गांधी परिवार पर पहली बार नहीं चला कोर्ट का डंडा, राहुल से पहले दादी इंदिरा गांधी की भी जा चुकी है सदस्यता

कल तक जो राहुल गांधी सांसद थे, संसद में मोदी सरकार का खिलाफ मोर्चा खोल रखे थे, वो आज अयोग्य हो गए हैं, कारण कोर्ट का एक आदेश, जिसमें राहुल गांधी को दो साल की सजा हो गई और उसके तुरंत एक दिन बाद यानि कि शुक्रवार को राहुल गांधी की लोकसभा की सदस्यता रद्द कर दी गई. अब राहुल गांधी सांसद नहीं रहे, यानि कि संसद में भी उनकी एंट्री बंद हो गई.

ऐसा नहीं है कि गांधी परिवार में यह पहली बार हुआ है, जब किसी सदस्य की सदस्यता चली गई हो. राहुल गांधी की दादी और देश की पूर्व पीएम इंदिरा गांधी की सदस्यता भी कोर्ट के आदेश के बाद रद्द हो गई थी. तब इंदिरा गांधी पर चुनाव में धांधली का आरोप लगा था. जिस पर कोर्ट ने भी अपनी मुहर लगा दी थी.

कहानी इमरजेंसी से पहले की है. 1971 में देश का पांचवां लोकसभा चुनाव हुआ था. इंदिरा गांधी राय बरेली से चुनावी मैदान में थीं, यानि जहां से आज सोनिया गांधी सांसद हैं. इंदिरा के सामने संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से राजनारायण चुनावी मैदान में थे. राजनारायण अपनी जीत को लेकर काफी आश्वस्त थे. यहां तक कि रिजल्ट से पहले ही उन्होंने जीत की रैली भी कर दी थी, लेकिन जब चुनाव परिणाम आया तो राजनारायण 1 लाख से भी ज्यादा वोटों से हार गए.

जिसके बाद राजनारायण इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंच गए. वहां उन्होंने इंदिरा पर चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए दावा किया कि इंदिरा गांधी ने सरकार मशीनरी का उपयोग चुनाव जीतने में किया है. राजनारायण ने कई आरोप लगाए थे, जिसमें से दो को छोड़कर बाकी सभी खारिज हो गए. कोर्ट ने पाया कि इंदिरा गांधी के खिलाफ लगे दो आरोप: एक- सरकार की मदद से स्टेज, लाउडस्पीकर लगवाना, दो- गजेटेड अफसर को चुनावी एजेंट बनाना; सही है. जिसके बाद 12 जून 1975 को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इंदिरा गांधी का चुनाव रद्द कर दिया, साथ ही 6 साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया.

इलाहाबाद हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद इंदिरा गांधी सुप्रीम कोर्ट गईं. वहां से उन्हें राहत तो मिली, लेकिन पूरी तरह नहीं. सुप्रीम कोर्ट ने फैसले पर स्टे लगाते हुए उन्हें पीएम पद पर बने रहने की अनुमति दी. संसद में जाने की भी अनुमति मिली, लेकिन संसद में मतदान करने से रोक दिया. 24 जून को सुप्रीम कोर्ट से ये फैसला आया और 25 जून 1975 को इंदिरा गांधी ने इमरजेंसी की घोषणा कर दी.

तब के और आज के कांग्रेस में काफी फर्क है. इंदिरा की लोकप्रियता तब काफी थी, एक दौर था जब इंदिरा इज इंडिया और इंडिया इज इंदिरा का नारा लगा करता था. आज कांग्रेस लोकप्रियता के मामले में भाजपा के मुकाबले काफी पीछे है. जिससे उसका सीधा मुकाबला है. राहुल गांधी के सामने नरेंद्र मोदी जैसे नेता हैं, जिनकी आज की तारीख में जनता के बीच लोकप्रियता इतनी ज्यादा है कि उसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है.

Related Articles

Latest Articles

13 जून 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 13 जून 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

चमोली के जोशीमठ के नाम बदलने के प्रस्‍ताव को मंजूरी, नीम करौली बाबा के...

0
देहरादून| केंद्र सरकार ने उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित जोशीमठ का नाम बदलकर उसके प्राचीन नाम ज्योतिर्मठ करने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया...

ओडिशा: मोहन चरण माझी ने ली सीएम पद की शपथ, समारोह में पीएम मोदी...

0
ओडिशा में पहली बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है. ओडिशा के मनोनीत मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी ने भुवनेश्वर के जनता मैदान में...

पीएम मोदी पहुंचे सीएम चंद्रबाबू नायडू के शपथ ग्रहण समारोह में, पवन कल्याण से...

0
आज बुधवार को तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। इस अवसर...

देहरादून: सीएस ने सिंचाई विभाग को जल स्रोतों एवं नदियों के पुनर्जीवीकरण के प्रोजेक्ट...

0
सीएस राधा रतूड़ी ने लोक निर्माण, सिंचाई, पशुपालन, स्कूली शिक्षा, कौशल तथा तकनीकी शिक्षा विभाग को 24 घण्टे की डेडलाइन देते हुए अवशेष 383.11...

इटली में तोड़ी गई राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा, लगाये गए खालिस्तानी नारे

0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इटली दौरे से ठीक पहले एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बुधवार को खालिस्तानी चरमपंथियों ने...

IRDAI ने पॉलिसीधारकों को दी आजादी, कभी भी कैंसिल करा सकते है पॉलिसी

0
देशभर के करोड़ों इंश्योरेंस पॉलिसीधारकों के लिए एक राहत की खबर है. बीमा नियामक संस्था, भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने लोगों...

उत्तरप्रदेश: अखिलेश यादव ने करहल विधानसभा सीट से दिया इस्तीफा

0
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अब केंद्र की राजनीति करने का निर्णय लिया है। उन्होंने करहल विधानसभा सीट की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया...

दक्षिणी कुवैत की एक बिल्‍डिंग में लगी भीषण आग, 4 भारतीय समेत 41 लोगों...

0
दक्षिणी कुवैत की एक बिल्‍ड‍िंग में लगी भीषण आग में 4 भारतीय समेत 35 लोगों की मौत हो गई. इस भीषण अग्‍न‍िकांड में बिल्डिंग...

30 जून के बाद कबाड़ हो जाएंगे इतने कार्ड, नहीं मिलेगा राशन-जरूर करा ले...

0
देश में करोड़ों की संख्या में ऐसे लोग हैं जो वास्तव में फ्री राशन के लिए पात्र ही नहीं है. लेकिन इसके बावजूद भी...