बजट 2021: आम बजट से मध्यमवर्ग की ये हैं उम्मीदें…

महामारी के दौर से उबरते देश के आर्थिक मोर्चे पर मजबूत करना भी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के लिए भी बड़ी चुनौती है. इस दौरान बड़े उद्योगपतियों के अलावा छोटे कारोबारियों और मध्यम वर्ग ने भी बड़ा नुकसान उठाया है.

इस समस्या से निजात पाने के लिए ग्रोथ बढ़ाने, रोजगार के मौके तैयार करने, आय में इजाफा, निवेश को प्रोत्साहित करने जैसे कई बड़े कदम उठाने की जरूरत है. ऐसे में इस बजट से आम आदमी और मध्यमवर्गीय भी बड़ी उम्मीद लगाए बैठा है. आइए जानते हैं कि आम बजट 2021 से एक मध्यमवर्गीय परिवार क्या चाहता है. इस बजट में सरकार वर्क फ्रॉम होम कर रहे वेतनभोगी कर्मचारियों के उठाए जा रहे खर्चों में छूट देने पर विचार कर सकती है.

वैश्विक महामारी के बीच वेतनभोगी मध्यमवर्गीय करदाताओं को राहत देने के लिए केंद्र सरकार को स्टैंडर्ड डिडक्शन की सीमा को बढ़ाने पर विचार करना चाहिए. स्टैंडर्ड डिडक्शन एक तय छूट होती है, जो निश्चित आय वाले करदाताओं को मिलती है. 2018-19 के बजट में स्टैंडर्ड डिडक्शन ने मेडिकल और ट्रांसपोर्ट अलाउएंस की जगह ली थी. उस समय एक वेतनभोगी व्यक्ति या पेंशन पाने वाला अपनी आय से 40 हजार रुपए के स्टैंडर्ड डिडक्शन का दावा कर सकता था. अगले बजट में इसे बढ़ाकर 50 हजार रुपए कर दिया गया था.

होम लोन की मूल राशी चुकाए जाने पर मिलने वाले 1.50 लाख रुपए के डिडक्शन को अलग सेक्शन में दिया जाना चाहिए. इसे 80C के साथ नहीं मिलाया जाना चाहिए. क्योंकि कई मामलों में यह आंकड़ा दूसरी चीजों की वजह से पहले ही पार हो जाता है. इसके अलावा डिडक्शन पजेशन के बजाए उसी साल मिलना चाहिए, जब लोन लिया गया है.

80C के तहत एक व्यक्ति को LIP, होम लोन की मूल राशी चुकाने, एफडी, पीएफ जैसे कई पेमेंट्स मिलने के बाद 1.5 लाख रुपए की छूट मिलती है. बीते कुछ समय की महंगाई पर विचार करते हुए सरकार इसकी अपर लिमिट बढ़ाकर 2.5-3 लाख रुपए कर सकती है.

वैश्विक महामारी ने हमें बताया है कि हेल्थ इंश्योरेंस अब केवल एक विकल्प नहीं है, हमें इसकी जरूरत है. जिंदगी बचाने की जद्दोजहद में इंश्योरेंस की जरूरत काफी हद तक बढ़ गई है. कई हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस कवर जरूरी कर दिया है. इन हालात को देखते हुए सरकार 80D के तहत हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम पर अपर लिमिट बढ़ा सकती है.

साभार-न्यूज़ 18

Related Articles

Latest Articles

राजस्थान: किरोड़ी लाल के इस्तीफे को लेकर चर्चाएं तेज!

0
इस समय राजस्थान के सियासी गलियारे से बड़ी खबर सामने आ रही है. राजस्थान सरकार में कृषि और ग्रामीण विकास मंत्री किरोड़ी लाल...

सीएम धामी ने रुद्रप्रयाग वाहन दुर्घटना पर जताया दुःख, दिए जांच के आदेश

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने जनपद रुद्रप्रयाग में हुई वाहन दुर्घटना पर दुःख व्यक्त किया है. सीएम ने इस दुर्घटना में दिवंगतों की आत्मा...

एनटीए ने यूजीसी नेट परीक्षा के लिए जारी किए प्रवेश पत्र, ऐसे करें डाउनलोड

0
नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की तरफ से यूजीसी नेट परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र जारी कर दिए हैं. जिन्हें उम्मीदवार आधिकारिक साइट ugcnet.ntaonline.in पर जाकर...

शरद पवार ने पीएम मोदी को क्यों कहा- थैंक्यू, जानिए कारण

0
लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद देश में एनडीए की नई सरकार बन गई है. विपक्षी दलों के नेता लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के...

मुख्यमंत्री योगी व सांसद कंगना का एडिट विडिओ बना कर एक्स पर किया वायरल,...

0
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सांसद कंगना रनौत का वीडियो एडिट कर सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर वायरल करने वाले एक यूजर के खिलाफ हजरतगंज...

दिल्ली के जल संकट पर आप की बैठक, हमने हरियाणा से पानी देने की...

0
दिल्ली में पानी का संकट दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है, जिससे कई इलाकों के निवासी गंभीर पानी की कमी का सामना कर रहे...

सीएम धामी के निर्देश के बाद, 13 आईएएस अधिकारियों को दी गई प्रभारी की...

0
लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद उत्तराखंड में योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए पुष्कर सिंह धामी सरकार ने उत्तराखंड के 13 ज़िलों...

दिल्ली के नोएडा सेक्टर 67 में दो कार्यालयों में लगी आग

0
नोएडा के सेक्टर 67 में शनिवार को दो दफ़्तरों में आग लग गई। एएनआई ने एक्स पर एक पोस्ट में बताया कि आग बुझाने...

रुद्रप्रयाग हादसा: संजोने जा रहे थे यादें, एक झपकी ने तहस- नहस कर दी...

0
आज उत्तराखंड में घटित दर्दनाक हादसे में नौ लोगों की जानें चली गई हैं। यह हादसा उन्हीं लोगों के जीवन को चौंका देने वाला...

रुद्रप्रयाग में बड़ा हादसा: 26 यात्रियों समेत टैंपो ट्रैवलर अलकनंदा नदी में गिरा, 10...

0
उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में बड़ा हादसा हुआ है, जहां एक टैंपो ट्रैवलर अलकनंदा नदी में गिर गया। इस हादसे में 10 लोगों की...