डब्लूएचओ ने कहा- दुनिया के किसी देश में फिलहाल हर्ड इम्यूनिटी नहीं, सिर्फ वैक्सीन से उम्मीद बाकी


लंदन|……विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंगलवार को कहा कि फिलहाल दुनिया के किसी देश में भी कोरोना संक्रमण के खिलाफ हर्ड इम्यूनिटी उत्पन्न नहीं हुई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने उन देशों के दावे को सिरे से खारिज कर दिया जो कि कोरोना के घटते मामलों के मद्देनज़र अपने यहां लोगों में हर्ड इम्यूनिटी (सामूहिक रोग प्रतिरोधक क्षमता) पैदा होने का दावा कर रहे थे. संगठन से स्पष्ट कर दिया कि हालत अब भी बुरे हैं और कोई भी देश ऐसा नहीं, जहां हर्ड इम्यूनिटी उत्पन्न होने जैसी स्थिति नज़र आई हो. इसके आलावा विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि 20 से लेकर 40 साल के युवा कोरोना का संक्रमण दुनिया भर में फैला रहे हैं, उन्हें सतर्कता बरतने की जरूरत है.

डब्लूएचओ के मुताबिक, सिर्फ अकेले अमेरिका में कोरोना संक्रमण के मामले एक करोड़ 15 लाख तक पहुंचने की आंशका है और इतना ही नहीं इस दौरान चार लाख लोगों की मौत की आशंका भी है. बता दें कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के कुछ वैज्ञानिकों ने दावा किया था कि ब्रिटेन में लोगों के बीच हर्ड इम्यूनिटी विकसित हो रही है. पहले ऑक्सफोर्ड की स्टडी में दावा किया गया था कि ब्रिटेन के लोगों में आम सर्दी-जुकाम जैसे मौसमी संक्रमण की वजह से पहले ही सामूहिक तौर पर हर्ड इम्यूनिटी का स्तर इतना है कि वे घातक कोरोना वायरस के फिर से पनपने पर उसका सामना कर सकते हैं.

हालांकि डब्लूएचओ ने कहा कि हर्ड इम्यूनिटी विशेष तौर पर वैक्सीनेशन के माध्यम से हासिल की जाती है. अधिकतर वैज्ञानिकों का मानना है कि वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कम से कम 70 प्रतिशत आबादी में घातक वायरस को शिकस्त देने वाली एंटीबॉडीज होनी चाहिए. लेकिन, कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि अगर आधी आबादी में भी कोरोना वायरस से लड़ने वाली रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) हो तो एक रक्षात्मक प्रभाव उत्पन्न हो सकता है.हर्ड इम्यूनिटी नहीं अब सिर्फ वैक्सीन का सहारा डब्लूएचओ के आपातकालीन मामलों के प्रमुख डॉक्टर माइकल रेयान ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में इस सिद्धांत को खारिज करते हुए कहा कि हमें हर्ड इम्यूनिटी हासिल करने की उम्मीद में नहीं रहना चाहिए. उन्होंने कहा कि वैश्विक आबादी के रूप में, अभी हम उस स्थिति के कहीं आसपास भी नहीं हैं जो वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जरूरी है.

उन्होंने आगे कहा कि हर्ड इम्यूनिटी कोई समाधान नहीं है और न ही यह ऐसा कोई समाधान है जिसकी तरफ हमें देखना चाहिए. आज तक हुए अधिकतर अध्ययनों में यही बात सामने आई है कि केवल 10 से 20 प्रतिशत आबादी में ही संबंधित एंटीबॉडीज हैं, जो लोगों को हर्ड इम्यूनिटी पैदा करने में सहायक हो सकते हैं. लेकिन, इतनी कम एंटीबॉडीज की दर से हर्ड इम्यूनिटी को नहीं पाया जा सकता. डब्ल्यूएचओ महानिदेशक के वरिष्ठ सलाहकार डॉ. ब्रूस एलवार्ड ने कहा कि किसी कोरोना वायरस वैक्सीन के साथ व्यापक वैक्सीनेशन का उद्देश्य विश्व की 50 प्रतिशत से काफी अधिक आबादी को इसके दायरे में लाने का होगा.

हर्ड इम्यूनिटी का सामान्य भाषा में मतलब है कि अगर कोई संक्रामक बीमारी फैली है तो उसके खिलाफ आबादी के निश्चित हिस्से में बीमारी के प्रति इम्यूनिटी पैदा हो जाए. इस तरह संक्रामक रोगों का फैलना रुकता है, क्योंकि काफी लोग इसके प्रति इम्यून हो चुके होते हैं. इम्यून हुए लोग वे हैं जो कि संक्रमित होने के बाद ठीक हो गए और उनके शरीर में एक निश्चित मात्रा में रोग से लड़ने के लिए एंटीबॉडी मौजूद हैं. इससे कम्युनिटी ट्रांसमिशन की चेन टूट जाती है.

Related Articles

आईपीएल में एंकरिंग करती दिखेगी पहाड़ की तान्या पुरोहित

आज शनिवार से शुरू हो रहे आईपीएल-2020 में उत्तराखंड के श्रीनगर की तान्या पुरोहित...

उत्तराखंड: नहीं मिल रहा आयुष्मान योजना का लाभ, निजी अस्पतालों में महंगे पड़ रहे इंजेक्शन

कोरोना के गंभीर मरीजों को लगने वाले महंगे इंजेक्शन निजी अस्पतालों में...

उत्तराखंड: भाजपा के पूर्व सह मीडिया प्रभारी शादाब शम्स भी कोरोना पॉजिटिव

उत्तराखंड भाजपा के पूर्व सह मीडिया प्रभारी और 15 सूत्रीय कार्यक्रम कार्यान्वयन...

सीएम योगी आदित्यनाथ यूपी में बनाएंगे फिल्म सिटी

बॉलीवुड में पिछले कई दिनों से मचे घमासान के बीच यूपी के...

कोरोना ने दी नए खतरे की आहट, रूप बदलकर ठीक हुए मरीजों पर दोबारा हमला कर रहा वायरस

दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों ने वैज्ञानिकों की...

देहरादून: रविवार को खुली रहेंगी आवश्यक सेवाओं की दुकानें

देहरादून में रविवार साप्ताहिक बंदी वाले बाजारों में मेडिकल स्टोर, दूध-दही आदि...

सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस पर बनेगी फिल्म, ये एक्टर निभाएंगे सुशांत का किरदार

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत को इस दुनिया से विदा हुए काफी...

Latest Updates

उत्तराखंड: भाजपा के पूर्व सह मीडिया प्रभारी शादाब शम्स भी कोरोना पॉजिटिव

उत्तराखंड भाजपा के पूर्व सह मीडिया प्रभारी और 15 सूत्रीय कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति के उपाध्यक्ष शादाब शम्स कोरोना संक्रमित पाए गए हैं....

सीएम योगी आदित्यनाथ यूपी में बनाएंगे फिल्म सिटी

बॉलीवुड में पिछले कई दिनों से मचे घमासान के बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा एलान किया है. सीएम...

चीन को संवेदनशील जानकारी पहुंचाता था फ्रीलांस पत्रकार, पुलिस ने अरेस्ट कर बरामद किए गोपनीय दस्तावेज

दिल्ली पुलिस ने अपनी शासकीय गोपनीयता कानून के तहत एक मामले के सिलसिले में एक फ्रीलांस (स्वतंत्र) पत्रकार को गिरफ्तार किया है....

अन्य खबरें

केंद्र से लेकर योगी सरकार तक युवाओं के आक्रोश पर विपक्ष की चमक रही राजनीति

केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ युवाओं और बेरोजगारों का आक्रोश अब भारी पड़ने लगा है. 'भाजपा सरकार...

अकाली दल एनडीए से अलग हुई या पंजाब चुनावों के लिए भाजपा से किया समझौता !

एनडीए का सबसे पुराना घटक दल शिरोमणि अकाली दल भाजपा सरकार के खिलाफ विरोध में उतरना सियासी पंडितों को भी समझ नहीं...

यूपी विधानसभा उपचुनाव: कांग्रेस-बसपा के चुनावी समर में उतरने से दिलचस्प होगा मुकबला

लखनऊ| यूपी के आठ विधानसभा क्षेत्रों में होंने वाले उप चुनावों में कांग्रेस ने कमेटी बनाकर तो बसपा ने उम्मीदवारों के चयन...

हरसिमरत बादल का इस्तीफा राष्ट्रपति ने स्वीकार किया, तोमर को मिला अतिरिक्त प्रभार

नई दिल्ली| शिरोमणि अकाली दल (शिअद) की नेता एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कृषि से जुड़े तीन विधेयकों...

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर का इस्तीफा

नई दिल्ली| शिरोमणी अकाली दल की नेता और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे...

कोरोना-भाभीजी के पापड़ में क्या है कनेक्शन, संजय राउत ने कसा तंज

देश में कोरोना वायरस के सिलसिले में 10 रेड जोन हैं जिसमें मुंबई भी शामिल है. इसके साथ साथ महाराष्ट्र में कोरोना...