अब उपनल के जरिए गैर सैनिक आश्रित भी नौकरी कर सकेंगे, कैबिनेट बैठक में 28 प्रस्तावों को मंजूरी

शुक्रवार को उत्तराखंड कैबिनेट मीटिंग में कुल मिलाकर 28 फैसलों पर मुहर लगी है. बैठक में कुल मिलाकर 30 प्रस्ताव रखे गए, इनमें से 1 पर कैबिनेट की उप समिति बनाई गई है, जबकि एक प्रस्ताव वापस कर दिया गया. कैबिनेट मीटिंग में कृषि एंव उद्यान विभाग के एकीकरण को मंजूरी मिल गई है.

इसके अलावा उपनल के जरिए पूर्व सैनिक या उनके आश्रितों के अलावा अन्य लोगों को भी नौकरी मिलने को भी कैबिनेट की स्वीकृति मिली है. बैठक में सीमांत क्षेत्रों में मोबाइल टावर लगाने व पर्यटकों के लिए पर्यटक प्रोत्साहन कूपन योजना को भी मंजूरी दी गई.

1- कैबिनेट की बैठक में उपनल को लेकर फैसला लिया गया है. अब उपनल के जरिए गैर सैनिक आश्रित भी नौकरी लग सकेंगे. हालांकि नौकरियों में पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों को प्राथमिकता दी जाएगी.
2- उत्तराखँड में कृषि एंव उद्य़ान विभाग के एकीकरण को मंजूरी दी गई है. दोनों विभागों की योजनाएं एक छत के नीचे संचालित होंगी.
3-पर्यटकों के लिए पर्यटक प्रोत्साहन कूपन योजना को मंजूरी. ई-बुकिंग करने पर पर्यटकों को 1000 रुपए तक छूट मिलेगी. यह छूट उत्तराखंड में 3 दिन रहने पर ही मिलेगी
4-मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना को मंजूरी, 25 मेगावाट तक सोलर प्लांट लगाने हेतु स्टांप ड्यूटी व भूमि उपयोग परिवर्तन में भी छूट मिलेगी.
5- केदारनाथ में चिनूक हेलीकॉप्टर उतारने के लिए हेलीपैड विस्तार को भी मंजूरी दी गई.
6-राजकीय महाविद्यालय में गेस्ट फैकल्टी की अवधि 1 साल बढ़ाई गई, इससे 257 शिक्षकों को लाभ पहुंचेगा.
7-सीमांत क्षेत्रों में मोबाइल फोन टावर लगाने को निजी कंपनियों को प्रति टावर मिलेंगे 40 लाख रुपये सरकार की ओर से दिए जाएंगे. इसके लिए आइटी नीति में संशोधन को स्वीकृति मिली है.
8– उत्तराखंड नागरिक सुरक्षा नियमावली में संशोधन को मंजूरी.
9-मेडिकल कालेज में मेडिकल सोशल वर्क सेवा नियमावली को मंजूरी.
10-देहरादून के मेहरे गांव में शहीद के नाम पर बनने पेट्रोल पंप में नियमों में दी गयी छूट.
11-जूना अखाड़ा महादेवी मंदिर के अंतर्गत आने वाले माया देवी मंदिर और भैरव देवी मंदिर की ऊंचाई बढाये जाने को कैबिनेट ने दी मंजूरी.
12-एक्सरे प्राविधिक सेवा नियमावली को मंजूरी.
13-उत्तर प्रदेश श्रम नियमवली को उत्तराखंड कैबिनेट ने सुधार को दी मंजूरी.
14- उत्तराखंड राज्य विश्वविद्यालय विधेयक 2020 को विधेयक लाने पर मंजूरी
15-खरसाली-यमुनोत्री रोपवे को पीपीमोड पर बनाया जाएगा.


Related Articles

Latest Articles

पीएम मोदी ने की बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवात रेमल को लेकर समीक्षा...

0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार शाम बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवात रेमल को लेकर समीक्षा बैठक की. इस दौरान पीएम मोदी ने अधिकारियों...

बेबी केयर सेंटर का मालिक गिरफ्तार, पुलिस एफआईआर में जोड़ सकती है धारा-304

0
रविवार को पूर्वी दिल्ली के विवेक विहार में बच्चों के एक अस्पताल में भीषण आग लगने से 6 नवजात शिशुओं की मौत के मामले...

स्वाति मालीवाल ने आप नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए, यूट्यूबर ध्रुव राठी का भी...

0
आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल और अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव रहे बिभव कुमार के बीच का विवाद थमने का नाम...

मलेशिया मास्टर्स खिताब जीतने से चूकी सिंधु फाइनल में नहीं लांघ पाईं ‘चीनी दीवार’

0
भारत की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधु का 2 साल से खिताबी सूखा बदस्तूर जारी है. सिंधु रविवार को मलेशिया मास्टर्स बैडमिंटन टूर्नामेंट में...

हल्द्वानी: लावारिस सांड की एक बाइक से टक्कर, हादसे में युवक की मौत

0
हल्द्वानी| हल्द्वानी से दुखद घटना की खबर सामने आ रही है. यहां एक लावारिस सांड की एक बाइक से टक्कर हो गई. इस हादसे...

क्या है ‘रेमल’ का मतलब! आखिर कौन तय करता है तूफान का नाम

0
चक्रवार्ती तूफान ‘रेमल’ रविवार (26 मई) की रात पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तट से टकरा सकता है. मौसम विभाग ने कहा है कि...

‘रेमल’ चक्रवात भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील, रविवार रात बंगाल-बांग्लादेश के तटों से टकराएगा

0
चक्रवाती तूफान रेमल रविवार की रात पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के समुद्र तटों पर दस्तक दे सकता है. बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती...

दिल्‍ली: बेबी केयर हॉस्पिटल में आग लगने से 6 किलकारियां हमेशा के लिए खामोश

0
देश की राजधानी दिल्‍ली के विवेक विहार में एक बेबी केयर हॉस्पिटल में आग लगने से 6 किलकारियां हमेशा के लिए खामोश हो गईं....

लोकसभा चुनाव 2024: छठे चरण में 58 सीटों पर मतदान संपन्न, 59.06 फीसदी मतदान...

0
शनिवार को लोकसभा चुनाव के छठे चरण में सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश की 58 सीटों पर मतदान हो चुका है. आठ राज्यों...

रविवार को भगवान सूर्य देवता को जल चढ़ाने के होते हैं कई फायदे, जानिए...

0
हिंदू धर्म में सूर्य को जल देने की परंपरा बहुत पुरानी है जिसे आज भी निभाते हैं. श्रद्धालु हर रोज सूर्य देवता को अर्घ्य...