महसा अमीनी मौत मामले में अमेरिका नाराज, जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करे ईरान

ईरान में महसा अमीनी के मौत मामले में अमेरिका ने ना सिर्फ नाराजगी जताई है बल्कि यह भी कहा है कि जो लोग उनकी मौत के लिए जिम्मेदार हैं उनकी जिम्मेदारी तय की जाए. बता दें कि अमीनी की गिरफ्तारी सही तरह से हिजाब ना पहनने की वजह से हुई थी.

उनके परिवार का आरोप है कि पुलिस हिरासत में पिटाई की वजह से मौत हो गई. अमेरिका का कहना है कि जिस तरह से पुलिस कस्टडी में पिटाई और उसके बाद मौत की खबर सामने आई है वो दुखदायी होने के साथ साथ मानवाधिकारों का उल्लंघन है.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने 'समूह ग' की 23 परीक्षाओं के लिए अतिरिक्त परीक्षा कैलेंडर किया जारी

अमेरिका ने कहा कि ईरान में महिलाओं को अपनी इच्छानुसार पहनने का अधिकार होना चाहिए, हिंसा या उत्पीड़न से मुक्त. ईरान को अपनी मौलिक स्वतंत्रता का प्रयोग करने के लिए महिलाओं के खिलाफ हिंसा के अपने उपयोग को समाप्त करना चाहिए. महसा की मौत के लिए जवाबदेही होनी चाहिए.

महसा अमिनी जीवित होनी चाहिए थीं. इसके बजाय, संयुक्त राज्य अमेरिका और ईरानी लोग उसका शोक मना रहे हैं. हम ईरानी सरकार से महिलाओं के अपने प्रणालीगत उत्पीड़न को समाप्त करने और शांतिपूर्ण विरोध की अनुमति देने का आह्वान करते हैं.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 27-09-2022: आज वृश्चिक को कारोबार में मिलेंगे लाभ के अवसर, जानिए अन्य का हाल

22 वर्षीय महसा अमिनी अपने परिवार के साथ तेहरान की यात्रा पर थीं जब उन्हें हिरासत में लिया था, जो 1979 की इस्लामी क्रांति के तुरंत बाद से महिलाओं के लिए अनिवार्य ड्रेस कोड लागू करती है. गुरुवार को एक बयान में, तेहरान पुलिस ने पुष्टि की कि नियमों के बारे में निर्देश के लिए अमिनी को अन्य महिलाओं के साथ हिरासत में लिया गया था.

बयान में कहा गया है कि उन्हें अचानक दिल की समस्या का सामना करना पड़ा, जबकि मार्गदर्शन प्राप्त करने वाले (और) को आपातकालीन सेवाओं के सहयोग से तुरंत अस्पताल ले जाया गया. इससे पहले, राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी ने आंतरिक मंत्री को मामले की जांच शुरू करने का आदेश दिया था.

यह भी पढ़ें -  26 सितम्बर 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

कई सांसदों ने कहा कि वे मामले को संसद में उठाएंगे, जबकि न्यायपालिका ने कहा कि वह जांच के लिए एक विशेष कार्यबल बनाएगी. औपचारिक रूप से गश्त-ए इरशाद (मार्गदर्शन गश्ती) के रूप में जानी जाने वाली नैतिकता पुलिस के आचरण को लेकर ईरान के अंदर और बाहर बढ़ते विवाद के बीच अमिनी की मौत हुई है.

Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,243FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

राशिफल 27-09-2022: आज वृश्चिक को कारोबार में मिलेंगे लाभ के अवसर, जानिए अन्य...

0
मेष-: मन परेशान हो सकता है. मानसिक शान्ति बनाये रखने के लिए प्रयास करें. परिवार के स्वास्थ्य का ध्यान रखें. पिता का साथ...

27 सितम्बर 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 27 सितम्बर 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

शारदीय नवरात्रि का दूसरा दिन: ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, जानें विधि और...

0
26 सितम्बर 2022 से चैत्र नवरात्रि की शुरुआत हो गई है. नवरात्रि के दौरान मां के 9 रूपों की पूजा- अर्चना की जाती है....

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने ‘समूह ग’ की 23 परीक्षाओं के लिए अतिरिक्त परीक्षा...

0
उत्तराखंड में बेरोजगार युवाओं के लिए अच्छी खबर है. उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की ओर से सोमवार को 'समूह ग' 23 परीक्षाओं के लिए...

सीएम धामी ने दिए मानसखण्ड कॉरिडोर के काम में तेजी लाने के निर्देश

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में लोक निर्माण विभाग, एनएच और बीआरओ के प्रदेश में निर्माणाधीन और प्रस्तावित कार्यों की समीक्षा की. मुख्यमंत्री...

सीएम धामी का सख्त फैसला: उत्तराखंड में होटल, रिजॉर्ट और होमस्टे में अब नहीं...

0
उत्तराखंड की बेटी अंकिता भंडारी की हत्या के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एक्टिव मोड में है. वहीं दूसरी ओर अंकिता भंडारी मर्डर केस...

मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी, 13 लोगों की मौत-कई घायल

0
सोमवार को मध्य रूस के एक स्कूल में जबरदस्त गोलीबारी हुई, जिसमें कई छात्र घायल हुए. वहीं जिस शख्स ने फायरिंग की उसने खुद...

नंदा गौरा योजना की 80 हजार लाभार्थी बालिकाओं को सीएम धामी ने हस्तांतरित की...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्य सेवक सदन, मुख्यमंत्री आवास, देहरादून में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में...

अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर भी खड़ा हुआ संकट

0
फिलहाल जैसे राजस्थान में सियासी माहौल बयां कर रहे हैं उससे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने का भी संकट...

राजस्थान कांग्रेस में घमासान, अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले गहलोत-पायलट के गुट ने...

0
राजनीति के मैदान में भी उलटफेर होना आम हो चला है. अब पार्टी के विधायक या सांसद क्या अच्छा है, क्या बुरा, स्वयं फैसला...
%d bloggers like this: