा बयान दिया है जो उनकी छवि के उलट है. इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं और इसे भारत के साथ बाचतीच की पेशकश के रूप में भी देखा जा रहा है. बाजवा ने मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान बयान देते हुए कहा कि अब वक्त आ गया है कि सुरक्षित भविष्य के लिए शांति की स्थापना की जाए. बालाकोट एयर स्ट्राइक, सर्जिकल स्ट्राइक तथा जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद से भारत के खिलाफ लगातार आक्रामक जनरल बाजवा के रुख में अचानक आई इस नरमी ने कई लोगों को चौंकाया.

Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,243FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने ‘समूह ग’ की 23 परीक्षाओं के लिए अतिरिक्त परीक्षा...

0
उत्तराखंड में बेरोजगार युवाओं के लिए अच्छी खबर है. उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की ओर से सोमवार को 'समूह ग' 23 परीक्षाओं के लिए...

सीएम धामी ने दिए मानसखण्ड कॉरिडोर के काम में तेजी लाने के निर्देश

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में लोक निर्माण विभाग, एनएच और बीआरओ के प्रदेश में निर्माणाधीन और प्रस्तावित कार्यों की समीक्षा की. मुख्यमंत्री...

सीएम धामी का सख्त फैसला: उत्तराखंड में होटल, रिजॉर्ट और होमस्टे में अब नहीं...

0
उत्तराखंड की बेटी अंकिता भंडारी की हत्या के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एक्टिव मोड में है. वहीं दूसरी ओर अंकिता भंडारी मर्डर केस...

मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी, 13 लोगों की मौत-कई घायल

0
सोमवार को मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी हुई, जिसमें कई छात्र घायल हुए. वहीं जिस शख्स ने फायरिंग की उसने खुद...

नंदा गौरा योजना की 80 हजार लाभार्थी बालिकाओं को सीएम धामी ने हस्तांतरित की...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्य सेवक सदन, मुख्यमंत्री आवास, देहरादून में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में...

अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर भी खड़ा हुआ संकट

0
फिलहाल जैसे राजस्थान में सियासी माहौल बयां कर रहे हैं उससे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने का भी संकट...

राजस्थान कांग्रेस में घमासान, अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले गहलोत-पायलट के गुट ने...

0
राजनीति के मैदान में भी उलटफेर होना आम हो चला है. अब पार्टी के विधायक या सांसद क्या अच्छा है, क्या बुरा, स्वयं फैसला...

गुलाम नबी आजाद ने अपनी नई पार्टी के नाम का किया ऐलान, ...

0
जम्मू| हाल ही में कांग्रेस को अलविदा कहने वाले दिग्गज नेता गुलाम नबी आजाद ने अपनी पार्टी के नाम की घोषणा की. उन्होंने अपनी...

देहरादून: सीएम धामी ने की प्रदेश की कानून व्यवस्था की समीक्षा, मुख्य सचिव एवं...

0
रविवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में कानून व्यवस्था, अतिक्रमण, आपदा आदि से सम्बन्धित विभिन्न विषयों पर शासन के उच्चाधिकारियों के साथ...

राशिफल 26-09-2022: शारदीय नवरात्रि के पहले दिन कैसा रहेगा सभी राशियों का दिन,...

0
मेष-:आज का दिन आपके लिए धन के लेनदेन के लिए कुछ परेशानी भरा रहेगा. आज आप अपनी दिनचर्या में कुछ अन्य कामों को भी...
%d bloggers like this: