नहीं बनी बात, चाचा-भतीजे ‘मिशन 22’ के लिए मुलायम सिंह की फोटो लगा निकले रथ यात्रा पर

आइए देखते हैं उत्तर प्रदेश में चाचा-भतीजा साथ आए या नहीं या दोनों विधानसभा चुनाव में अलग अलग होकर ‘ताल’ ठोकेंगे. जानते हैं दोनों नेताओं के शुरू हुए नए सियासी सफर’ के बारे में. ‘मिशन 22’ के लिए मंगलवार को दोनों चुनावी रथों पर सवार हो गए हैं. चाचा यानी शिवपाल यादव, भतीजा समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव हैं.

दोनों की ‘मंजिल’ यूपी से भाजपा सरकार को हटाना है, लेकिन रास्ते अलग-अलग हैं. अखिलेश समाजवादी पार्टी के मौजूदा अध्यक्ष हैं तो शिवपाल प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के मुखिया हैं. चुनाव से पहले शिवपाल और अखिलेश के एक साथ आने की कई बार चर्चाएं थी. कुछ दिनों पहले तक मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश और शिवपाल को साथ लाने के लिए बहुत प्रयास किए लेकिन वह सफल नहीं हो पाए.

चाचा ने अखिलेश के साथ यूपी में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में एक साथ लड़ने के लिए कई बार ‘संदेश’ भेजे लेकिन भतीजे की ओर से बात आगे नहीं बढ़ाई गई. उसके बाद शिवपाल यादव ने ‘आक्रामक’ अंदाज में कहा था कि सपा के साथ समझौते का इंतजार खत्म हुआ और अब ‘महाभारत’ होगा.

यह भी पढ़ें -  यूपी: शिवपाल सिंह यादव की सुरक्षा में कटौती के बाद अब मंत्री वाला बंगला भी होगा जल्द खाली

‘जब चाचा भतीजे में बात नहीं बनी तो दोनों नेता मुलायम सिंह यादव को अपना आदर्श मानकर और उनकी बड़ी फोटो रथ पर आगे लगाकर आज जीत के रास्ते पर निकल पड़े हैं’. बता दें कि समाजवादी पार्टी से अलग होकर भी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी बना चुके शिवपाल यादव अभी अपने बड़े भाई मुलायम सिंह यादव से दूरी नहीं बना सके हैं. इसीलिए शिवपाल ने भी अपने रथ पर मुलायम सिंह यादव की फोटो लगा रखी है.

भतीजे अखिलेश यादव ने गंगा किनारे बसे शहर कानपुर से तो चाचा शिवपाल यादव ने कृष्ण नगरी और यमुना किनारे बसे मथुरा से रथ यात्रा की शुरुआत की . समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के कानपुर में ‘समाजवादी विजय यात्रा’ का ‘शंखनाद’ कर दिया.

माना जा रहा है कि यूपी विधानसभा चुनाव के लिए ये समाजवादी पार्टी के प्रचार का औपचारिक आगाज है. इस रथ यात्रा के तहत अखिलेश कानपुर से कालपी होते हुए महोबा जाएंगे. मुस्लिमों को लुभाने के लिए मुलायम सिंह के साथ-साथ अखिलेश ने आजम खान का भी फोटो लगाया है. ‘रथ यात्रा की शुरुआत करते हुए अखिलेश ने कहा कि उनका उद्देश्य चार महीने में होने वाले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी का सफाया करना है’.

यह भी पढ़ें -  देहरादून: विपिन रावत मौत मामले में दो आरोपी गिरफ्तार

सपा से अलग हुए शिवपाल यादव का यूपी के कई जिलों में प्रभाव माना जाता है
भले ही शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी से अलग होकर अपना नया दल बना लिया है लेकिन आज भी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में उनका अच्छा खासा प्रभाव माना जाता है. ‌ प्रदेश में दो बार क्रांति रथ निकाल चुके मुलायम सिंह यादव के पद चिह्नों पर चलते हुए प्रसपा प्रमुख शिवपाल यादव ने ‘सामाजिक परिवर्तन रथ यात्रा’ का आगाज आज मथुरा के बांकेबिहारी मंदिर से आशीर्वाद लेकर किया. रथयात्रा में उनके पुत्र भी शामिल हैं.

इस दौरान शिवपाल यादव ने कहा कि आज बेहद खास दिन है इसलिए कृष्ण नगरी से किसी यात्रा का आगाज किया है . इस मौके पर उन्होंने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यहां माफिया और गुंडों का राज है. बता दें कि चाचा शिवपाल की रथ यात्रा बृज क्षेत्र मथुरा से होते हुए आगरा, इटावा, औरेया, कानपुर देहात, झांसी, महोबा फतेहपुर होते हुए प्रयागराज जाएगी. इसके बाद आखिरी चरण 27 नवंबर को रायबरेली में खत्म होगी.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: अंकिता भंडारी हत्याकांड के तीनों आरोपियों का होगा नार्को टेस्ट, 10 दिन के भीतर दाखिल होगी चार्जशीट

विधानसभा चुनाव से पहले अखिलेश यादव और शिवपाल यादव अपने-अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए अलग-अलग रथ पर सवार हुए हैं. चाचा-भतीजे दोनों ही मुलायम सिंह की तस्वीर के साथ प्रदेश में अपनी पकड़ मजबूत बनाने के लिए निकले हैं. देखना है कि सूबे में कौन मुलायम का असल सियासी वारिस बनकर उभरता है. इस बीच शिवपाल के रथ पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद कृष्णम भी सवार दिखाई दिए. अटकलें लगाई जा रही हैं कि प्रमोद प्रसपा में शामिल हो सकते हैं.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,251FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

सीएमआई आंकड़ों के मुताबिक उत्तराखंड में कम हुई बेरोजगारी दर

0
देश में छत्तीसगढ़ के बाद उत्तराखंड में नवंबर माह में सबसे कम बेरोजगारी दर देखने को मिली। बता दे कि सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन...

उत्तराखंड: रेल का सफर करने वाले यात्रियों के लिए जरूरी सूचना, 3 महीने के...

0
देहरादून| मौसम बदलते ही मैदानी इलाकों में कोहरे का असर दिखने लगा है. सुबह की शुरुआत हल्की धुंध के साथ हो रही है. घने...

बड़ी ख़बर: रामनगर में 26 साल के युवक की हत्या, पुलिस चौकी के पीछे...

0
उत्तराखंड के रामनगर से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। जहां युवक की हत्या से सनसनी फैल गई है। बता दे कि...

गूगल की सर्जिकल स्ट्राइक, हजारों यूट्यूब चैनल किए बंद

0
वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब पर आप भी वीडियो देखना पसंद करते हैं तो आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि गूगल ने...

हरिद्वार में पिटबुल डाग का आतंक, नौ साल के बच्‍चे पर किया जानलेवा हमला

0
एक बार फिर ख़तरनाक पिटबुल डाग के आतंक का मामला सामने आया है। यह घटना हरिद्वार के कनखल की मिश्रा गार्डन कालोनी की है...

ताजमहल निर्माण पर याचिका की सुनवाई से सुप्रीमकोर्ट का इंकार, कहा-किसी इमारत की...

0
ताजमहल के निर्माण के बारे में अब तक गलत जानकारी दिए जाने का दावा करने वाली याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने मना...

JNU मामले पर बोले हरियाणा के गृहमंत्री, ऐसी सोच देश के लिए है घातक

0
जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी कैंपस की इमारतों पर लिखे गए ब्राह्मण विरोधी नारों को देखते ही देश में आक्रोश का मौहोल है। इतना ही नहीं...

क्या एग्जिट पोल सनसनी हैं या वाकई होते हैं विश्वसनीय, क्या होती है इसकी...

0
हिमाचल प्रदेश और गुजरात में 05 दिसंबर को शाम 06 बजे के बाद जब चुनाव आयोग मतदान खत्म करने की घोषणा के साथ वोटिंग...

बड़ी ख़बर: चमोली में वाहन दुर्घटना, दो की मौत, तीन घायल

0
उत्‍तराखंड में चमोली जिले के गोपेश्वर घिंघराण मोटर मार्ग पर रविवार देर रात एक बड़ा हादसा हो गया। बताया जा रहा है कि यह...

देहरादून: पूर्व सीएम हरीश रावत का बड़ा बयान, ‘पाक कमजोर स्थिति में-पीओके वापस लेने...

0
देहरादून| उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि मौजूदा समय में पाकिस्तान कमजोर स्थिति में है तो ऐसे में हम पीओके (PoK)...
%d bloggers like this: