इन शर्तों के साथ वैष्णो देवी यात्रा 16 अगस्त से शुरू, श्राइन बोर्ड ने शुरू की तैयारी


जम्मू कश्मीर में वैष्णो देवी यात्रा 16 अगस्त से शुरू होने जा रही है. जम्मू कश्मीर प्रशासन ने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के चलते करीब 5 महीनों तक के लिए यात्रा बंद कर दी गई थी जिसके बाद अब इसे कुछ प्रतिबंधों व शर्तों के साथ शुरू किया जा रहा है. इस यात्रा के लिए श्राइन बोर्ड के द्वारा तैयारियां शुरू की जा चुकी हैं.

श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया. उन्होंने आगे कहा कि मंदिरों को लगातार नियमित रुप से सैनिटाइज किया जा रहा है. कोरोना महामारी के बीच श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए तमाम तरह के गाइडलाइन्स का पालन किया जा रहा है.

जम्मू कश्मीर सरकार ने केंद्र शासित प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस के अगले दिन यानि 16 अगस्त से सारे धार्मिक स्थलों के द्वारा खोल देने का फैसला किया है. इसके बाद ही वैष्णो देवी यात्रा के शुरू होने की खबर सामने आई है.

इसके पहले 4 अगस्त को सरकार के आधिकारिक प्रवक्ता रोहित कंसल ने बता दिया था कि अनलॉक-3 के तहत केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में सभी धार्मिक स्थल 16 अगस्त से खोल दिए जाएंगे. हालांकि इसके साथ शर्त ये भी है कि धार्मिक कार्यक्रम व धार्मिक जगहों पर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ प्रतिबंधित होगी.

कंसल ने ट्वीट कर ये बताया था कि जम्मू कश्मीर राज्यपाल ने सारे बड़े फैसले लिए हैं. उन्होंने फैसला लिया है कि बड़ी गैदरिंग को प्रतिबंधित करते हुए 16 अगस्त से सारे धार्मिक स्थल खोल दिए जाएं.

यात्रा गाइडलाइन्स
श्रद्धालुओं की यात्रा को लेकर कई गाइडलाइन्स सरकार के द्वारा जारी किए गए हैं. 30 सितंबर तक रोजाना ज्यादा से ज्यादा 5,000 श्रद्धालु वैष्णो देवी के दर्शन को आ सकते हैं. श्रद्धालुओं को एडवांस में इसके लिए ऑनलाइन मोड के जरिए रजिस्ट्रेशन करवा लेना होगा. किसी भी प्रकार के गैदरिंग व भीड़ की कोई गुंजाइश नहीं रहेगी.

श्राइन में आने वाले सभी श्रद्धालुओं के पास आरोग्य सेतु एप रखना अनिवार्य होगा. सरकारी निर्देश के मुताबिक श्रद्धालुओं को मूर्ति से लेकर, पवित्र किताबों की मूर्तियों तक किसी भी चीज को छूने की इजाजत नहीं होगी. इसके अलावा श्राइन बोर्ड ने कहा है कि वे बाद में वे खुद के स्टैंडर्ड प्रोसीजर जारी करेंगे जिन्हें फॉलो करना जरूरी होगा. आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर में कोरोना वायरस के कुल मामले बढ़कर 26,949 हो गए हैं. इससे मरने वालों की संख्या 509 हो गई है.

Related Articles

Latest Articles

मलेशिया मास्टर्स खिताब जीतने से चूकी सिंधु फाइनल में नहीं लांघ पाईं ‘चीनी दीवार’

0
भारत की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधु का 2 साल से खिताबी सूखा बदस्तूर जारी है. सिंधु रविवार को मलेशिया मास्टर्स बैडमिंटन टूर्नामेंट में...

हल्द्वानी: लावारिस सांड की एक बाइक से टक्कर, हादसे में युवक की मौत

0
हल्द्वानी| हल्द्वानी से दुखद घटना की खबर सामने आ रही है. यहां एक लावारिस सांड की एक बाइक से टक्कर हो गई. इस हादसे...

क्या है ‘रेमल’ का मतलब! आखिर कौन तय करता है तूफान का नाम

0
चक्रवार्ती तूफान ‘रेमल’ रविवार (26 मई) की रात पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तट से टकरा सकता है. मौसम विभाग ने कहा है कि...

‘रेमल’ चक्रवात भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील, रविवार रात बंगाल-बांग्लादेश के तटों से टकराएगा

0
चक्रवाती तूफान रेमल रविवार की रात पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के समुद्र तटों पर दस्तक दे सकता है. बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती...

दिल्‍ली: बेबी केयर हॉस्पिटल में आग लगने से 6 किलकारियां हमेशा के लिए खामोश

0
देश की राजधानी दिल्‍ली के विवेक विहार में एक बेबी केयर हॉस्पिटल में आग लगने से 6 किलकारियां हमेशा के लिए खामोश हो गईं....

लोकसभा चुनाव 2024: छठे चरण में 58 सीटों पर मतदान संपन्न, 59.06 फीसदी मतदान...

0
शनिवार को लोकसभा चुनाव के छठे चरण में सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश की 58 सीटों पर मतदान हो चुका है. आठ राज्यों...

रविवार को भगवान सूर्य देवता को जल चढ़ाने के होते हैं कई फायदे, जानिए...

0
हिंदू धर्म में सूर्य को जल देने की परंपरा बहुत पुरानी है जिसे आज भी निभाते हैं. श्रद्धालु हर रोज सूर्य देवता को अर्घ्य...

राशिफल 26-05-2024: आज सूर्यदेव की कृपा चमकेगा इन राशियों का भाग्य

0
मेष-:मेष राशि वाले सोचते कुछ हैं, होता कुछ है. रविवार को मेष राशि वालों का जीवनसाथी की लापरवाही से बड़ा नुकसान हो सकता है....

26 मई 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 26 मई 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

चारधाम यात्रा के लिए 6 सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति का गठन, आदेश जारी

0
चारधाम यात्रा में अव्यवस्थाओं को लेकर आ रही तस्वीरों के बीच अब सरकार नए कदम उठाकर यात्रा के बेहतर संचालन के लिए फैसले ले...