पापमोचिनी एकादशी 2021: कब है पापमोचिनी एकादशी, जानिए महत्‍व- व्रतकथा और पूजाविधि

पापमोचनी एकादशी व्रत पापमोचनी का अर्थ है पाप हरने वाली. यह एकादशी चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को होती है. इस वर्ष यह सात अप्रैल को पड़ रही है. पुराणों में पापमोचनी एकादशी व्रत रखना वे हद फलदायी माना गया है.

कहा जाता है कि विकट से विकट स्थिति में पापमोचनी एकादशी व्रत रखने से श्री हरि की कृपा प् आप्त होती है. इस कथा में भी भगवान श्री कृष्ण और धर्म राज युधिष्ठिर संवाद है. धर्म राज युधिष्ठिर पूछते हैं हे जनार्दन चैत्र मास कृष्ण पक्ष की एकादशी का क्या नाम है.

तथा इसकी क्या विधि है. कृपा करके आप मुझे बताये. श्री भगवान बोले हे राजनचैतमास एकादशी का नाम पापमोचनी एकादशी है. इसके व्रत के प्रभाव से मनुष्य के सभी पापौ का नाश होता है. यह व्रत में उत्तम व्रत है. इस पापमोचनी एकादशी के महात्म्य के श्रवण व पठन से समस्त पापौ का नाश होता है. एक समय देवर्षि नारद ने जगत पिता व्रह्माजी से कहा आप मुझसे चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी विधान कहिये व्रह्माजी कहने लगे कि हे नारद चैत्र मास की कृष्ण पक्ष की एकादशी पापमोचनी एकादशी के रूप में मनाई जाती है.

इस दिन भगवान विष्णु का पूजन किया जाता है. इसकी कथा के अनुसार चित्र रथ नामक एक रमणीक वन था. इस वन में देवराज इन्द्र गंधर्व कन्याओं तथा देवताओं सहित स्वच्छंद बिहार करते थे. एक बार मेधावी नामक ऋषि भी वहाँ पर तपस्या कर रहे थे. वे ऋषि शिव उपासक तथा अप्सराएँ शिव द्रोहिणी थी. एक बार कामदेव ने मुनि का तप भंग करने के लिए उन्के पास मंजुघोषा नामक अप्सरा को भेजा.

युवा अवस्था वाले मुनि अप्सरा के हाव भाव नृत्य गीत तथा कटाक्षों पर काम मोहित हो गये. रति क्रिडा करते हुए 57वर्ष व्यतीत हो गये. एक दिन मंजुघोषा ने देवलोक जाने की आज्ञा मांगी उसके द्वारा आज्ञा मागने पर मुनि को भान आया और उनहे आत्मज्ञान हुआ कि मुझे रसातल पंहुचाने का एक मात्र कारण अप्सरा मंजुघोषा हीं है. क्रोधित होकर उनहोंने मंजुघोषा को पिशाचिनी होने का श्राप दिया.

श्राप सुनकर मंजुघोषा कांपते हुए ऋषि से मुक्ति का उपाय पूछने लगी तब मुनि श्री ने पापमोचनी एकादशी व्रत रखने को कहा और अप्सरा को मुक्ति का उपाय बताकर अपने पिता च्यवन ऋषि के आश्रम पंहुचे पुत्र के मुख से श्राप देने की बात सुनकर च्यवन ऋषि ने पुत्र की घोर निंदा की तथा उनहे चैत्र कृष्ण एकादशी व्रत करने की आज्ञा दी व्रत के प्रभाव से मंजुघोषा पिशाचिनी देह से मुक्त होकर देवलोक चली गयी अत:हे नारद जो कोई मनुष्य विधि पूर्वक इस व्रत का महात्म्य को पढता है और सुनता है उसे सारे संकटौ से भी मुक्ति मिल जाती है.

एकादशी का आरंभ : 7 अप्रैल, सुबह 2 बजकर 9 मिनट से

एकादशी तिथि का समापन : 8 अप्रैल, सुबह 2 बजकर 28 मिनट तक

व्रत पारण करने का मुहूर्त : 8 अप्रैल को दोपहर 1 बजकर 39 मिनट से 4 बजकर 11 मिनट तक

लेखक पंडित प्रकाश जोशी गेठिया नैनीताल

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

मुख्य सचिव ने की उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा

0
देहरादून| बुधवार को मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सचिवालय में उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा की....

सीएम धामी ने कोटद्वार में अग्निवीरो के भर्ती कार्यक्रम में उपस्थित होकर युवाओं का...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी एवं महिला बाल विकास मंत्री रेखा आर्य के...

उत्तराखंड में जन्माष्टमी की छुट्टी में हुआ बदलाव, आदेश जारी

0
देहरादून| उत्तराखंड में कृष्ण जन्माष्टमी की छुट्टी अब 19 अगस्त को घोषित की गई है. पहले यह छुट्टी 18 अगस्त को तय की गई...

हल्द्वानी: 38 साल बाद ‘सियाचिन हीरो’ चंद्रशेखर हरबोला पंचतत्व में विलीन, बेटियों ने दी...

0
हल्द्वानी| लांस नायक चंद्रशेखर हरबोला का अंतिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ आज रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया. शहीद लांसनायक चंद्रशेखर...

सीएम धामी ने लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर दी...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 1984 में सियाचिन में ऑपरेशन मेघदूत के दौरान शहीद हुए लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित...

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक पर 3 कमांडो बर्खास्त

0
भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक के मामले में गृह मंत्रालय ने एक्शन लेते हुए 3 कमांडो को सर्विस...

बढ़ते कोरोना के मामलों को देख डीजीसीए सख्त, एयरलाइन्स को दिए ये निर्देश

0
देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए सख्त हो गया है. डीजीसीए ने एयलाइन्स को निर्देश दिए...

क्या अब 5 साल तक के बच्चों की भी लेनी होगी ट्रेन टिकट! जानिए...

0
कई लोग ट्रेन से यात्रियों के साथ सफर करते हैं. बच्चों के साथ आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे कई सुविधाएं प्रदान करती है,...

यूपी: लखनऊ में अनोखी चोरी, कैडबरी के गोदाम में धावा बोलकर चोर 17 लाख...

0
आपने आज तक चोरी की कितनी ही खबरें और कहानियां पढ़ी और सुनी होंगी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चोरी की एक...

धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों में किया फेरबदल

0
धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों के कार्यों में फेरबदल किया है. शासन की ओर से बुधवार को इसके...
%d bloggers like this: