स्टडी में खुलासा, ये दवा कोविड-19 के गंभीर रोगियों की जान बचा सकती

लंदन|…… कॉर्टिकोस्टेरॉइड दवाओं के साथ गंभीर रूप से बीमार कोविड-19 रोगियों का इलाज करने से मृत्यु का जोखिम 20% कम हो जाता है. बुधवार को सात अंतरराष्ट्रीय परीक्षणों का विश्लेषण करने पर ऐसे परिणाम मिले हैं जो कि विश्व स्वास्थ्य संगठन को भी इलाज के लिए इसकी सलाह देने के लिए प्रेरित करता है.

यह विश्लेषण कम खुराक वाली हाइड्रोकार्टिसोन, डेक्सामेथासोन और मेथिलप्रेडिसोलोन के अलग-अलग परीक्षणों से डेटा एकत्र किया – पाया कि स्टेरॉयड ऐसे कोविड​​-19 रोगियों के रिकवरी में सुधार करते हैं जो अस्पताल में गहन देखभाल में बीमार हैं.

शोधकर्ताओं ने एक बयान में कहा, “यह कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के साथ इलाज के बाद जीवित रहने वाले (कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के लगभग 60%) रोगियों के लगभग 68% के बराबर है.” WHO की क्लिनिकल केयर लीड, जेनेट डियाज ने कहा कि एजेंसी ने गंभीर और महत्वपूर्ण कोविड​​-19 वाले रोगियों में स्टेरॉयड के उपयोग के लिए “मजबूत सिफारिश” को शामिल करने के लिए अपनी सलाह को अपडेट किया है.

उन्होंने डब्ल्यूएचओ सोशल मीडिया लाइव इवेंट में बताया “सबूतों से पता चलता है कि अगर आप कॉर्टिकोस्टेरॉइड देते हैं … प्रति 1,000 रोगियों में 87 कम मौतें हुईं.” “ये लवो लोग हैं जिन्हें जिंदा बचा लिया गया.”

ब्रिटेन के ब्रिस्टल विश्वविद्यालय में काम करने वाले चिकित्सा सांख्यिकी और महामारी विज्ञान के प्रोफेसर जोनाथन स्टर्न ने कहा, “स्टेरॉयड एक सस्ती और आसानी से उपलब्ध दवा है, और हमारे विश्लेषण ने पुष्टि की है कि वे लोगों में कोविड​​-19 से सबसे अधिक प्रभावित होने वाली मौतों को कम करने में प्रभावी हैं.”
उन्होंने कहा कि ब्रिटेन, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, स्पेन और संयुक्त राज्य अमेरिका में शोधकर्ताओं द्वारा किए गए परीक्षणों में, लगातार एक संदेश दिया गया, जिसमें दिखाया गया कि ड्रग्स, उम्र या सेक्स या फिर या कितने समय तक रोगी बीमार रहा इसकी की परवाह किए बिना सबसे बीमार रोगियों में फायदेमंद थे.

अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित निष्कर्ष, परिणामों को सुदृढ़ करते हैं जिन्हें एक बड़ी सफलता के रूप में देखा गया और जून में घोषणा की गई, जब डेक्सामेथासोन गंभीर ड्रग कोविड ​​-19 रोगियों के बीच मृत्यु दर को कम करने में सक्षम होने वाली पहली दवा बन गई.

डेक्सामेथासोन तब से कुछ देशों में कोविड ​​-19 रोगियों का इलाज करने वाले गहन देखभाल वार्डों में व्यापक उपयोग में है.

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में मेडिसिन और महामारी विज्ञान के एक प्रोफेसर मार्टिन लैंडरे, जो बुधवार को प्रकाशित किए गए विश्लेषण के एक प्रमुख भाग डेक्सामेथासोन परीक्षण पर काम कर रहे थे, ने कहा कि दुनिया भर के अस्पतालों में डॉक्टरों का कहना है कि जान बचाने के लिए दवाओं का उपयोग करने के लिए सुरक्षित रूप से स्विच किया जा सकता है.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा “ये परिणाम स्पष्ट हैं, और नैदानिक अभ्यास में तुरंत प्रयोग करने योग्य हैं. “कोविड -19 के साथ गंभीर रूप से बीमार रोगियों में, कम खुराक वाले कॉर्टिकोस्टेरॉइड … मौत के जोखिम को काफी कम करते हैं.”

शोधकर्ताओं ने कहा कि फायदे के लिए कि रोगियों समय इलाज जब वह वेंटिलेशन पर थे तब शुरू कर दिया और इसने इसकी परवाह किए बिना फायदे दिखाए. उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ ताजा परिणामों को प्रतिबिंबित करने के लिए अपने दिशानिर्देशों को तुरंत अपडेट करेगा.

डेक्सामेथासोन पर जून के निष्कर्षों तक, नए कोरोनोवायरस के कारण होने वाले श्वसन रोग कोविड ​​-19 के रोगियों में मृत्यु दर को कम करने के लिए कोई प्रभावी उपचार नहीं दिखाया गया था.

पूरी दुनिया में 2.5 करोड़ से अधिक लोग कोविड -19 से संक्रमित हुए हैं और 856,876 लोग मारे गए हैं.

गिलियड साइंसेज इंक के रेमेडिसविर को संयुक्त राज्य अमेरिका के नियामकों द्वारा मई में गंभीर कोविड -19 के रोगियों में इस्तेमाल के लिए अधिकृत किया गया था.

इंपीरियल कॉलेज लंदन के प्रोफेसर एंथोनी गॉर्डन, जिन्होंने विश्लेषण पर भी काम किया, ने कहा कि इसके परिणाम उन रोगियों के लिए अच्छी खबर है जो कोविड ​​-19 के साथ गंभीर रूप से बीमार हो जाते हैं, लेकिन संक्रमण के प्रकोप को कम करने या संक्रमण नियंत्रण उपायों को कम करने के लिए पर्याप्त नहीं होगा.

“ये परिणाम के रूप में प्रभावशाली हैं पर, यह एक इलाज नहीं है. अब हमारे पास कुछ ऐसा है जो मदद करेगा, लेकिन यह एक इलाज नहीं है, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हम सभी रोकथाम रणनीतियों को बनाए रखें.”

Related Articles

विज्ञापन

Latest Articles

देहरादून: सीएस सचिव राधा रतूड़ी ने खेल विभाग की समीक्षा की

0
देहरादून| सीएस सचिव राधा रतूड़ी ने विधानसभा भवन में खेल विभाग के साथ श्री पूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम, मुनि की रेती टिहरी तथा इन्दिरा गांधी...

धामी ने जमाया सिक्का, 100 शक्तिशाली भारतीयों की सूची में मिली जगह

0
देहरादून| उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को सबसे शक्तिशाली भारतीयों की सूची में जगह मिली है. सौ सबसे शक्तिशाली भारतीयों की सूची में...

हिमाचल प्रदेश: सुक्खू सरकार पर मंडराए संकट के बादल फिलहाल छंटे, बनें रहेंगे सीएम

0
हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा की एक सीट पर हुए चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार पर मंडराए संकट के बादल...

हल्द्वानी हिंसा: मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक का बेटा अब्दुल मोईद गिरफ्तार,

0
हल्द्वानी हिंसा का मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक का बेटा अब्दुल मोईद पुलिस की गिरफ्त में आ गया है. पुलिस ने अब्दुल मोईद को दिल्ली से...

टीएमसी की शाहजहां शेख पर बड़ी कार्रवाई, 6 साल के लिए पार्टी से किया...

0
पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में घटी घटना के मुख्य आरोपी शाहजहां शेख को गिरफ्तार कर लिया गया है. शाहजहां शेख को 10 दिन की...

लोकसभा चुनाव 2024: इंडी गठबंधन में शामिल न होने से नाराज ओवैसी, अखिलेश यादव...

0
लखनऊ| आगामी लोकसभा चुनाव में इंडी गठबंधन में शामिल न होने से नाराज असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने प्रदेश की 7 लोकसभा सीटों...

1993 सीरियल बम ब्लास्ट केस: आरोप करीम टुंडा सबूतों के अभाव में बरी, इरफान...

0
1993 सीरियल ब्लास्ट मामले में अजमेर की टाडा कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए आरोपी अब्दुल करीम टुंडा को बरी कर दिया है. टुंडा...

संदेशखाली हिंसा: मुख्य आरोपी शाहजहां शेख को 10 दिन की पुलिस रिमांड, 55 दिनों...

0
पश्चिम बंगाल पुलिस ने प्रवर्तन निदेशालय की टीम पर हमले के मुख्य आरोपी और टीएमसी नेता शाहजहां शेख को बशीरहाट कोर्ट ने पुलिस रिमांड...

हिमाचल प्रदेश के छह बागी कांग्रेस विधायकों पर बड़ा एक्शन, विधायिकी बर्खास्त

0
शिमला| हिमाचल प्रदेश के छह बागी विधायकों पर बड़ा एक्शन हुआ है. विधानसभा से इन सभी छह विधायकों की विधायिकी बर्खास्त कर दी गई...

केंद्र ने दो और मुस्लिम संगठन पर लगाया प्रतिबंध, कश्मीर आतंकवाद से जुड़ें हैं...

0
जम्मू और कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान में जुटी केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए दो और मुस्लिम संगठनों को बैन कर दिया...