तंबाकू निषेध डे विशेष: देर होने से पहले बनें समझदार, अच्छी सेहत के लिए तंबाकू छोड़ने और छुड़ाने का लें ‘संकल्प’

आज 31 मई है. महीने की आखिरी तारीख हमेशा से बदलाव और संकल्पों की साक्षी रही है. इसके बाद नए महीने की शुरुआत होती है. पिछले महीनों की कमियों को भूलकर ‘नए इरादों’ के साथ मनुष्य आगे बढ़ता है. कल मंगलवार को एक जून शुरू हो रहा है. यानी नया करने की शुरुआत. आज मई के आखिरी दिन कुछ ऐसा करें जिससे आपका स्वास्थ्य भी सही रहे. आइए अब बात को आगे बढ़ाते हैं. 31 मई को ‘विश्व तंबाकू निषेध दिवस’ मनाया जाता है.

इस मौके पर तंबाकू से होने वाली हानियों के बारे में चर्चा करेंगे.भागदौड़ भरे जीवन में ऐसे ही तमाम बीमारियां लोगों को घेरती जा रही हैं. मनुष्य को एक जीवन मिला हैै, इसको भरपूर हर दिन हर पल खूब ‘इंजॉय’ कर के जियो. कोई भी मादक व्यसन का उपयोग न करें, यह हमारे शरीर को बहुत तेजी से नुकसान पहुंचाते हैं, जब तक हम उसके बारे में जान पाते हैं तब तक बहुत देर हो जाती है. तंबाकू यह ऐसा नशा है जिसको ‘धीमा जहर’ भी कहा जाता है.

यह भी पढ़ें -  यूपी के उपमुख्यमंत्री ने राजभर को बताया 'सच्चा दोस्त', दूरियां हो रही कम

वैसे यह भी सच है कि कोरोना महामारी के दौरान देश और दुनिया के लोग अपनी सेहत के प्रति बहुत सचेत हुए हैं. अगर आप तंबाकू के आदी हैं तो आज अच्छे जीवन और स्वस्थ शरीर के लिए ‘संकल्प’ लीजिए कि इसका सेवन कभी नहीं करेंगे.

हर वर्ष वर्ल्ड नो टोबैको डे पर जो कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं वो इसी विशेष थीम पर आधारित होते हैं. कोरोना के चलते इस वर्ष ज्यादातर कार्यक्रम ऑनलाइन माध्यम से आयोजित होंगे.

क्‍या है इस बार की थीम
इस बार ‘विश्‍व तंबाकू निषेध दिवस’ की थीम है– ‘पर्यावरण की रक्षा करें’. बता दें कि पिछले साल इस दिवस की थीम “कमिट टू क्विट” थी

तो आइए इस बार संकल्प लें कि तंबाकू रूपी जहर को हमेशा के लिए अलविदा कह देंगे. विश्व तंबाकू निषेध दिवस के मौके पर तंबाकू या इसके उत्पादों के उपभोग पर रोक लगाने या इस्तेमाल को कम करने के लिए लोगों को जागरूक किया जाता है. इस दिन का मुख्य उद्देश्य लोगों को तंबाकू से होने वाले स्वस्थ्य नुकसान के विषय में सचेत करना है.

यह भी पढ़ें -  अधर्म पर धर्म की जीत का प्रतीक: दशहरा पर पूरे देश में छाया खुशियों का उल्लास, तीन शुभ योग के साथ मनाया जा रहा यह पर्व

इसमें सिगरेट, बीड़ी, गुटखा और खैनी जैसे तंबाकू उत्पादों का सेवन करने वाले लोग शामिल हैं. तंबाकू के प्रति के युवा वर्ग भी बहुत तेजी के साथ आकर्षित होते जा रहे हैं.‌ आप भी तंबाकू छोड़िए और जो लोग इसका सेवन कर रहे हैं उनको भी इसकी आदत छुड़वाइए.

वर्ष 1987 में पहला विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाने की हुई थी शुरुआत
साल 1987 में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने तंबाकू के सेवन से होने वाले रोगों की वजह से मृत्युदर में वृद्धि को देखते हुए इसे एक महामारी माना. इसके बाद पहली बार 7 अप्रैल 1988 को डब्ल्यूएचओ की वर्षगांठ पर मनाया गया और जिसके बाद हर साल 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.

यह भी पढ़ें -  फ्रांस की लेखिका एनी एर्नेक्स को मिलेगा इस साल का लिटरेचर के लिए नोबेल प्राइज

गौरतलब हैै कि भारत समेत दुनिया भर के तमाम देशों में युवाओं में इसकी लत तेजी के साथ लगती जा रही है. यहां हम आपको बता रहेे हैं कि तंबाकू के सेवन करने से यह बीमारियां होती हैं. कैंसर-फेफड़ों और मुंह का कैंसर होना, फेफड़ों का खराब होना, दिल की बीमारी, आंखों से कम दिखना, मुंह से दुर्गंध आदि.

एक ओर भारत समेत दुनियाभर के देशों में इसके खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है, तो दूसरी ओर कंपनियां तंबाकू उत्पादों को युवाओं और महिलाओं में लोकप्रिय करने की कोशिश कर रही हैं.

तंबाकू विरोधी अभियानों पर दुनिया के देश जितना खर्च करते हैं, उससे पांच गुना ज्यादा वे तंबाकू पर टैक्स लगाकर कमाते हैं. आज इस मौके पर आइए हम सब लोग समाज के जिम्मेदार नागरिक बने और उसको छोड़ने और छुड़ाने का संकल्प लें.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,246FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

मचा हड़कंप: डब्ल्यूएचओ ने भारत के ‘4 कफ सिरप’ को जानलेवा बताते हुए जारी...

0
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) ने भारत के चार 'कफ सिरप' को जानलेवा बताते हुए अलर्ट के साथ चेतावनी भी जारी की है। डब्ल्यूएचओ ने...

यूकेएसएससी पेपर लीक मामला: हाकम सिंह समेत 10 और आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट

0
उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की स्नातक स्तरीय परीक्षा के पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने हाकम सिंह समेत 10 और आरोपियों के खिलाफ...

उत्तरकाशी एवलॉन्च: अब तक 16 शव बरामद, रेस्क्यू ऑपरेशन में मौसम बना बाधा

0
उत्तरकाशी जिले के द्रौपदी डांडा-टू में एवलॉन्च हादसे के बाद क्रेवास में फंसे पर्वतारोहियों तक गुरूवार को भी रेस्क्यू टीम नहीं पहुंच पाई....

फ्रांस की लेखिका एनी एर्नेक्स को मिलेगा इस साल का लिटरेचर के लिए नोबेल...

0
पहले चिकित्सा फिर भौतिक उसके बाद केमिस्ट्री के लिए नोबेल पुरस्कार के नामों का एलान किया जा चुका है. ‌ आज इसी कड़ी में...

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रैन की रफ्तार पर भैसों ने लगाई ब्रेक, अगला हिस्सा हुआ...

0
वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन गुरुवार को हादसे का शिकार होने से बच गई. मुंबई सेंट्रल से गांधीनगर के बीच चलने वाली यह ट्रेन गुरुवार...

अंबानी परिवार को फोन पर धमकी देने वाला युवक दरभंगा से गिरफ्तार

0
अंबानी परिवार को फोन पर धमकी दिए जाने के मामले में मुंबई पुलिस ने बिहार के दरभंगा से एक व्यक्ति को हिरासत में लिया...

यूपी के उपमुख्यमंत्री ने राजभर को बताया ‘सच्चा दोस्त’, दूरियां हो रही कम

0
लखनऊ| सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर और उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा के बीच दूरियां कम होती हुई नजर...

बिहार सियासत से बड़ी खबर, राजद प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे सकते...

0
पटना| इस समय बिहार की सियासत से बड़ी खबर है कि राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं....

थाईलैंड: बच्चों के देखभाल केंद्र में सामूहिक गोलीबारी, 31 लोगों की मौत

0
हाल फिलहाल दुनिया भर के कई देशों में के दिनों में गोलबारी की घटनाओं में वृद्धि देखी जा रही है. अमेरिका में ऐसे कई...

भारत जोड़ो यात्रा का 29वां दिन: राहुल को मां सोनिया गांधी का मिला साथ,...

0
पिछले महीने कांग्रेस ने 7 सितंबर से कन्याकुमारी से कश्मीर तक 'भारत जोड़ो यात्रा' शुरुआत की थी. इस यात्रा का नेतृत्व अभी तक केरल...
%d bloggers like this: