संकष्टी चतुर्थी 2020: कब है संकष्टी चतुर्थी, जानें शुभ मुहूर्त, महत्व और पूजा विधि


संकष्टी चतुर्थी 5 सितंबर को है. हिंदू पंचांग के अनुसार, अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को संकष्टी चतुर्थी है. संकष्टी चतुर्थी वैसे तो हर माह पड़ती है लेकिन आश्विन माह में पड़ने वाली संकष्टी चतुर्थी का विशेष महत्व है. संकष्टी चतुर्थी गणेश भगवान को समर्पित मानी जाती है. इस दिन लोग गणपति बप्पा की पूजा-अर्चना करते हैं.

हिंदू धर्म में गणेश भगवान को बुद्धि, विवेक का स्वामी माना गया है. इसके अलावा गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है. यही वजह है कि लोग किसी भी पूजा में सबसे पहले गणेश भगवान की पूजा-अर्चना करते हैं. मान्यता है कि जो जातक सच्चे ह्रदय से संकष्टी चतुर्थी के व्रत को करता है उसपर गणेश भगवान का आशीर्वाद बना रहता है.

संकष्टी चतुर्थी पर चंद्रोदय का मुहूर्त:
चतुर्थी तिथि का प्रारम्भ: 5 सितंबर को शाम 4 बजकर 38 मिनट से चतुर्थी तिथि लग जाएगी.
चतुर्थी तिथि का समापन: 6 सितंबर को रात्रि 07 बजकर 06 मिनट पर चतुर्थी तिथि का लोप हो जाएगा.
संकष्टी के दिन चन्द्रोदय का समय: 08 बजकर 38 मिनट

संकष्टी चतुर्थी पर गणेश जी की पूजा विधि:
संकष्टी चतुर्थी के दिन सुबह जल्दी उठकर नित्यकर्म और स्नान करने बाद पूजाघर की साफ सफाई करें, आसन पर बैठकर व्रत का संकल्प लें और पूजा शुरू करें. गणेश भगवान गणेश जी की प्रिय चीजें पूजा में अर्पित करें और उन्हें मोदक का भोग लगाएं. संकष्टी चतुर्थी का व्रत सूर्योदय के समय से लेकर चन्द्रमा उदय होने के समय तक व्रत रखा जाता है.

संकष्टी चतुर्थी की धार्मिक महिमा:
हिंदू धर्म शास्त्रों में भगवान चिव के छोटे पुत्र गणेश जी को प्रथम देव माना जाता है, यही वजह है कि हर मांगलिक कार्य से पहले उनकी आराधना की जाती है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की पूजा करने से घर में सकारात्मकता बरक़रार रहती है और घर के सदस्यों में सद्बुद्धि आती है. संकष्टी चतुर्थी के दिन चंद्रदर्शन अनिवार्य माना जाता है.

Related Articles

Latest Articles

पकंज त्रिपाठी के बहन और बहनोई दुर्घटना का शिकार, बहनोई की मौत-बहन की हालत...

0
बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता पकंज त्रिपाठी पर दुखों का पहाड़ टूट गया है. एक्टर की बहन और बहनोई दुर्घटना का शिकार हो गए...

राजस्थान: झालावाड़ में दर्दनाक सड़क हादसा, बारातियों से भरी वैन में ट्रक ने मारी...

0
राजस्थान के झालावाड़ में हुए एक सड़क हादसे में नौ लोगों की मौत हो गई. हादसे में एक शख्स गंभीर रूप से घायल हुआ...

यूपी: मुरादाबाद से भाजपा प्रत्याशी कुंवर सर्वेश सिंह का निधन, एम्स में ली अंतिम...

0
उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से भाजपा के प्रत्याशी एवं पूर्व सांसद कुंवर सुर्वेश कुमार सिंह का शनिवार को देहांत हो गया. दिल्ली के एम्स...

राशिफल 21-04-2024: आज इन राशियों का होगा भाग्योदय, सूर्यदेव बनाएंगे बिगड़े कार्य

0
मेष-: आज आपका दिन शुभ रहेगा. लंबे समय से अटका हुआ धन वापस मिलेगा. प्रोफेशनल लाइप में महत्वपूर्ण बदलाव आएंगे. ऑफिस में प्रमोशन या...

21 अप्रैल 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 21 अप्रैल 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ के वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ का दिल का दौरा पड़ने से निधन

0
रुद्रप्रयाग| ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ के वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ के निधन से पूरे क्षेत्र...

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार के खिलाफ पुलिस केस दर्ज, जानिए पूरा मामला

0
लोक सभा चुनाव के प्रचार के दौरान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार के खिलाफ पुलिस...

उत्तराखंड: सियासी दलों के दावों की खुलेगी पोल, मतदान कम होने से किसका होगा...

0
सियासी संग्राम के पहले पड़ाव के समापन के बाद, उत्तराखंड में हुए चुनावों ने राजनीतिक दलों के बीच गहरी चर्चाएं और तकरारों का सिलसिला...

उत्तराखंड: वनाग्नि ने बढ़ाई सीएम धामी की चिंता, अधिकारियों को दिए ये निर्देश

0
देहरादून| शनिवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने देहरादून नें शासकीय आवास पर वनाग्नि की रोकथाम के लिए की जा रही तैयारियों के संबध...

पीएम मोदी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर कसा तंज, जैसे अमेठी छोड़ा, वैसे...

0
लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में कल 21 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की 102 सीटों पर मतदान समाप्त हो गया. अब दूसरे चरण...