Farmer Protest:4 में से 2 विषयों पर सहमति बनी, किसानों और सरकार के बीच अब 4 जनवरी को होगी वार्ता

नई दिल्ली| तीन नए कृषि कानूनों पर गतिरोध खत्म करने के लिए किसान संगठनों और सरकार के बीच जारी वार्ता में कोई हल नहीं निकल सका है. अब किसान संगठनों और सरकार के बीच चार जनवरी को बातचीत होगी.

रिपोर्टों के मुताबिक आज की बातचीत में गतिरोध तोड़ने की दिशा में कुछ सकारात्मक पहल देखने को मिली. सरकार का कहना है कि वह कानूनों में संशोधन करने के लिए तैयार है लेकिन कानूनों को वापस नहीं लेगी जबकि किसान संगठन तीनों कानूनों की रद्द करने की अपनी मांग पर अड़े हैं. सरकार एमएसपी पर एक समिति बनाने पर सहमति हुई है.

बातचीत के बाद केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा, ‘आज की बैठक पूर्व की तरह बहुत अच्छे वातावरण में हुई. किसान नेताओं ने चार विषय चर्चा के लिए रखे उनमें दो विषयों पर आपसी रजामंदी सरकार और किसान नेताओं के बीच हुी है.

पहला पर्यावरण से संबंधी आध्यादेश में पराली को लेकर रजामंदी बनी है.बिजली कानून मसौदा बिल पर भी दोनों पक्षों में सहमति बनी है. पचास प्रतिशत रजामंदी हो गई है. तीन कानून को खत्म करने की मांग किसान संघों ने की.

हमने उन्हें बताया कि इसमें जहां भी परेशानी है उस पर चर्चा करने के लिए सरकार तैयार है. किसान संघ एमएसपी को कानूनी दर्जा देना चाहते हैं. कृषि कानूनों और एमएसपी पर सहमति नहीं बन पाई है. हम इस पर आगे चर्चा करेंगे.’

इससे पहले भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के प्रमुख नरेश टिकैत ने कहा कि वार्ता में किसान संघ विजयी होकर लौटेगा. किसानों के लिए यह परीक्षा की घड़ी है. इस समय किसान यदि एकजुट नहीं होंगे तो आगे उनके लिए मुश्किल खड़ी हो जाएगी. टिकैत ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि विज्ञान भवन में सरकार के साथ बातचीत सही दिशा में चल रही है. उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि आज समस्या का समाधान निकल जाएगा. मैंने किसानों से जरूरत पड़ने पर अपना पैर थोड़ा पीछे खींचने के लिए भी कहा है.’

नए कृषि कानूनों पर गतिरोध तोड़ने के लिए विज्ञान भवन में किसान संगठनों के प्रतिनिधियों की केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गोयल के साथ बातचीत चल रही है. बातचीत के मध्य में किसानों के साथ तोमर और गोयल लंगर करते नजर आए हैं.

इससे बातचीत के सही दिशा में होने के संकेत मिले हैं. इस समस्या का समाधान निकालने के लिए किसान संगठनों और सरकार के बीच यह छठवें दौर की बातचीत चल रही है. अब तक पांच दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन समाधान नहीं निकल सका है.

छठवें दौर की बातचीत के लिए सरकार ने 30 दिसंबर की तारीख तय की थी. इसके पहले 29 दिसंबर को किसान संगठनों ने सरकार को पत्र लिखकर बातचीत का एजेंडा तय कर दिया. किसान संगठनों की चार प्रमुख मांगे हैं. किसानों ने तीनों कृषि कानूनों को खत्म करने, एमएसपी को कानूनी दर्जा देने, बिजली कानून ड्राफ्ट रद्द करने और पराली से जुड़े कानून को खत्म करने की मांग की है. सरकार का कहना है कि वह एमएसपी पर लिखित आश्वासन देने के लिए तैयार है लेकिन वह कानूनों को खत्म नहीं करेगी.

किसान और सरकार के बीच छठवें दौर की बातचीत नौ दिसंबर को होनी थी लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और किसान संगठनों के कुछ नेताओं के बीच एक औपचारिक बैठक में कोई सहमति नहीं बन पाने पर बातचीत टाल दी गई थी. पांचवें दौर की बातचीत पांच दिसंबर को हुई थी. इससे पहले की बैठकों में सरकार के साथ लंच करने की पेशकश को किसान संगठनों ने ठुकरा दिया था.

यह भी पढ़ें -  बिहार संकट: नीतीश कुमार ने पेश किया नई सरकार बनाने का दावा, राज्यपाल को 164 विधायकों का समर्थन पत्र सौंपा

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

कांग्रेस महसचिव प्रियंका गांधी वाड्रा फिर से कोरोना पॉजिटिव

0
कांग्रेस महसचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को कोरोना वायरस हो गया है. बुधवार (10 अगस्त, 2022) को यह जानकारी उन्होंने टि्वटर के जरिए के दी....

Covid19: देश में आज फिर बढ़े कोरोना के मामले, एक्टिव केस 1.28 लाख

0
कोरोना के मामलों में मंगलवार को गिरावट देखने को मिली थी, लेकिन बुधवार को एक बार फिर से कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी...

केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे उत्तराखंड,...

0
मंगलवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में...

यूपी: आजमगढ़ से आईएसआईएस का एक संदिग्‍ध गिरफ्तार, आरएसएस नेता थे निशाने में

0
यूपी एटीएस ने आजमगढ़ से आतंकी संगठन आईएसआईएस के एक संदिग्‍ध को गिरफ्तार किया है. एटीएस का दावा है कि सबाउद्दीन आजमी राष्ट्रीय स्वयं...

राशिफल 10-08-2022: आज इन राशियों को मिलेगा भाग्योदय से लाभ

0
मेष : किसी अनजान के साथ व्यापार करना महंगा पड़ सकता है. विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं. पैसों से जुड़ा लेनदेन करने...

10 अगस्त 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 10 अगस्त 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

Bihar: 10 अगस्त को नीतीश कुमार लेंगे सीएम पद की शपथ

0
पटना| बुधवार 10 अगस्त शाम 2 बजे नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. तेजस्वी यादव होंगे डिप्टी सीएम. मंगलवार को बिहार के राज्यपाल...

यूजीसी-नेट के दूसरे चरण की परीक्षा स्थगित, अब इस दिन से होगी...

0
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) को स्थगित कर दिया गया है और अब यह 20 से 30 सितंबर के बीच...

हर घर तिरंगा’ अभियान: आईटीबीपी की महिला जवानों ने 17,000 फीट की ऊंचाई पर...

0
देश 75वें स्वतंत्रता दिवस के उपल्क्षय में आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. साथ में हर घर तिरंगा कैंपेन भी चलाया जा...

जाने-माने पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रूडी कर्टजन का सड़क दुर्घटना में निधन

0
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रूडी कर्टजन का मंगलवार को यहां के निकट रिवरडेल शहर में एक कार दुर्घटना में निधन हो गया....
%d bloggers like this: