हल्द्वानी हिंसा ने उत्तराखंड की संस्कृति पर लगा दाग, कभी नहीं पड़े थे खून के छींटे

उत्तराखंड की संस्कृति ने कभी अपने खून के रंग को नहीं खोया था, इसे शांति और सौम्यता का प्रतीक माना जाता था। यहां के प्राचीन समुदायों ने हमेशा बाहरी आगंतुकों को आकर्षित किया है। इसलिए, उत्तराखंड में हाल ही में हुई हल्द्वानी हिंसा ने समाज को गहरे धड़कने पर मजबूर किया है।

हल्द्वानी में हुई हिंसा ने संस्कृति के खिलाफ एक नई चुनौती पैदा की है। यहां की शांतिप्रिय वातावरण को ध्वस्त करने के लिए बेहोशी और अशांति का माहौल बना दिया है। इस घटना ने उत्तराखंड की मासिक जीवनशैली को भ्रष्ट कर दिया है।

यहां के कई क्षेत्रों में एक बड़ी संख्या में मुस्लिम जनसंख्या निवास करती है, लेकिन वे यहां की संस्कृति का सम्मान करते हैं। उनका सहयोग उत्तराखंड की रोचक और विविध संस्कृति को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह दिखाता है कि संस्कृति के माध्यम से लोगों के बीच संबंध और समन्वय संभव हैं, भले ही धार्मिक या सांस्कृतिक भिन्नताओं के बीच हों।

Related Articles

विज्ञापन

Latest Articles

राशिफल 03-03-2024: आज इन राशियों का चमकेगा भाग्य, पढ़े आज का राशिफल

0
1. मेष-:मेष राशि वाले जातकों के लिए आज का दिन बेहतर रहने वाला है. आज आपको भाग्य का भरपूर साथ मिलेगा. सेहत बढ़िया रहने...

03 मार्च 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 03 मार्च 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

लोकसभा चुनाव 2024: बीजेपी ने जारी की 195 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, उत्तराखंड से...

0
देहरादून| भारतीय जनता पार्टी ने आगामी लोकसभा चुनावों के लिए 195 लोकसभा उम्मीदवारों की अपनी पहली लिस्ट जारी कर दी है. लिस्ट में पीएम...

सीएम धामी ने 27 डिप्टी जेलरों तथा 285 बंदी रक्षकों को वितरित किए नियुक्ति-पत्र

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास परिसर में कारागार प्रशासन एवं सुधार सेवा विभाग के अंतर्गत लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित...

उत्तराखंड: होमगार्डों को मिलेगा ड्यूटी भत्ता, महीने की एक तारीख को होगा भुगतान

0
अब होमगार्डों को भी सरकारी कर्मिक की तरह अपने ड्यूटी भत्ते के लिए महीने की एक तारीख पर सही समय पर मिलने की सुविधा...

देवभूमि उत्तराखंड यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित एनएसएस शिविर संपन्न

0
मांडूवाला स्थित देवभूमि उत्तराखंड यूनिवर्सिटी की एनएसएस विंग द्वारा सात दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया था, जिसमें छह वर्गों में बंटे स्वयंसेवी छात्रों...

दिल्ली-एनसीआर में मौसम का रुख फिर से बदला, बारिश से बड़ी ठंड

0
मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर के मौसम ने एक बार फिर से अपना रूख बदल लिया है। आज सुबह, दिल्ली-एनसीआर के कई...

मुख्यमंत्री आवास कूच के लिए निकला बेरोजगार संघ, पुलिस के साथ हुई झड़प

0
उत्तराखंड में बेरोजगार संघ का प्रदर्शन जिसने कि कि घटना जो समाज में गहरी छाप छोड़ी। जब मुख्यमंत्री आवास के कूच के लिए...

हल्द्वानी हिंसा के दिन मलिक था दिल्ली में, भाजपा नेता से भी मिला

0
हल्द्वानी हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक ने दावा किया है कि वह सात और आठ फरवरी को दिल्ली और हरियाणा में था। उनके वकील...

उत्तराखंड: भाजपा ने तीन लोकसभा सीटों के लिए प्रत्याशी घोषित, दो सीटों पर बना...

0
उत्तराखंड की पांच लोकसभा सीटों पर भाजपा ने अपने उम्मीदवारों का ऐलान किया है। इस ऐलान के तहत, तीन सीटों पर पहले से ही...