इस मंदिर में झूला झूलती हैं देवी दुर्गा, मां की रखवाली में पहरा देते हैं शेर

झुला देवी मंदिर रानीखेत शहर से 7 कि.मी. की दुरी पर स्थित एक लोकप्रिय पवित्र एवम् धार्मिक मंदिर है. यह मंदिर माँ दुर्गा को समर्पित है एवम् इस मंदिर को झुला देवी के रूप में नामित किया गया है. स्थानीय लोगों के अनुसार यह मंदिर 700 वर्ष पुराना है.

रानीखेत में स्थित झूला देवी मंदिर पहाड़ी स्टेशन पर एक आकर्षण का स्थान है. यह भारत के उत्तराखंड राज्य में अल्मोड़ा जिले के चौबटिया गार्डन के निकट रानीखेत से 7 किमी की दूरी पर स्थित है. वर्तमान मंदिर परिसर 1935 में बनाया गया है.

झूला देवी मंदिर के समीप ही भगवान राम को समर्पित मंदिर भी है. झूला देवी मंदिर को झुला देवी मंदिर और घंटियों वाला मंदिर के रूप में भी जाना जाता है.

हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार इस मंदिर का निर्माण क्षेत्र में रहने वाले जंगली जानवरों द्वारा उत्पीड़न से मुक्त कराने के लिए मां दुर्गा की कृपा बनाये रखने के उद्देश्य से किया गया था. मंदिर परिसर में झुला स्थापित होने के कारण देवी को “झूला देवी” नाम से पूजा जाता है.

मां के झूला झूलने के बारे में एक और कथा प्रचलित है. माना जाता है कि एक बार श्रावण मास में माता ने किसी व्यक्ति को स्वप्न में दर्शन देकर झूला झूलने की इच्छा जताई.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड पुलिस पहली बार कर रही अपराधियों की प्रॉपर्टी की तलाश, 2 महीने तक चलेगा अभियान

ग्रामीणों ने मां के लिए एक झूला तैयार कर उसमें प्रतिमा स्थापित कर दी. उसी दिन से यहां देवी मां “झूला देवी” के नाम से पूजी जाने लगी.

यह कहा जाता है कि मंदिर लगभग 700 वर्ष पुराना है. चैबटिया क्षेत्र जंगली जानवर से भरा घना जंगल था. “तेंदुओं और बाघ” आसपास के लोगों पर हमला करते थे और उनके पालतू पशुओं को ले जाते थे.

लोगों को “तेंदुओं और बाघ” से डर लग रहता था और खतरनाक जंगली जानवर से सुरक्षा के लिए आसपास के लोग ‘माता दुर्गा’ से प्रार्थना करते थे.

यह भी पढ़ें -  स्‍टार शटलर लक्ष्य सेन पर एफआईआर, उम्र में धोखाधड़ी का आरोप

ऐसा कहा जाता है कि ‘देवी’ ने एक दिन चरवाहा को सपने में दर्शन दिए और चरवाहा से कहा कि वह एक विशेष स्थान खोदे क्योंकि देवी उस स्थान पर अपने लिए एक मंदिर बनवाना चाहती थी. जैसे ही चरवाहा ने गड्ढा खोद दिया तो चरवाहा को उस गड्ढे से देवी की मूर्ति मिली.

इसके बाद ग्रामीणों ने उस जगह पर एक मंदिर का निर्माण किया और देवी की मूर्ति को स्थापित किया और इस तरह ग्रामीणों को जंगल जानवरों द्वारा उत्पीड़न से मुक्त कर दिया गया और मंदिर की स्थापना के कारण चरवाहा अपने पशुओ को घास चरने के लिए छोड़ जाते थे.

मंदिर परिसर के चारों ओर लटकी हुई अनगिनत घंटियां ‘मा झुला देवी’ की दिव्य व दुख खत्म करने वाली शक्तियो को दर्शाती है.

यह भी पढ़ें -  Ind Vs Bang ODI Series: टीम इंडिया को लगा बड़ा झटका, शमी वनडे सीरीज से बाहर

मंदिर में विराजित झूला देवी के बारे में यह माना जाता है कि झूला देवी अपने भक्तों की इच्छाओं को पूरा करती हैं और इच्छाओं को पूरा करने के बाद भक्त यहाँ तांबे की घंटी भेटस्वरुप चढाने आते हैं , घंटियों की मधुर ध्वनि से हर किसी का मन आनंदित हो उठता है.

श्रद्धालुओं का मानना है कि मंदिर में प्रार्थना करने वाले लोगों की मनोकामनाएं मां झूला देवी पूर्ण करती हैं। यहां जाने पर आपको राम मंदिर जाने का मौका भी मिलता है, जो पास में ही स्थित है. यहां झूला देवी मंदिर में नियमित रूप से श्रद्धालुओं का आवागमन लगा रहता है.

मंदिर के प्रति हिंदूओ का अत्यधिक विश्वास है, झुला देवी मंदिर उत्तराखंड में यात्रा के लिए एक लोकप्रिय स्थान है.


Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,250FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

पाक के नए सेना प्रमुख जनरल मुनीर ने भारत के खिलाफ उगला जहर, जानें...

0
पाकिस्तान के नवनियुक्त सेना प्रमुख (सीओएएस) जनरल असीम मुनीर ने भारत के खिलाफ जहर उगला है. जनरल असीम मुनीर ने शनिवार (3 दिसंबर)...

दिल्ली होटल मालिक आत्महत्या मामले में उत्तराखंड के आईपीएस का नाम, दिल्ली से देहरादून...

0
दिल्ली के एक होटल मालिक की आत्महत्या के मामले में उत्तराखंड के एक आईपीएस का नाम सामने आया है. दिल्ली पुलिस ने इस संबंध...

विपिन रावत प्रकरण में सीएम धामी के आदेश पर चौकी इंचार्ज सस्पेंड

0
देहरादून| विपिन रावत प्रकरण में सीएम पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर देहरादून के एसएसपी ने लापरवाही बरतने वाले चौकी इंचार्ज को सस्पेंड कर...

देहरादून: सीएम धामी ने विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर की ये चार घोषणाएं

0
सीएम धामी ने शनिवार को विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर सुभाष रोड स्थित लॉर्ड वेंकटेश्वर हॉल में समाज कल्याण विभाग द्वारा आयोजित राज्य...

अतिक्रमण के खिलाफ सड़को में उतरे लोग, जाम लगने से पर्यटक हुए परेशान

0
मसूरी कोल्हुखेत के पानीवाला बैंड पर अतिक्रमण हटाओ अभियान के खिलाफ स्थानीय लोगों ने जाम लगा दिया है। बता दे कि सैकड़ों वाहन यहां...

स्‍टार शटलर लक्ष्य सेन पर एफआईआर, उम्र में धोखाधड़ी का आरोप

0
देश के नंबर एक बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्‍य सेन के खिलाफ बेंगलुरु में एफआईआर दर्ज की गई है. उन पर अपनी उम्र में हेराफेरी...

पहली बार भारतीय नौसेना में 341 महिला को अग्निवीर योजना के तहत किया शामिल

0
शनिवार को नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा कि भारतीय नौसेना हिंद महासागर के सभी घटनाक्रमों पर कड़ी नजर रख रही है,...

राजस्थान: गैंगवार से दहला सीकर जिला, दिन दहाड़े गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या

0
राजस्थान का सीकर जिला एक बार फिर से गैंगवार से दहल गया है. शनिवार को प्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट की सीकर में...

एमसीडी चुनाव से पहले बीजेपी ने एक्साइज पॉलिसी पर आप को घेरा, बोले- दिन...

0
दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने डिप्टी सीएम, सीएम अरविंद केजरीवाल के करीबी सहयोगी और नेता नेता मनीष...

बड़ा हादसा: नीलांचल एक्सप्रेस सवार यात्री की गर्दन में घुसी लोहे की रॉड, मौके...

0
आज अलीगढ़ के सोमना और डांबर रेलवे स्टेशन के बीच नीलांचल एक्सप्रेस में दर्दनाक हादसा हुआ। बता दे कि यह घटना सुबह लगभग 8...
%d bloggers like this: