भारत ने अरुणाचल प्रदेश में चीनी घुसपैठ को किया विफल

एक बार फिर चीन के सैनिकों ने भारत की सरजमीं पर घुसने की हिमाकत की है. हालांकि भारतीय सेना ने चीनी सैनिकों के मंसूबों पर पानी फेरते हुए उसके कई सैनिकों को अस्‍थायी रूप से हिरासत में ले लिया है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चीनी सैनिकों ने अरुणाचल प्रदेश के तवांग में घुसपैठ कर भारतीय सीमा पर बने खाली बंकरों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की थी. ऐसी खबर है कि चीन के लगभग 200 सैनिक भारतीय सीमा के अंदर घुसे थे, जिसे भारतीय सैनिकों ने खदेड़ दिया.

जानकारी के मुताबिक ये घटना पिछले हफ्ते वास्तविक नियंत्रण रेखा के करीब बुम ला और यांग्त्से के सीमा दर्रे के बीच हुई थी. सूत्रों के मुताबिक, वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के सैनिकों ने बॉर्डर पर घुसने की कोशिश की, जिसका भारतीय सैनिकों ने कड़ा विरोध किया और कुछ चीनी सैनिकों को अस्थायी रूप से हिरासत में लिया गया.

एएनआई ने रक्षा प्रतिष्ठान के सूत्रों के हवाले से कहा,कि एंगेजमेंट में किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है. भारतीय सेना की ओर से आमने-सामने की कोई जानकारी नहीं मिली है और दावों पर सरकार की प्रतिक्रिया का इंतजार है. बताया जा रहा है कि करीब 200 चीनी सैनिक एलएसी पर आ गए थे. लेकिन सतर्क भारतीय सैनिकों ने उन्हें दौड़ाया जिसके बाद चीनी सैनिक भाग गए.

30 अगस्त को, पीएलए के करीब 100 सैनिकों ने उत्तराखंड के बाराहोटी सेक्टर में एलएसी का उल्लंघन किया और कुछ घंटे बिताने के बाद क्षेत्र से लौट आए, विकास से परिचित लोगों ने कहा था.चीनी उल्लंघन पर कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई थी.

पूर्वी लद्दाख में कई इलाकों में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच जारी गतिरोध के बीच यह घटना हुई, हालांकि दोनों पक्षों ने दो संवेदनशील स्थानों पर विघटन पूरा कर लिया.

चीनी पक्ष ने इस क्षेत्र में एलएसी के साथ बुनियादी ढांचे के विकास में काफी तेजी लाई है और भारत पीएलए के आंदोलन की बारीकी से निगरानी कर रहा है.दोनों पक्षों ने संवेदनशील क्षेत्र में एलएसी पर 50,000 से 60,000 सैनिकों को तैनात किया है. जानकार कहते हैं कि दरअसल चीन के साथ भारत का सही तरह से सीमा निर्धारण ना हो पाना एक बड़ी वजह है.

खासतौर से पहाड़ी इलाकों में टेरेन को लेकर संकल्पना के स्तर पर दिक्कत आती है. मसलन एलएसी पर जब दोनों देशों के सैनिक आमने सामने आते हैं तो सवाल यही होता है कि दोनों पक्ष कहते हैं वो अपने इलाके में गश्त कर रहे हैं लेकिन उसे लेकर तनाव उठ खड़ा होता है.

Related Articles

Latest Articles

मुख्यमंत्री घोषणा के अंतर्गत सीएम धामी ने विभिन्न कार्यों हेतु प्रदान की स्वीकृति

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री घोषणा के क्रम में जनपद उधमसिंह नगर के विधानसभा क्षेत्र खटीमा स्थित शहीद स्थल पर शैड के निर्माण...

देहरादून: मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने दिए जाली प्रमाण-पत्रों के मामलों में कड़ी कार्यवाही...

0
देहरादून| मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने जाली प्रमाण-पत्रों के मामलों में कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिए हैं. सीएस ने आम जनता के लिए जन्म-मृत्यु...

अंतरिक्ष से कुछ ऐसा नजर आता है राम सेतु, यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने शेयर...

0
यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने हाल ही में भारत और श्रीलंका को जोड़ने वाली श्रृंखला राम सेतु या एडम ब्रिज की एक उच्च-रिज़ॉल्यूशन तस्वीर शेयर...

जिंबाब्वे दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐलान, शुभमन गिल को सौंपी गई कमान

0
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने जुलाई में जिंबाब्वे के खिलाफ खेली जाने वाली 5 टी 20 मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम का...

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को मिली बड़ी जिम्मेदारी राज्यसभा में नेता सदन बनाए गए...

0
केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा को राज्यसभा में नेता सदन बनाया गया है. सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. चार साल से अधिक समय...

नीट विवाद को लेकर प्रदर्शन कर रहे एनएसयूआई के छात्रों ने की एनटीए को...

0
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के जंतर-मंतर पर छात्र संगठन एनएसयूआई ने नीट परीक्षा में धांधली को लेकर सोमवार को विरोध प्रदर्शन किया. एनएसयूआई के प्रेसिडेंट...

मोदी 3.0 के पहले 15 दिनों में क्या-क्या हुआ! राहुल गांधी ने गिनाया

0
पार्लियामेंट सेशन का आज पहला दिन शुरू हो गया है. विपक्ष कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है. इसी बीच...

जैसे ही धर्मेंद्र प्रधान शपथ लेने के लिए उठे! विपक्ष चिल्लाने लगा नीट-नीट

0
नीट पेपर लीक पर मचे घमासान के बीच लोकसभा सत्र में भी इस मुद्दे की गूंज सुनाई दी. हुआ ये कि सोमवार को 18वीं...

Tamil Nadu Hooch Case: जेपी नड्डा ने खड़गे को लिखा पत्र, कांग्रेस पार्टी की...

0
तमिलनाडु में अवैध शराब से हुई मौतों को लेकर केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को...

सीएम केजरीवाल को सुप्रीमकोर्ट से फिलहाल राहत नहीं, अगली सुनवाई 26 जून को

0
दिल्ली| सोमवार को सीएम अरविंद केजरीवाल की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. हालांकि, कोर्ट से केजरीवाल को फिलहाल कोई राहत नहीं...