आर्टिकल 370 को लेकर गुलाम नबी आजाद का दावा, पीएम मोदी कर सकते है इसे बहाल क्योंकि…

हाल ही में कांग्रेस का साथ छोड़ने वाले गुलाम नबी आजाद ने आर्टिकल 370 को लेकर दावा किया है कि पीएम मोदी इसे बहाल कर सकते हैं क्योंकि उनके पास बहुमत है, मगर मैं इसके लिए उन्हें या फिर उनकी कैबिनेट को राजी नहीं कर सकता. कांग्रेस के पूर्व नेता गुलाम नबी आजाद ने बुधवार को कहा कि आर्टिकल 370 जम्मू-कश्मीर के विकास में बाधा नहीं था और दावा किया कि तत्कालीन राज्य ने 30 सूचकांकों पर राष्ट्रीय औसत से बेहतर प्रदर्शन किया था.

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी दावा किया कि उन्होंने कभी आर्टिकल 370 की बहाली की संभावना से इनकार नहीं किया, लेकिन कहा कि यह एक समय लेने वाली प्रक्रिया हो सकती है और केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही ऐसा तुरंत कर सकते हैं.

गुलाम नबी आजाद ने श्रीनगर में संवाददाताओं से कहा कि ‘यह (आर्टिकल 370) बाधा नहीं था. जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री के तौर पर मैंने तीन-पालियों (शिफ्ट) की कार्य प्रणाली शुरू की, विधानसभा की बैठकें सप्ताह में छह दिन आयोजित की गईं, सड़कें बनाई गईं, स्कूलों और कॉलेजों का एक तंत्र बनाया गया तथा पर्यावरण संबंधी मंजूरी दी गईं.’

हाल ही में कांग्रेस छोड़ने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री आजाद ने कहा कि उन्होंने अनुच्छेद 370 पर संसद में भी पीएम मोदी का विरोध किया था. आजाद ने कहा, ‘मैंने इस मुद्दे पर संसद में प्रधानमंत्री और गृह मंत्री का विरोध किया है. मैंने 30 सूचकांकों पर प्रकाश डाला है जहां अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर ने राष्ट्रीय औसत से बेहतर किया और 40 सूचकांकों पर गुजरात से बेहतर प्रदर्शन किया है.’

यह भी पढ़ें -  यूनिफार्म सिविल कोड: भारत के आखिरी गांव पहुंची समिति, समान नागरिक संहिता की दी जानकारी

उन्होंने कहा, ‘मैंने संसद में कहा था कि चूंकि जम्मू-कश्मीर ज्यादातर सूचकांकों में बेहतर है, इसलिए गुजरात को केंद्र शासित प्रदेश बनाया जाना चाहिए और वहां एक उपराज्यपाल भेजा जाना चाहिए.’

आर्टिकल 370 की बहाली पर गुलाम नबी आजाद ने कहा कि उन्होंने इसकी संभावना से कभी इनकार नहीं किया, लेकिन उनकी राय थी कि इसमें समय लग सकता है. उन्होंने कहा, ‘मैंने यह नहीं कहा है कि अनुच्छेद 370 को बहाल नहीं किया जा सकता है. या तो इसे मोदी द्वारा बहाल किया जाएगा, जैसा कि उन्होंने (निरस्त) कृषि कानूनों के मामले में किया था क्योंकि उनके पास बहुमत है, मैं उन्हें या उनके मंत्रिमंडल को इस पर राजी नहीं कर सकता.’ आजाद ने कहा कि संसद से उन्हें जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक लोकसभा में 86 फीसदी सदस्य-भाजपा और आठ अन्य पार्टियां- (अनुच्छेद 370 को) निरस्त करने के पक्ष में हैं, जबकि 14 फीसदी इसके खिलाफ हैं.

उन्होंने कहा, ‘क्या यहां (जम्मू-कश्मीर) की किसी पार्टी को 86 फीसदी बहुमत मिल सकता है? हम प्रार्थना कर सकते हैं कि किसी दिन हमें दो-तिहाई बहुमत मिले लेकिन यह आज नहीं हो सकता, अगले साल मार्च में नहीं हो सकता. अगर यह (इस साल) दिसंबर तक होना है तो, केवल मोदी साहब ही ऐसा कर सकते हैं.’

उन्होंने कहा कि दूसरा रास्ता उच्चतम न्यायालय का है. आजाद ने कहा, ‘ सुप्रीम कोर्ट में मामला पहुंचे तीन साल से अधिक समय बीत चुका है. तब से कई प्रधान न्यायाधीश बदल चुके हैं लेकिन किसी ने याचिका का पहला पृष्ठ भी नहीं खोला है. इसकी सुनवाई के लिए कोई तारीख नहीं दी गई है.यदि कार्यवाही शुरू होती है, कितने साल लगेंगे और किसके पक्ष में फैसला होगा, हम नहीं जानते.

उन्होंने कहा, ‘इसलिए, हम ऐसा कोई नारा नहीं लाएंगे जो उचित, न्यायसंगत और संभव नहीं है. मैं कोई झूठी उम्मीद नहीं देना चाहता, चाहे लोग हमें वोट दें या नहीं.’ आजाद ने कहा कि जहां अनुच्छेद 370 को सम्मान मिलना चाहिए, वहीं अन्य मुद्दे भी हैं, जिन्हें विकास और शासन के संदर्भ में ठीक किए जाने की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि जब तक अनुच्छेद 370 बहाल नहीं हो जाता, हम खाली नहीं बैठ सकते. इस आरोप पर कि वह जम्मू-कश्मीर में भाजपा के लिए सहयोगी की भूमिका निभा रहे हैं, आजाद ने कहा कि ये वो नहीं कर रहे हैं, बल्कि कांग्रेस के कुछ नेता हैं जो ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ हासिल करने में भारतीय जनता पार्टी की मदद कर रहे हैं.

आजाद ने कहा कि मुझ पर भाजपा का मित्र होने का आरोप है. भाजपा के असली दोस्त वे हैं जो कांग्रेस मुक्त भारत की स्थापना में मदद कर रहे हैं. यह उन पर मेरा प्रतिवाद है. आजाद ने कहा कि कांग्रेस नेता उनके खिलाफ आरोप लगा रहे हैं क्योंकि राज्यसभा में विदाई के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भावुक हो गए थे.

उन्होंने कहा, ‘मैंने कुछ अच्छा काम किया होगा … क्योंकि यह प्रधानमंत्री किसी के लिए आंसू नहीं बहाते हैं. बस संसद में मेरे भाषणों को देखें और आप प्रधानमंत्री के साथ मेरे मौखिक आदान-प्रदान को देखेंगे. उन भाषणों के अनुसार मोदी साहब को मुझे जेल में डाल देना चाहिए था, लेकिन उन्होंने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में मेरे कार्यकाल के दौरान मेरे सभी दस्तावेज देखे हैं, उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरे नोट्स देखे हैं. यही वह (भ्रष्टाचार) है जिसपर भाजपा आज नजर रख रही है.’




Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,242FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

कांग्रेस ने बुंदेलखंड से आने वाले नेता बृजलाल खाबरी को सौपी यूपी की कमान

0
कांग्रेस आलाकमान ने यूपी के लिए प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति कर दी है. पिछले कई महीनों से ये कुर्सी खाली पड़ी थी. कांग्रेस ने...

इस्लामाबाद: पूर्व पीएम इमरान खान की मुश्किलें बढ़ी, गिरफ्तारी वारंट जारी

0
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, इस्लामाबाद के मारगल्ला पुलिस स्टेशन के एक मजिस्ट्रेट...

यूनिफार्म सिविल कोड: भारत के आखिरी गांव पहुंची समिति, समान नागरिक संहिता की दी...

0
चमोली| राज्य स्तरीय समान नागरिक संहिता विशेषज्ञ समिति के सदस्यों ने नागरिकों का पक्ष सुनने के लिए चमोली जिले के अंतिम गांव माणा...

सीएम ने किया गर्मजोशी से स्वागत: उत्तराखंड में फिल्म शूटिंग के लिए आए बॉलीवुड...

0
शनिवार को बॉलीवुड फिल्म एक्टर नाना पाटेकर ने उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी से देहरादून में मुलाकात की. इस दौरान सीएम धामी ने...

अब खड़गे बनाम थरूर में मुकाबला: कांग्रेस अध्यक्ष पद के तीसरे उम्मीदवार केएन...

0
कांग्रेस अध्यक्ष पद की दौड़ में मलिकार्जुन खड़गे, शशि थरूर और केएन त्रिपाठी ने शुक्रवार को नामांकन पत्र दाखिल किए. आज तीसरे उम्मीदवार केएन...

फिर घटे कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर के दाम, जानिए अब कितने का मिलेगा सिलेंडर

0
नवरात्रों के बीच एक राहत भरी खबर आई है. तेल कंपनियों ने कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर के दामों में कटौती की है. इंडियन आयल कार्पोरेशन...

पाक पर एक और डिजिटल स्ट्राइक, पाकिस्तान का सरकारी ट्विटर अकाउंट भारत में बंद

0
भारत ने पाकिस्तान पर एक बार फिर से डिजिटल स्ट्राइक किया है. भारत में पाकिस्तानी सरकार का आधिकारिक ट्विटर अकाउंट बंद कर दिया गया...

Pak Vs Eng-6th T20: साल्ट के नाबाद 88 ने इंग्लैंड को पाकिस्तान के खिलाफ...

0
लाहौर|….. इंग्लैंड ने फिल साल्ट और एलेक्स हेल्स की आतिशी बल्लेबाजी की बदौलत इंग्लैंड ने पाकिस्तान को सात मैच की सीरीज के छठे मुकाबले...

मल्लिकार्जुन खड़गे ने राज्यसभा में नेता विपक्ष के पद से हटे, सोनिया गांधी को...

0
कांग्रेस अध्यक्ष पद के उम्मीदवार मल्लिकार्जुन खड़गे अब राज्यसभा में नेता विपक्ष नहीं रहेंगे. मल्लिकार्जुन खड़गे ने राज्यसभा में नेता विपक्ष के पद से...

भारत में 5G युग की शुरुआत, पीएम मोदी ने लांच की सर्विस

0
आज से भारत की टेक्नोलॉजी एक नए युग में प्रवेश करने वाली है. हम अब 4G से अपग्रेड होकर 5G सर्विस तक पहुंच गए...
%d bloggers like this: