विश्व में सबसे बड़ी सुरंग बनकर तैयार, पूर्व पीएम अटल जी ने तैयार की थी इसकी आधारशिला

यातायात की दृष्टि से भारत के नाम एक और बड़ी उपलब्धि जुड़ने के लिए तैयार है. केंद्र की मोदी सरकार की महत्वपूर्ण परियोजना में शामिल रही अब यह बनकर तैयार हो चुकी है.

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इसका रोडमैप तैयार किया था. वर्ष 2014 में केंद्र में मोदी सरकार के आने के बाद इस प्रोजेक्ट को तेजी के साथ गति मिली. अब भाजपा सरकार की मेहनत रंग लाई है.

हम बात कर रहे हैं विश्व की सबसे बड़ी सुरंग (टनल) की, जो रफ्तार के लिए तैयार है. अगले माह से उसकी शुरू होने की संभावना है. इस सुरंग के बन जाने से यातायात का साधन और सरल हो जाएगा. साथ ही इसके शुरू होने से जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के लोगों के बीच दूरी भी कम हो जाएगी. अभी तक हिमाचल प्रदेश के लोगों को आने जाने में बहुत ही कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था.

बता दें कि इसका नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के नाम पर रखा गया है. 10 हजार फीट पर स्थित दुनिया की सबसे लंबी रोड टनल देश में बनकर तैयार हो गई है. इसे बनाने में दस साल लग गए. लेकिन अब इससे लद्दाख साल भर पूरी तरह से जुड़ा रहेगा. साथ ही इसकी वजह से मनाली से लेह के बीच करीब 46 किलोमीटर की दूरी कम हो गई है.

10,171 फीट की ऊंचाई पर बनी इस अटल रोहतांग टनल को रोहतांग पास से जोड़कर बनाया गया है. यह दुनिया की सबसे ऊंची और सबसे लंबी रोड टनल है. यह करीब 8.8 किलोमीटर लंबी है. साथ ही यह 10 मीटर चौड़ी है. अब मनाली से लेह जाने में 46 किलोमीटर की दूरी कम हो गई. अब आप ये दूरी मात्र 10 मिनट में पूरी कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें -  शारदीय नवरात्रि 2022: आज होगी मां कालरात्रि की पूजा, जानिए विधि, मंत्र-आरती और कथा

नाली-लेह रोड पर चार और टनल प्रस्तावित हैं, फिलहाल ये टनल बनकर पूरी हो चुकी है. इसके आरंभ होने से पहले ही सैकड़ों लोग हर रोज इस टनल की खूबसूरती को देखने आ रहे हैं. जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के लोग इस सुरंग को लेकर उत्साहित है.

अगले माह पीएम मोदी करेंगे इसका उद्घाटन
सितंबर के अंत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस टनल का उद्घाटन कर सकते हैं. यह टनल सिर्फ मनाली को लेह से नहीं जोड़ेगी बल्कि हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पिति में भी यातायात को आसान कर देगी, यह कुल्लू जिले के मनाली से लाहौल-स्पिति जिले को भी जोड़ेगी.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी और कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने अंकिता भंडारी के परिजनों से मुलाकात कर बंधाया ढांढस

आपको बता दें कि रोहतांग दर्रे के नीचे रणनीतिक महत्‍व की सुरंग बनाए जाने का ऐतिहासिक फैसला तीन जून 2000 को लिया गया था, जब अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री थे.

सुंरग के दक्षिणी हिस्‍से को जोड़ने वाली सड़क की आधारशिला 26 मई 2002 को रखी गई थी. कुल 8.8 किलोमीटर लंबी यह सुरंग 3000 मीटर की ऊंचाई पर बनायी गई दुनिया की सबसे लंबी सुरंग है. 15 अक्‍टूबर 2017 को सुरंग के दोनों छोर तक सड़क निर्माण पूरा हो गया था.

बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन की देखरेख में ऑस्ट्रिया और भारत की जाइंट वेंचर स्ट्रॉबेग-एफकॉन कंपनी इसका निर्माण कर रही है. टनल के खुलने पर बर्फबारी के कारण साल के 6 महीने तक दुनिया से कट जाने वाला जनजातीय जिला लाहौल स्पीति देश-प्रदेश से पूरा साल जुड़ा रहेगा.

सामरिक दृष्टि से भी महत्त्वपूर्ण है ये सुरंग
सामरिक दृष्टि से रोहतांग टनल काफी अहम है. क्योंकि लेह-लद्दाख के लिए मनाली-लेह हाईवे से यह जोड़ती है. रोहतांग पास पर बर्फ अधिक गिरने पर यह हाईवे बंद हो जाता है. इससे वाहनों की आवाजाही बंद हो जाती है.

यह भी पढ़ें -  शारदीय नवरात्रि 2022: षष्ठी तिथि में करें मां कात्यायनी की पूजा, जानें पूजा विधि और मंत्र

लेकिन रोहतांग टनल से अब लेह हाईवे खुला रहेगा और भारतीय सैना की आवाजाही सुगम होगी, साथ ही सैन्य सामान पहुंचाने में भी मुश्किल नहीं आएगी. मोदी सरकार ने इस टनल को पिछले कुछ वर्षों में निर्माण कार्य तेजी करने के निर्देश दिए थे.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लगातार इस योजना पर सैन्य अधिकारियों के साथ बैठक करते रहे हैं. राजनाथ सिंह के निर्देश के बाद इसके निर्माण की प्रगति देखने के लिए लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने कई बार यहां दौरे किए थे. सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही कि देश में जब कोरोना महामारी के दौरान भी इस टनल वह बनाने का काम नहीं रोका गया था.


शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,243FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

सिद्धू मोसेवाला हत्याकांड: लॉरेन्स गैंग का दीपक टीनू पुलिस हिरासत से फरार

0
पंजाब पुलिस की हिरासत से सिद्धू मोसेवाला हत्याकांड का एक शूटर और लॉरेन्स बिश्नोई गैंग का गैंगस्टर फरार हो गया है. पुलिस हिरासत से...

Road Safety World Series Final: सचिन तेंदुलकर की इंडिया लीजेंड्स ने दूसरी बार जीता...

0
इंडिया लीजेंड्स ने रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज 2022 के फाइनल मैच में श्रीलंका लीजेंड्स को 33 रनों से हराकर दूसरी बार खिताब पर कब्जा...

उत्तराखंड: उत्तरकाशी में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 2.5 रही तीव्रता

0
उत्तरकाशी| उत्तराखंड स्थित उत्तरकाशी में जनपद मुख्यालय में रविवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूकंप के झटकों के बाद लोग घरों के...

कृति रावत और पहाड़ की महिलाओं ने ‘पिरुल’ से बनाए घरेलू उत्पादों की लगाई...

0
उत्तराखंड में प्राकृतिक संपदा का भरपूर भंडार मौजूद है. बस में पहचानने और उपयोग करने की जरूरत है. ‌ हिमालय क्षेत्र में ऐसे पेड़-पौधे...

सीएम धामी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री को दी श्रद्धांजलि,...

0
देहरादून| आज देशभर में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती मनाई जा रही है. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सीएम आवास में...

इंडोनेशिया में फुटबॉल मैच के दौरान भगदड़ मचने से 127 लोगों की मौत, 200...

0
इंडोनेशिया में एक फुटबॉल मैच के दौरान शनिवार रात भगदड़ मचने से 127 लोगों की मौत हो गई है और करीब 200 लोग घायल...

अंकिता मर्डर मामला: यूकेडी समेत कई संगठनों ने किया उत्तराखंड बंद का आह्वान, आरोपियों...

0
देहरादून| अंकिता भंडारी मर्डर केस को लेकर उत्तराखंड में रविवार को प्रदेश बंद का आह्वान किया गया है. उत्तराखंड क्रान्ति दल की तरफ से...

यूपी: कानपुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रैक्टर ट्रॉली के पलट जाने से 26...

0
यूपी के कानपुर में शनिवार देर रात भीषण सड़क हादसा हुआ है. शनिवार को देर रात श्रद्धालुओं से भरी एक ट्रैक्टर ट्रॉली के पलट...

शारदीय नवरात्रि 2022: आज होगी मां कालरात्रि की पूजा, जानिए विधि, मंत्र-आरती और कथा

0
शारदीय नवरात्रि का सातवां दिन 02अक्टूबर रविवार को है. नवरात्रि के सातवें दिन को दुर्गा सप्तमी के नाम से भी जानते हैं। इस दिन...

राशिफल 02-10-2022: रविवार के दिन क्या कहती है आप की राशि, जानिए

0
मेष- घोर पराक्रमी बने रहेंगे. आपके द्वारा किया गया पराक्रम सफलता की ओर ले जाएगा. उद्योग-धंधा-नौकरी में अच्‍छी स्थिति है. प्रेम की स्थिति अच्‍छी...
%d bloggers like this: